COVID-19: जल्द ही होम्योपैथ की दवा से भी होगा इलाज संभव, 80% ट्रायल पूरा
Delhi-Ncr News in Hindi

COVID-19: जल्द ही होम्योपैथ की दवा से भी होगा इलाज संभव, 80% ट्रायल पूरा
कोरोना वायरस की अभी तक नहीं बनी है वैक्सीन (सांकेतिक तस्वीर)

एलोपैथ और होम्योपैथी दवा साथ में देने से क्या रिकवरी रेट तेजी से बढ़ रहा है ? या ऐसे लोगों में लक्षण कम पाए जा रहे हैं ? हालांकि यह जो ट्रायल है यह 80 प्रतिशत लोगों पर अब तक किया जा चुका है और इन 80 लोगों में 40 ऐसे लोग हैं जिनको एलोपैथ दवा दी गई है और 40 ऐसे लोग हैं जिनको एलोपैथ के साथ मिलाकर होम्योपैथ की दवा साथ में दी जा रही है

  • Share this:
नई दिल्ली. वैश्विक महामारी COVID-19 के संक्रमण से पूरा विश्व जूझ रहा है. भारत समेत पूरी दुनिया इस वायरस की वैक्सीन आने का बेसब्री से इंतजार कर रही है कि जल्दी से कोरोना वायरस (Coronavirus Pandemic) की दवा या वैक्सीन बनकर तैयार हो जाए जिससे कि इस महामारी से लोगों को लोगों को छुटकारा मिल सके. लेकिन अभी तक इसकी कोई भी दवा नहीं बनी है.

होम्योपैथ के भी ट्रायल किये गए
भारत में भी COVID-19 की दवा खोजने का काम तेजी पर है लेकिन अभी तक इसमें कोई सफलता किसी को हाथ नहीं लगी है. एलोपैथ और आयुर्वेद सभी में काफी तेजी से रिसर्च किया जा रहा है. लेकिन होम्योपैथी की अगर हम बात करें तो होम्योपैथी भी काफी तेजी से इसको लेकर अपनी रिसर्च में जुटा हुआ है. COVID-19 से पीड़ित लोगों पर होम्योपैथ के भी ट्रायल किये गए हैं. इस ट्रायल में मरीजों को एलोपैथी दवा के साथ-साथ होम्योपैथ की दवा दी जा रही है और यह देखा जा रहा है कि एलोपैथ की दवा देने के क्या नतीजे सामने आते हैं.

एलोपैथ और होम्योपैथी दवा साथ में देने से क्या रिकवरी रेट तेजी से बढ़ रहा है ? या ऐसे लोगों में लक्षण कम पाए जा रहे हैं ? हालांकि यह जो ट्रायल है यह 80 प्रतिशत लोगों पर अब तक किया जा चुका है और इन 80 लोगों में 40 ऐसे लोग हैं जिनको एलोपैथ दवा दी गई है और 40 ऐसे लोग हैं जिनको एलोपैथ के साथ मिलाकर होम्योपैथ की दवा साथ में दी जा रही है. हालांकि होम्योपैथ डिपार्टमेंट अपना यह सर्वे जल्द ही आयुष मंत्रालय को सौंप देगा लेकिन उसके फाइनल नतीजे अभी नहीं आए हैं. अगर यह रिसर्च सक्सेसफुल होती है तो इससे लोगों को काफी फायदा होगा हालांकि डॉक्टर का कहना है कि जिन लोगों को एलोपैथ के साथ-साथ होम्योपैथ की दवा दी जा रही है उनकी रिकवरी रेट तेज़ है और ऐसे लोगों को covid-19 के लक्षण भी कम आ रहे हैं. डॉक्टर का कहना है कि यह हमारे देश के लिए अच्छा है कि अगर एलोपैथ के साथ-साथ होम्योपैथ की दवा साथ में दी जाती है तो इससे लोगों को फायदा होने के चांसेज काफी हैं.
ये भी पढ़ें- COVID-19: कोर्ट ने रैपिड एंटिजन टेस्ट की अनुमति प्राइवेट अस्पतालों को न मिलने पर ICMR काे लगाई फटकार



यह ट्रायल 100 लोगों पर किया जाना है
यह ट्रायल अभी 100 लोगों पर किया जाना है फिलहाल 80 लोगों पर इसका ट्रायल किया गया है. जबकि 20 लोगों पर यह ट्रायल होना बाकी है. उम्मीद है कि 15 जुलाई तक होम्योपैथी विभाग आयुष मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंप देगा. उसके आधार पर आगे यह फैसला लिया जाएगा कि मरीजों को एलोपैथ के साथ-साथ होम्योपैथी की दवा दी जानी है या नहीं. लेकिन जो भी नतीजे आए हैं उनसे यह बिल्कुल साफ है कि जिन लोगों को एलोपैथ के साथ होम्योपैथी दवा दी गई है उनके परिणाम सकारात्मक है व रिकवरी रेट भी अधिक है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज