Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली में कोरोनाः सरकार और हॉस्पिटल के मौत के आंकड़ों में भारी अंतर, रिपोर्ट

दिल्ली में कोरोनाः सरकार और हॉस्पिटल के मौत के आंकड़ों में भारी अंतर, रिपोर्ट

कोरोना से मौत के आंकड़ों में यह अंतर, कई सवाल खड़े करते हैं.

कोरोना से मौत के आंकड़ों में यह अंतर, कई सवाल खड़े करते हैं.

दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Covid-19) की रोकथाम और इस महामारी से पीड़ित लोगों या मौत के आंकड़ों (Number of Death) को लेकर अब एक गड़बड़ी सामने आई है.

    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Covid-19) के संक्रमण और लॉकडाउन (Lockdown) के बीच देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में अब तक बीमारी से पीड़ित 68 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं बीमारी से पीड़ित लोगों की संख्या 6318 पर पहुंच गई है. कोरोना वायरस की रोकथाम और इस महामारी से पीड़ित लोगों या मौत के आंकड़ों को लेकर अब एक गड़बड़ी सामने आई है. दरअसल, सरकार की बताई संख्या के उलट, दिल्ली के अस्पतालों में कोरोना पीड़ितों के मौत के आंकड़े कुछ और ही कहानी कहते हैं. दिल्ली में गुरुवार रात तक सरकार ने कोरोना से 66 मौतों की पुष्टि की थी, लेकिन लोकनायक जयप्रकाश हॉस्पिटल, लेडी हार्डिंग, राममनोहर लोहिया और एम्स में हुई मौत के आंकड़ों पर गौर करें तो यह संख्या 116 होती है. कोरोना से मौत के आंकड़ों में यह अंतर, कई सवाल खड़े करते हैं.

    अस्पताल और सरकारी आंकड़े में फर्क
    इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, राममनोहर लोहिया अस्पताल में कोरोना पॉजिटिव मौत की संख्या 52 बताई गई है. वहीं दिल्ली सरकार के हेल्थ बुलेटिन में इस अस्पताल में कोरोना से मरने वालों की संख्या गुरुवार रात तक 26 कही गई थी. आंकड़ों में अंतर के सवाल पर RML अस्पताल की मेडिकल सुप्रिंटेडेंट डॉ. मीनाक्षी भारद्वाज ने अखबार से कहा कि हम नियमित रूप से दिल्ली सरकार को डेटा देते हैं, फिर पता नहीं क्यों सही आंकड़े नहीं पेश किए जाते. अस्पताल की ओर से कई बार इस गलती के बारे में बताया भी गया, लेकिन इसे ठीक नहीं किया गया.

    एम्स दिल्ली और झज्जर के आंकड़ों में भी अंतर!
    अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) दिल्ली और झज्जर कैंपस द्वारा दिए गए आंकड़ों में भी ऐसा ही अंतर देखने को मिला है. एम्स दिल्ली और झज्जर की रिपोर्ट के मुताबक अब तक इस हॉस्पिटल में 14 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो चुकी है, लेकिन दिल्ली सरकार के आंकड़ों में ये संख्या अब भी सिर्फ 2 है. एम्स के मेडिकल सुप्रिंटेंडेंट डॉ. डीके शर्मा ने इस बारे में बताया कि एम्स की तरफ से नियमित रूप से दिल्ली सरकार को आंकड़ों के बारे में जानकारी दी जाती है. डॉ. शर्मा ने अखबार से बातचीत में कहा कि संभवतः सरकार को लगता है कि झज्जर एम्स का डेटा, दिल्ली का नहीं है. जबकि हकीकत यह है कि यह दिल्ली एम्स का ही कैंपस है, इसलिए दोनों आंकड़े एक ही हैं.

    LNJP में हुई 47 मौतें, लेकिन...
    लोकनायक जयप्रकाश हॉस्पिटल के आंकड़ों में भी ऐसा ही अंतर देखने को मिला है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. जेसी पासी ने बताया कि इस LNJP में अभी तक 47 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो चुकी है, लेकिन दिल्ली सरकार ने अब भी यहां सिर्फ 5 मौतों की ही पुष्टि की है. सबसे ज्यादा हैरान करने वाला मामला लेडी हार्डिंग अस्पताल का है. दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक इस हॉस्पिटल में अभी तक किसी भी कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत नहीं हुई है. लेकिन अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. एनएन माथुर के मुताबिक पिछले महीने इस अस्पताल में कोरोना संक्रमित 3 मरीजों की मौत हुई थी.

    दिल्ली सरकार के प्रवक्ता बोले- गलती की गुंजाइश नहीं
    अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली सरकार के प्रवक्ता से जब कोरोना से मौत के आंकड़ों में अंतर को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने ऐसे किसी तथ्य से साफ इनकार कर दिया. प्रवक्ता ने अखबार से बातचीत में कहा कि डॉक्टरों की एक कमेटी दिल्ली के अस्पतालों में कोरोना से होने वाली मौतों की जांच करती है. इसके आधार पर ही आंकड़े जारी किए जाते हैं. इसलिए दिल्ली सरकार के आंकड़ों में गलती होने की कोई गुंजाइश नहीं है. हर तथ्य की जांच-पड़ताल के बाद ही उसे सार्वजनिक किया जा रहा है.



    ये भी पढ़ें: 

    Covid-19: दिल्ली के हिंदू राव अस्पताल के तीन और डॉक्टर मिले कोरोना पॉजिटिव

    Tags: Corona disaster, Coronavirus Cases In India, Covid19, Delhi Government, Delhi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर