Covid-19: ​दिल्ली में 10 फीसदी से नीचे आए कोरोना एक्टिव केस, लेकिन अब भी ये चुनौती
Delhi-Ncr News in Hindi

Covid-19: ​दिल्ली में 10 फीसदी से नीचे आए कोरोना एक्टिव केस, लेकिन अब भी ये चुनौती
दिल्ली में कोरोना के मरीज तेजी से ठीक हो रहे हैं. सांकेतिक फोटो.

देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण में सुधार हो रहा है. दिल्ली में कोविड (Covid)-19 एक्टिव मामले अब 10 फीसदी से नीचे पंहुच गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 26, 2020, 12:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण में सुधार हो रहा है. दिल्ली में कोविड (Covid)-19 एक्टिव मामले अब 10 फीसदी से नीचे पंहुच गए हैं. दिल्ली में 12657 एक्टिव केस हैं. जबकि कुल 129531 हैं. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि ये राहत की बात है, परंतु सतर्क रहने की ज़रूरत है. मास्क लगाकर ही बाहर निकलना चाहिए. इसकी आदत लोगों को बिल्कुल भी नहीं छोड़ना है. हाथ धोते रहना है. सोशल डिस्टेंसिग रखनी है. अगर हम केयर नहीं करेंगे तो इससे बचाव मुश्किल है.

मंत्री सतेंद्र जैन ने सरकार की कोशिशों के बारे में कहा कि 'हमने बहुत एफर्ट्स लगाए हैं. होम आइसोलेशन ठीक तरीके से मैनेज किया. होम आइसोलेशन के मरीज़ को पल्स ऑक्ससी मीटर दिए गए. पल्स ऑक्सीमीटर बड़ी चीज थी. हमने कहा ऑक्सीजन 93 या उससे कम आये तो तुरंत अस्पताल चले जाओ. अस्पतालों में हमने बेड्स का इंतज़ाम किया. दिल्ली सिर्फ 18 फीसदी बेड्स भरे हुए हैं बाक़ी खाली हैं. लोगों को तसल्ली हुई है कि घर पर रहूंगा. तबीयत खराब हुई तो अस्पताल चला जाऊंगा. आप(मीडिया) लोगों ने जो क्रिटिसाइज किया उसे पॉजिटिव लेकर उसे ठीक किया'.

क्रेडिट लेने की होड़
दिल्ली में हालात सुधार होने पर अब क्रेडिट लेने की होड़ लग गई है इस बारे में जब मंत्री सत्येंद्र जैन से यह पूछा गया कि बीजेपी के नेता क्रेडिट ले रहे हैं और कह रहे हैं कि गृह मंत्री अमित शाह के मोर्चा संभालने के बाद हालात में सुधार आया है. इस पर जैन ने कहा कि क्रेडिट कोई भी ले इससे क्या फर्क़ पड़ता है. क्रेडिट कोई भी ले बस दिल्ली ठीक हो जाए.
ये भी पढ़ें: सांपों का 'खास दोस्त' है बस्तर पुलिस का ये जवान, हाथ के इशारों पर नाचते हैं जहरीले नाग!



मंत्री सतेंद्र जैन ने इन सवालों का दिया जवाब
मंत्री ने कहा कि एंटीजन में जो पॉजिटिव है वो पॉजिटिव है। फाल्स पॉजिटिव नहीं आते, जो नेगेटिव और लक्षण हैं उनका rtpcr किया जाता है. कंटेनमेंट जोन पर उन्होंने कहा कि कन्टेनमेंट ज़ोन रूल के हिसाब से बढ़ रहे हैं. जहां भी 2-3 केस होते हैं कन्टेनमेंट ज़ोन बता दिया जाता है. मंत्री ने कहा कि हम पूरी कोशिश कर रहे हैं, जो एडमिट हैं 10-15 दिन हो गए उनमें से भी मौत हो रही है. ज़रूरी नहीं सारी मौत नए केसों की हो रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading