• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Covid 19: महाराष्ट्र-पटना के गुरुद्वारों में Lockdown के चलते फंसे हैं 5 हज़ार तीर्थयात्री

Covid 19: महाराष्ट्र-पटना के गुरुद्वारों में Lockdown के चलते फंसे हैं 5 हज़ार तीर्थयात्री

केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत का पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) से कहना है कि 15 अप्रैल से गेहूं की कटाई होनी है. ऐसे में इन लोगों का घरों में पंजाब (Punjab) लौटना जरूरी है.

केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत का पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) से कहना है कि 15 अप्रैल से गेहूं की कटाई होनी है. ऐसे में इन लोगों का घरों में पंजाब (Punjab) लौटना जरूरी है.

केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत का पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) से कहना है कि 15 अप्रैल से गेहूं की कटाई होनी है. ऐसे में इन लोगों का घरों में पंजाब (Punjab) लौटना जरूरी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. लॉकडाउन (Lockdown) के चलते 5 हज़ार सिक्ख तीर्थयात्री गुरुद्वारों में फंसे हुए हैं. यह जानकारी केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने एक लैटर लिखकर दी है. लैटर उन्होंने पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) को लिखा है. लैटर के मुताबिक महाराष्ट्र (Maharashtra) के नांदेड़ और पटना के पटना साहिब (Patna Sahib) गुरुद्वारों में तीर्थयात्री फंसे हुए हैं. उन्हें वहां तीन हफ्ते से ज़्यादा का वक्त हो चुका है. बच्चे, जवान और बुजुर्ग सभी लोग गुरुद्वारों में फंसे हुए हैं. केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत का कहना है कि 15 अप्रैल से गेहूं की कटाई होनी है. ऐसे में इन लोगों का घरों में पंजाब लौटना जरूरी है.

3 हफ्ते का क्वारांटाइन कर चुके हैं पूरा

केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत का कहना है कि गुरुद्वारों में फंसे सभी तीर्थयात्री 3 हफ्ते का क्वारांटाइन पूरा कर चुके हैं. सभी लोग स्वस्थ्य हैं. अभी हाल ही में उनकी मेडिकल स्क्रीनिंग भी हो चुकी है. उनमे कोरोना वायरस का कोई लक्षण नहीं पाया गया है. उन्होंने पीएम से मांग करते हुए कहा है कि रेलवे को चाहिए कि वह नांदेड़ से पंजाब के लिए एक स्पेशल ट्रेन चलाए. नांदेड़ में करीब 3 हज़ार तो पटना साहिब में लगभग 2 हज़ार तीर्थयात्री मौजूद हैं.

केरल में ऐसे ठीक हो रहे हैं कोरोना पॉजिटिव

केरल में रविवार को सिर्फ 2 नए मरीज सामने आए. 24 घंटे में 36 मरीज ठीक भी हुए हैं. इस बात की जानकारी केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने दी. उन्होंने बताया कि अब राज्य में कुल 194 पॉजिटिव मामले हैं. वहीं, यहां अभी तक कुल 179 कोरोना मरीज ठीक हो चुके हैं.

केरल में कोरोना संक्रमितों के ठीक होने की दर दूसरे राज्यों के मुकाबले इसलिए भी ज्यादा है, क्योंकि यहां टेस्टिंग ज्यादा हो रही है. यहां कोरोना के कुल 375 मामलों में से लगभग 48 प्रतिशत यानी 179 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं.

ट्रेसिंग, प्लानिंग और ट्रेनिंग मॉ़डल ने दिलाई जीत

राज्य की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा खुद बताती हैं कि कोविड-19 हो या कोई अन्य बीमारी, हम अच्छी योजना बनाकर और उस पर अमल करके ही उसका मुकाबला कर सकते हैं. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने और मरीजों की पहचान के लिए राज्य सरकार ने ट्रेसिंग, प्लानिंग और ट्रेनिंग पर तेजी से काम किया. यही फॉर्मूला केरल ने निपाह और इबोला वायरस के मामले में भी अपनाया था.

ये भी पढ़ें-

Covid 19: जानिए कोरोना हॉटस्पॉट सील होने पर आपको घर बैठे कैसे मिलेंगी सुविधाएं

Lockdown: चोटिल जूनियर छात्र को खुद रिक्शा चलाकर अस्पताल ले गया सीनियर

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज