होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

Covid 19 in Delhi: कोरोना के ख‍िलाफ सुरक्षा कवच बना 'बूस्‍टर डोज', संक्रमण की चपेट में आए स‍िर्फ 10 फीसदी

Covid 19 in Delhi: कोरोना के ख‍िलाफ सुरक्षा कवच बना 'बूस्‍टर डोज', संक्रमण की चपेट में आए स‍िर्फ 10 फीसदी

द‍िल्‍ली में मात्र 10 फीसदी मामले ही बूस्‍टर डोज ले चुके मरीजों के र‍िकॉर्ड क‍िए गए हैं जबक‍ि 90 फीसदी मामले दो डोज लेने वालों के दर्ज क‍िए गए हैं.

द‍िल्‍ली में मात्र 10 फीसदी मामले ही बूस्‍टर डोज ले चुके मरीजों के र‍िकॉर्ड क‍िए गए हैं जबक‍ि 90 फीसदी मामले दो डोज लेने वालों के दर्ज क‍िए गए हैं.

Covid 19 in Delhi: स्‍वास्‍थ्‍य व‍िभाग के आंकड़ों में राहत भरी खबर आई है क‍ि जो लोग कोविड-19 वैक्सीन की प्रीकॉशनरी (बूस्टर) डोज लगवा चुके हैं वो इसकी चपेट में आने से बच जा रहे हैं. मात्र 10 फीसदी मामले ही बूस्‍टर डोज ले चुके मरीजों के र‍िकॉर्ड क‍िए गए हैं जबक‍ि 90 फीसदी मामले दो डोज लेने वालों के दर्ज क‍िए गए हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. द‍िल्‍ली में कोरोना संक्रम‍ित मरीजों का आंकड़ा एक बार फ‍िर तेजी से बढ़ रहा है. इसकी रोकथाम में ल‍िए द‍िल्ली सरकार ने अब घर से न‍िकलने और सार्वजन‍िक जगहों पर मास्‍क लगाने की अन‍िवार्यता को फ‍िर लागू कर द‍िया है. स्‍वास्‍थ्‍य व‍िभाग के आंकड़ों में राहत भरी खबर यह आई है क‍ि जो लोग कोविड-19 वैक्सीन की प्रीकॉशनरी (बूस्टर) डोज लगवा चुके हैं वो इसकी चपेट में आने से बच जा रहे हैं. मात्र 10 फीसदी मामले ही बूस्‍टर डोज ले चुके मरीजों के र‍िकॉर्ड क‍िए गए हैं जबक‍ि 90 फीसदी मामले दो डोज लेने वालों के दर्ज क‍िए गए हैं.

द‍िल्‍ली ड‍िप्‍टी सीएम एवं स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मनीष स‍िसोद‍िया का कहना है क‍ि राजधानी दिल्ली में अब कोरोना वायरस के मामलों में कमी देखने को मिली है. दो सप्ताह पहले जहां पॉजिटीविटी रेट 16 से 17 फीसद था, वहीं अब यह घटकर 10 से 12 फीसद है. खास बात यह है कि कोविड-19 वैक्सीन की प्रीकॉशनरी (बूस्टर) डोज लगाने वाले लोगों में वायरस का संक्रमण अन्य लोगों की तुलना में कम है.

कोरोना के नए मामलों में 41 फीसदी की गिरावट, लेकिन दिल्ली सहित इन 7 राज्यों ने बढ़ाई केंद्र की चिंता

अस्पताल में भर्ती होने वाले 90 फीसद कोरोना संक्रमित मरीज ऐसे है, जिन्होंने केवल वैक्सीन की दो डोज ली है. वहीं, सिर्फ 10 फीसद मरीज ही वैक्सीन की तीसरी डोज के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित हुए. ऐसे में कोरोना से दिल्लीवालों को सुरक्षित रखने के लिए केजरीवाल सरकार ने वैक्सीनेशन की रफ्तार तेज कर दी है.

इसी कड़ी में मंगलवार को कोविड वैक्सीनेशन में तेजी लाने के लिए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों व जिलाधिकारियों के साथ बैठक की. इस दौरान बैठक में मौजूद मुख्य सचिव नरेश कुमार ने जिलाधिकारियों को मेट्रो स्टेशन, बाजार, मॉल, जैसी भीड़-भाड़ वाली जगहों पर लगाए जाने वाले वैक्सीनेशन कैंप की स्थिति जानने के लिए ग्राउंड पर जाने के निर्देश दिए.

ड‍िप्‍टी सीएम सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली सरकार कोरोना की स्थिति पर अपनी पैनी नजर बनाए हुए है इसलिए पहले से ही हमने अपने हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को पूरी तरह से दुरुस्त कर लिया है. साथ ही सभी अस्पतालों को भी अलर्ट रहने को कहा गया है. हालांकि, अब लोगों में लापरवाही देखने को भी मिल रही है और ये देखा गया है कि बहुत से लोग प्रीकॉशनरी डोज नहीं ले रहे है.

लेकिन अस्पतालों में भर्ती होने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या से ज्ञात होता है कि प्रीकॉशनरी डोज लगाने वाले लोग कोरोना के संक्रमण से ज्यादा सुरक्षित है. अस्पताल में भर्ती होने वाले 90 फीसद कोरोना संक्रमित मरीज ऐसे मरीज है, जिन्होंने केवल वैक्सीने की दो डोज ली है.

वहीं, सिर्फ 10 फीसद मरीज ही वैक्सीन की तीसरी डोज के बाद कोरोना संक्रमित हुए. इससे ये बात साफ है कि प्रीकॉशनरी डोज लगाने वाले लोग कोरोना के संक्रमण से ज्यादा सुरक्षित है.

कोरोना के प्रसार को रोकने को प्रीकॉशनरी डोज लगवाना और मास्क पहनना जरूरी
सिसोदिया ने लोगों से जल्द से जल्द वैक्सीन की बूस्टर डोज लगवाने की अपील करते हुए कहा, ” इलाज से बेहतर रोकथाम है. जिन लोगों ने अभी तक वैक्सीन नहीं ली है या सिर्फ पहली या दूसरी डोज ही ली है, उन सभी को जल्द से जल्द अपने नजदीकी स्वास्थ्य सुविधा केंद्र में जाकर वैक्सीन लगवानी चाहिए. कोरोना के प्रसार को रोकने के प्रीकॉशनरी डोज लगाना जरूरी है. घर से बाहर निकलते वक्त मास्क पहनकर निकलें, इससे ज़्यादातर मामलों को रोका जा सकता है. इसके अलावा वरिष्ठ नागरिकों से भी अपील है कि अगर आपने अभी तक दूसरी डोज या प्रीकॉशनरी डोज नहीं लगवाई है, तो जरूर लगवा लें.

बूस्‍टर डोज लगाने को लोगों को कि‍या जा रहा जागरूक
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि वैक्सीनेशन खासकर बूस्टर डोज लगाने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है. इसे लेकर सभी जिले के जिलाधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए है. साथ ही वैक्सीनेशन कैंप की स्थिति जानने के लिए ग्राउंड विजिट करने के निर्देश दिए गए हैं.

कई मोहल्‍ला क्‍लीन‍िक में भी क‍िए वैक्‍सीनेशन के प्रबंध
उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार की ओर से कई मोहल्ला क्लीनिकों में भी वैक्सीनेशन की सुविधा उपलब्ध की गई है. साथ ही लोग अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों पर जाकर वैक्सीन लगवा सकते है क्योंकि कोरोना से लड़ने में वैक्सीन बेहद मददगार है.

Tags: Booster Dose, COVID 19, Delhi corona cases, Delhi Government, Delhi news, Health News, Manish sisodia

अगली ख़बर