AIIMS का अलर्ट: खतरनाक हो सकती है कोरोना की सेकंड वेव, फेस्टिव सीजन में रहें सावधान

एम्स ने कोरोना को  लेकर सावधानी बरतने की बात कही है.
एम्स ने कोरोना को लेकर सावधानी बरतने की बात कही है.

एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया का कहना है कि मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को नियमों का खास ख्याल रखने की जरूरत है. लापरवाही से कोरोना (COVID-19) के मामले बढ़ सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 6:49 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एम्स (AIIMS) ने कोरोना (COVID-19) की दूसरी लहर को लेकर फिर एक बार लोगो को सावधान रहने की सलाह दी है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में फिर एक बार कोरोना वायरस के केस तेजी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में कोरोना के तीसरे वेव की चर्चा भी हो रही है.हालांकि, एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने तीसरे लेहर की चर्चा से साफ इनकार कर दिया है. एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में डॉ. गुलेरिया ने कोरोना की तीसरी लहर से साफ इनकार करते हुए कहा कि फिलहाल दूसरी लहर ही है. कोरोना सेकंड वेव तेज हो गई है. डॉ. गुलेरिया का मानना है कि सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की अनदेखी करना और मास्क नहीं लगने से ये स्थिति पैदा हुई है. लापरवाही से केस बढ़ रहे हैं.

डॉ. रणदीप गुलेरिया का कहना है कि मौसम और प्रदूषण की वजह से भी कोरोना के मामलों में इजाफा हो रहा है. उनका कहना है कि प्रदूषण के कारण कोरोना वायरस ज्यादा देर तक हवा में रहता है. ये सीधे फेफड़ों को नुकसान पहुचाते है. प्रदूषण से भी ये ही होता है. उनका कहना है कि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है. लोगों को मास्क जरूर लगाना चाहिए. लापरवाही करने से मामले और बढ़ सकते हैं.

कोरोना वैक्सीन को लेकर कही ये बात



कोरोना वैक्सीन को लेकर डॉ. गुलेरिया ने कहा कि उम्मीद है कि कुछ नई दवाएं आए है जो वायरस को कंट्रोल कर सके. वैक्सीन आने से कोरोना के मामले कम होंगे. फिलहाल, लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क जैसी जरूरी बातों को ध्यान में रखना चाहिए. डॉ. गुलेरिया ने कहा कि फिलहाल प्रदूषण और कोरोना, दोनों की चुनौती हमारे सामने है. इसलिए बेहद जरूरी है कि हम सभी नियमों का पालन करें ताकि केस में कंट्रोल किया जा सके. अगर दिवाली तक मामले कम होते हैं तो माना जा सकता है कि कोरोना की पीक खत्म हो गया है.
ये भी पढ़ें: अब तेजस्वी यादव की सुरक्षा होगी पुख्ता, निर्वाचन आयोग ने अधिकारियों को दिए निर्देश

लापरवाही से बढ़ सकते हैं मामले

एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया का कहना है कि त्योहारों के सीजन में लोगों को खास सावधानी बरतनी चाहिए. उन्होंने कहा कि जिन्हें माइल्ड इंफेक्शन है उन्हें फिर से वायरस का संक्रमण हो सकता है. इस वायरस की वजह से इम्यूनिटी कम होने लगती है. इस वजह से संक्रमण का खतरा बना रहता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज