दिल्ली में लॉकडाउन के दौरान अनोखी शादी, पुलिस जिप्सी में हुई दुल्हन की विदाई
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली में लॉकडाउन के दौरान अनोखी शादी, पुलिस जिप्सी में हुई दुल्हन की विदाई
दिल्ली में पुलिस जिप्सी में हुई दुल्हन की विदाई (फाइल फोटो)

कालकाजी SHO ने दुल्हन की विदाई के लिये पुलिस की जिप्सी का प्रबंध करवाया और इसी में बैठकर दुल्हन अपने ससुराल गई. इस अनोखी विदाई के बाद दूल्हा-दुल्हन दोनों ने पुलिस को धन्यवाद किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2020, 10:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लॉकडाउन (Lockdown) में जहां सभी जगह लोगों ने अपनी-अपनी शादी (Marriage) पोस्टपोन कर रहे हैं, तो वहीं दिल्ली में एक जोड़ा ऐसा भी था जिसने अपनी शादी पोस्टपोन करवाने की बजाय बेहद सादगी से की. लेकिन इस शादी की खास बात थी दुल्हन की विदाई. जी हां, दुल्हन की विदाई दुल्हे की कार में नहीं, बल्कि पुलिस की जिप्सी में हुई. इसके लिये लड़के के पिता ने ही पुलिस वालों से मदद मांगी थी.

दरअसल, दिल्ली स्थित कालकाजी के रहने वाले कौशल और पूजा ने लॉकडाउन के दौरान ही सादगी से शादी कर ली. शादी आर्य समाज मंदिर में हुई. यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा गया. शादी में काफी गिने चुने लोगों को ही बुलाया गया था. लेकिन जब विदाई होने लगी तो उस समय वहां से जाने में काफी दिक्कत आ रही थी, जिसके लिये दुल्हे के पिता ने पुलिस ने मदद मांगी. पुलिस ने भी इस खुशी के मौके पर उनकी परेशानी समझते हुए उनकी मदद की. कालकाजी एसएचओ ने दुल्हन की विदाई के लिये पुलिस की जिप्सी का प्रबंध करवाया और इसी में बैठकर दुल्हन अपने ससुराल गई. इस अनोखी विदाई के बाद दूल्हा-दुल्हन ने पुलिस को धन्यवाद किया.

चंदौली में भी हुई ऐसी अनोखी शादी
ऐसी ही एक अनोखी शादी कुछ दिन पहले, पूर्वी उत्तर प्रदेश के चंदौली के एक पुलिस थाने में भी संपन्न हुई. ये पूरा मामला पूर्वी उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले के धीना थाने का है. जहां दूल्हे ने मास्क लगाकर तो वहीं घूंघट में दुल्हन ने शादी की. इस शादी में फेरे कराने वाले पंडित ने भी मास्क लगाकर रस्में संपन्न कराईं. लॉकडाउन के चलते यह शादी किसी मैरिज लॉन या घर में न होकर थाने में स्थित मंदिर में हुई.
लॉकडाउन के कारण टली शादी


दरअसल, चंदौली जिले के महुजीगांव के रहने वाले अनिल यादव की शादी गाजीपुर जिले के कालूपुर गांव के रहने वाली ज्योति नाम की युवती से तय हुई थी. उनकी शादी की तारीख 20 अप्रैल को निश्चित थी लेकिन इसी बीच कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए मार्च में ही लॉकडाउन की घोषणा हो गई. अनिल और उनके परिजनों ने सोचा कि लॉकडाउन तो 14 अप्रैल को खत्म हो जाएगा. इसके बाद 20 अप्रैल को शादी संपन्न हो जाएगी. लेकिन इसी दौरान लॉकडाउन का दूसरा फेज भी लागू हो गया. बाद में उन्होंने पुलिस से अनुमति मांग कर थाने स्थित मंदिर में ही शादी कर ली.

ये भी पढ़ें: COVID-19: दिल्ली में लॉकडाउन के बीच गुजरा पहला रोजा, बंद रहीं मस्जिदें और बाजारों में सूनसान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज