लाइव टीवी

दिल्ली हिंसा केस में सात आरोपियों को मिली जमानत, पुलिस ने ये कहकर किया विरोध
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: March 26, 2020, 10:41 PM IST
दिल्ली हिंसा केस में सात आरोपियों को मिली जमानत, पुलिस ने ये कहकर किया विरोध
सुनवाई के दौरान पुलिस ने जमानत याचिकाओं का विरोध किया. (प्रतीकात्मक फोटो)

दिल्ली की एक अदालत ने हाल ही में संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा (Delhi Violence) के संबंध में गिरफ्तार किये गए सात आरोपियों को बृहस्पतिवार को जमानत दे दी.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली की एक अदालत ने हाल ही में संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा (Delhi Violence) के संबंध में गिरफ्तार किये गए सात आरोपियों को बृहस्पतिवार को जमानत दे दी. मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट विजयश्री राठौड़ ने मोहम्मद अकरम, शाकिर, दिलशाद, जाकिब, भूरे खान, रजी और शब्बीर को 20-20 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दी. सुनवाई के दौरान पुलिस ने जमानत याचिकाओं का यह कहते हुए विरोध किया कि मामले की जांच शुरुआती चरण में है और उनपर लगे आरोप संगीन हैं. इसपर आरोपियों की ओर से अधिवक्ता अब्दुल गफ्फार ने दलील दी कि गिरफ्तार किये गए इन सात लोगों पर लगे आरोप झूठे हैं और उन्होंने सार्वजनिक संपत्ति को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाया जैसा कि पुलिस दावा कर रही है.

24 फरवरी को भड़की थी हिंसा
बता दें, उत्तर-पूर्वी दिल्ली में 24 फरवरी को नागरिकता कानून के समर्थकों और विरोधियों के बेकाबू हो जाने के बाद सांप्रदायिक हिंसा भ़़डक गई थी, जिसमें 44 लोगों की मौत हो गई थी और लगभग 200 लोग घायल हो गए थे.

पुलिस लगातार करती रही फ्लैग मार्च



राष्ट्रीय राजधानी के सीलमपुर, बाबरपुर, जाफराबाद गोकुलपुरी और मौजपुर में इलाके में हिंसा की सबसे ज्यादा घटनाएं हुई थी. हिंसा पर लगाम लगाने के लिए इलाकों में पुलिस ने लगातार फ्लैग मार्च किया. इस घटना में कई पुलिसकर्मी घायल भी हुए थे.

अजित डोभाल ने किया था दौरा
हिंसा की इन घटनाओं के बीच एनएसए अजित डोभाल को केंद्र ने हिंसा प्रभावित इलाकों में भेजा था. इन घटनाओं के कारण कई दिनों तक आम लोगों का जनजीवन प्रभावित रहा. इस दौरान सभी सरकारी और निजी स्कूलों को बंद कर दिया गया था. साथ ही परीक्षाएं भी कैंसिल कर दी गई थी.

कई आरोपी हो चुके हैं गिरफ्तार
इस मामले में कई आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. जिसमें आप के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन का नाम भी शामिल है. इसके अलावा पुलिस ने शाहरुख नाम के एक युवक को भी गिरफ्तार किया था. दिल्ली के मौजपुर इलाके में गोली चलाने वाला आरोपी युवक शाहरुख पुलिसकर्मी पर फायरिंग करते दिखा था.

हिंसा की जानकारी मिलने के बाद मौजपुर इलाके में उपद्रवियों से निपटने के लिए दिल्ली पुलिस पहुंची थी. इस दौरान पुलिसकर्मी दीपक दहिया पर आरोपी शाहरुख ने सरेआम पिस्तौल तान दी थी. पिस्टल लिए शाहरुख का लाठी से सामना करने वाले हेड कॉन्स्टेबल दीपक दहियाकी बहादुरी की काफी चर्चा हुई थी.

ये भी पढ़ें:

Lockdown के Side Effect: रक्तदान शिविर बंद, खाली होने लगे ब्लड बैंक

DMRC का बड़ा फैसला, अब 14 अप्रैल तक नहीं चलेगी दिल्ली मेट्रो


 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 9:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर