लाइव टीवी

24 सप्ताह की प्रेग्नेंट नाबालिग रेप पीड़िता ने मांगी अबॉर्शन की इजाजत, हाईकोर्ट ने दिया ये निर्देश

भाषा
Updated: February 4, 2020, 5:35 PM IST
24 सप्ताह की प्रेग्नेंट नाबालिग रेप पीड़िता ने मांगी अबॉर्शन की इजाजत, हाईकोर्ट ने दिया ये निर्देश
दिल्ली हाईकोर्ट ने नाबालिग रेप पीड़िता के 24 हफ्ते के भ्रूण का गर्भपात कराने की अनुमति देने से पूर्व उसकी जांच के लिए मेडिकल बोर्ड के गठन करने का निर्देश दिया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने मंगलवार को बलात्कार (Rape) की नाबालिग पीड़िता को 24 हफ्ते के भ्रूण का गर्भपात (Abortion) कराने की अनुमति देने से पूर्व उसकी जांच के लिए मेडिकल बोर्ड के गठन करने का निर्देश दिया.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने मंगलवार को बलात्कार की नाबालिग पीड़िता (Minor Victim of Rape) को 24 हफ्ते के भ्रूण का गर्भपात (Abortion) कराने की अनुमति देने से पूर्व उसकी जांच के लिए मेडिकल बोर्ड के गठन करने का निर्देश दिया. न्यायमूर्ति विभु बाखरु ने राम मनोहर लोहिया अस्पताल (Ram Manohar Lohia Hospital) के चिकित्सा अधीक्षक से 16 वर्षीय लड़की की स्थिति की जांच के लिए तत्काल एक बोर्ड का गठन करने और इस विषय पर जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने को कहा है. कोर्ट ने पूछा है कि क्या गर्भावस्था जारी रखने से उसके स्वास्थ्य को किसी तरह का नुकसान हो सकता है. बोर्ड में एक मनोचिकित्सक भी होगा.

अदालत ने मामले की अगली सुनवाई छह फरवरी के लिए निर्धारित की और संबंधित डॉक्टर से सुनवाई के दौरान मौजूद रहने का निर्देश दिया. वकील अनवेष मधुकर और प्राची निरवान के जरिए दायर याचिका में कहा गया है कि गर्भावस्था लड़की को नुकसान पहुंचा सकती है क्योंकि वह खुद बहुत कम उम्र की है.

चिकित्सा गर्भपात संशोधन विधेयक को मंत्रिमंडल ने दी थी मंजूरी
केंद्रीय मंत्रिमंडल ने चिकित्सा गर्भपात संशोधन विधेयक 2020 को 29 जनवरी 2019 को मंजूरी दी थी, जिसमें गर्भपात कराने की सीमा को 20 सप्ताह से बढ़ाकर 24 सप्ताह करने का प्रावधान किया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई. गर्भपात कराने की समय सीमा बढ़ाने के लिए कोर्ट में पिछले साल याचिका दाखिल की गई थी. इसके लिए संसद के आगामी सत्र में विधेयक लाया जाएगा.

प्रकाश जावड़ेकर ने 24 हफ्ते में गर्भपात कराने को बताया सुरक्षित
बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मीडिया को बताया कि कैबिनेट ने गर्भपात कराने की अनुमति के लिए अधिकतम सीमा 20 हफ्ते से बढ़ाकर 24 हफ्ते करने की मंजूरी दे दी है. 20 हफ्ते में गर्भपात कराने पर मां की जान जाने के कई मामले सामने आए हैं, 24 हफ्ते में गर्भपात कराना सुरक्षित होगा. इस पर जावड़ेकर ने कहा कि इस कदम से बलात्कार पीड़िताओं और बलात्कार की नाबालिग पीड़िताओं को मदद मिलेगी.

ये भी पढे़ं :- शाहीन बाग प्रोटेस्ट: चप्पे-चप्पे पर दिल्ली पुलिस, पैरामिलिट्री के जवान तैनात

जामिया हिंसा: केंद्र ने HC से कहा- अहम मोड़ पर जांच, अब 29 अप्रैल को सुनवाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 3:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर