Lockdown 2.0: टोल टैक्‍स की वसूली शुरू, डॉक्टर बोले- हम जैसे कोरोना वॉरियर्स को छूट दे सरकार
Delhi-Ncr News in Hindi

Lockdown 2.0: टोल टैक्‍स की वसूली शुरू, डॉक्टर बोले- हम जैसे कोरोना वॉरियर्स को छूट दे सरकार
Eastern Peripheral Expressway.

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे (Eastern Peripheral Expressway) पर मानेसर टोल से गुजर रहे जोधपुर एम्स (AIIMS) के डॉक्टरों ने मौजूदा वक्त में इमरर्जेंसी सेवाओं में लगे लोगों से टोल न लिए जाने की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2020, 10:10 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान देशभर में सोमवार से टोल टैक्स (Toll Tax) वसूली शुरू हो गई है. 25 मार्च से टोल टैक्स की वसूली पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन 20 अप्रैल को रात 12 बजे से हर आने-जाने वाली गाड़ी से टोल टैक्स लिया जा रहा है. पहले के नियमों के तहत ही टोल लिया जा रहा है. लॉकडाउन के चलते कोई रियायत नहीं दी गई है. वहीं, ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे (Eastern Peripheral Expressway) पर मानेसर टोल से गुजर रहे जोधपुर एम्स के डॉक्टरों ने मौजूदा वक्त में इमरर्जेंसी सेवाओं में लगे लोगों से टोल न लिए जाने की मांग की है. न्यूज18 इंडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि वे लोग कोरोना वायरस से बचाव की लड़ाई में लगे हुए हैं, लिहाजा उनसे टोल टैक्‍स न वसूला जाए.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल की नर्सिंग अधिकारी ने रविवार को प्रबंधन पर कई आरोप लगाए. उन्होंने कहा, ‘हम अभी गुजरात सदन में ठहरे हुए हैं, लेकिन अब हालत खराब हो गई है. एक छात्रावास में 17 लड़कियां रहती हैं. केवल दो शौचालय हैं. स्नान के लिए हम जेट पाइपों का इस्तेमाल कर रहे हैं, क्योंकि वहां बाथरूम नहीं है. नर्सिंग अधिकारी ने आरोप लगाया कि, कोविड 19 नर्सिंग स्टाफ के रूप में तैनात होने के बाद भी, हमें 3-4 दिनों के बाद आवास प्रदान किया गया. आवास केंद्र में स्वच्छता बनाए रखने की कोई व्यवस्था नहीं है. प्रतिदिन कचरा नहीं हटाया जाता है. कोई अपशिष्ट प्रबंधन प्रणाली नहीं है.

'अस्पताल तक आने के लिए केवल एक बस'
उन्होंने आरोप लगाया कि, ‘कोविड-19 (COVID-19) में हम अपनी ड्यूटी पूरा करने के लिए घर नहीं जा रहे हैं, लेकिन यहां हमें भोजन भी नहीं मिल रहा है. हमारे सहकर्मी ड्यूटी के दौरान बेहोश हो चुके हैं क्योंकि हमें उचित भोजन नहीं मिलता है.’ आवास केंद्र से अस्पताल तक आने के लिए सभी नर्सों के लिए केवल एक बस की व्यवस्था है.



ये भी पढ़ें-

मौलाना साद के अकाउंट आने लगा था बड़ा विदेशी चंदा, अब मरकज का हवाला कनेक्‍शन खंगाल रही क्राइम ब्रांच

Covid 19: मौलाना साद की अब तक गिरफ्तारी न होने के पीछे दिल्‍ली पुलिस ने बताई यह वजह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज