लॉकडाउन से प्रभावित ऑटो-टैक्सी चालकों को 5000 रुपए की मदद देगी दिल्ली सरकार, कैबिनेट ने दी मंजूरी

यह स्थानीय निकाय द्वारा मृत्यु सत्यापन पर आधारित होग. (सांकेतिक फोटो)

यह स्थानीय निकाय द्वारा मृत्यु सत्यापन पर आधारित होग. (सांकेतिक फोटो)

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की घोषणा पर अमल करते हुए दिल्ली सरकार की कैबिनेट ने सार्वजनिक बैज धारकों को कोरोना लॉकडाउन के मद्देनजर 5-5000 रुपए की सहायता देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली मंत्रिमंडल (Delhi cabinet) ने कोरोना वायरस की दूसरी लहर और लॉकडाउन (Lockdown) से प्रभावित पारा-ट्रांजिट वाहनों के सार्वजनिक सेवा बैज धारकों (चालकों) को पांच-पांच हजार रुपये की आर्थिक मदद देने के प्रस्ताव को शुक्रवार को मंजूरी दे दी. दिल्ली के परिवहन विभाग ने एक बयान में बताया कि वर्ष 2020 के लाभार्थियों को फिर से आवेदन नहीं करना होगा और उनके आधार से जुड़े खाते में सीधे 5000 रुपये आ जाएंगे. हालांकि, यह स्थानीय निकाय द्वारा मृत्यु सत्यापन पर आधारित होगा.

बयान में कहा गया, ‘‘दिल्ली कैबिनेट ने आज पारा ट्रांजिट वाहनों के सार्वजनिक सेवा बैज धारकों (चालकों) और परमिट धारकों को कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर और उसके बाद कर्फ्यू से प्रभावित होने का संज्ञान लेते हुए पांच-पांच हजार रुपए की आर्थिक मदद को मंजूरी दी है जिसकी घोषणा दिल्ली सरकार ने की थी.’’ बयान में बताया गया कि 4 मई को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सार्वजनिक सेवा बैज धारकों को पांच-पांच हजार रुपये की एकमुश्त मदद देने की घोषणा की थी. इससे ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा, टैक्सी, फटाफट सेवा, पर्यावरण अनुकुल सेवा, ग्रामीण सेवा और मैक्सी कैब के चालक लाभांवित होंगे.

कोरोना से बचने के लिए जितने भी उपाय है सभी अपनाएं

वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने राज्य में काेरोना मामलों को लेकर शुक्रवार को मीडिया से चर्चा की. साथ ही कोरोना से मृत लोगों को लेकर बड़ा ऐलान भी किया. सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में संक्रमण दर घटकर 12 फीसदी पर पहुंच गई है. पिछले 10 दिनों में दिल्ली में 10 हजार बेड खाली हो गए है.आइसीयू के बेड भरे हुए हैं. यानी गंभीर स्थिति वाले मरीजों की संख्या बनी हुई है. दिल्ली में जो कोरोना के मामले कम हो रहे है उसमें लॉकडाउन की भूमिका रही. दिल्ली वासियों के अनुशासनत्मक तरीके से हो पाई है. सीएम केजरीवाल ने कहा कि अगर हम ढीले पड़ गए तो कोरोना फिर से आ सकता है. कोरोना से बचने के लिए जितने भी उपाय है सभी अपनाएं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज