COVID-19 Effect: केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, अगले आदेश तक दिल्ली के सभी स्कूल बंद

दिल्ली के  सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश.
(प्रतीकात्मक फोटो)

दिल्ली के सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश. (प्रतीकात्मक फोटो)

School Close in Delhi: कोरोना के बढ़त मामलों के बाद दिल्ली सरकार ने अगले आदेश तक  सभी स्कूल (सरकारी, प्राइवेट सहित), सभी क्लासेस को बंद करने का फैसला लिया है

  • Share this:
दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना (COVID-19) के बढ़ते मामलों के बाद सरकार ने एक अहम फैसला लिया है. एहतियात के तौर पर  दिल्ली में सभी स्कूल (सरकारी, प्राइवेट सहित), सभी क्लासेज के लिए को अगले आदेश तक बंद किया जा रहा है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है. इधर, दिल्ली में सोमवार से शुरू छठा सीरो सर्वे का काम शुरू हो सकता है. छठे सर्वे में 272 वार्ड में 28 हजार सैंपल लिए जाएंगे. हर वार्ड से 100 लोगों के सैंपल कलेक्ट करने की योजना है. इस सर्वे में सिर्फ वो लोग शामिल होंगे जिन्हें वैक्सीन लग चुकी है.

इससे पहले जनवरी में पांचवें सीरो सर्वे किया गया था. इसमें आया था कि दिल्ली की आधी से ज़्यादा आबादी कोरोना संक्रमित हो चुकी थी. पांचवा सर्वे 15 जनवरी से 23 जनवरी के बीच कराया गया था. इसमें कुल 28000 लोगों के सैंपल लिए गए थे. सर्वे में 56.13फीसदी लोगों में कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडी पाई गई थी.

एम्स में भी बढ़ा खतरा

सूत्रों की मानें तो दिल्ली एम्स  के 35 डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव ( मिले हैं, कहा जा रहा है कि पिछले एक हफ्ते में सभी संक्रमित हुए हैं. इसमें जूनियर, सीनियर, स्पेशलिस्ट तमाम डॉक्टर्स शामिल हैं. ज्यादाततर को माइल्ड सिमटम बताया जा रहा है. कुछ डॉक्टों को अस्पताल में भर्ती कर दिया गया है. कोरोना पॉजिटिव आए ज्यादातर डॉत्टरों ने कोरोना की पहली या दूसरी डोज लगवा चुकी थी. डॉक्टरों समेत 50 ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों के संक्रमित होने की भी खबर मिल रही है. इसमें 15 हड्डी विभाग के बताए जा रहे हैं. हालांकि इस बारे में आधिकारिक रूप से कोई जानकारी नहीं दी गई है.
ये भी पढ़ें: दिल्ली AIIMS के 35 डॉक्टर मिले कोरोना पॉजिटिव! कई लगवा चुके थे वैक्सीन की दोनों डोज 

कोरोना की वजह से हुआ था बड़ा फैसला

दिल्‍ली में बढ़ते कोरोना ) मरीजों को देखते हुए देश के सबसे बड़े अस्‍पताल ऑल इंडिया इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज ने आठ अप्रैल से ओपीडी सेवाएं सीमित करने का फैसला किया था. इसके तुरंत बाद अब 10 अप्रैल से यहां जनरल ओटी  की सेवाओं में भी कटौती की जा रही है. जिससे इलाज का इंतजार कर रहे हजारों मरीजों को इलाज के लिए लंबा इंतजार करना पड़ेगा. पिछले साल कोरोना महामारी और एम्‍स के एक हिस्‍से को कोविड स्‍पेशल  बनाए जाने के बाद मरीजों को इलाज में भारी परेशानी आई थी. लगभग वहीं हालात एक बार फिर पैदा हो गए हैं. दिल्‍ली में कोरोना के मरीजों की संख्‍या बढ़ने के कारण एम्‍स में ओपीडी और जनरल ओटी की सेवाओं को सीमित कर दिया गया है. जिससे ऑपरेशन की तारीख लेकर बैठे लोगों को भारी दिक्‍कतें झेलनी पड़ेंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज