• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Covid 19: दिल्ली में अब इसलिए मुश्किल नहीं होगा तब्लीगी मरकज़ से जुड़े जमातियों को तलाशना

Covid 19: दिल्ली में अब इसलिए मुश्किल नहीं होगा तब्लीगी मरकज़ से जुड़े जमातियों को तलाशना

सरकार के आदेश न मानने का आरोप (File Photo)

सरकार के आदेश न मानने का आरोप (File Photo)

यह टीम घर-घर जाएगी. स्थानीय होने के चलते यह जानकारियों को आसानी से जुटा सकेगी. सिविल डिफेंस (Civil Defance) के वालिंटियर और आशा वर्कर या आंगनबाड़ी (Anganwadi) कार्यकर्ता इसमे अहम रोल निभाएंगे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. सूत्रों की मानें तो दिल्ली में तब्लीगी मरकज़ (Tablighi Markaz) से जुड़े जमातियों को तलाशना अब मुश्किल नहीं होगा. जमाती घर में हों या मस्जिद (Masjid) में उनकी जानकारी आसानी से मिल जाएगी. दिल्ली सरकार (Delhi Government) की 13 हज़ार टीम अब दिल्ली के हर मोहल्ले और कॉलोनी में कोरोना संक्रामित को तलाशने के लिए निकल रही है.

    इसे कोरोना फुट वॉरियर्स कंटेंटमेंट एंड सर्विलांस टीम का नाम दिया है. इस टीम में पांच लोग होंगे. यह इसमे ज़्यादातर लोग स्थानीय होंगे. यहां तक की दिल्ली पुलिस (Delhi Police) का बीट सिपाही भी शामिल किया जाएगा. यह टीम घर-घर जाएगी. स्थानीय होने के चलते यह जानकारियों को आसानी से जुटा सकेगी. सिविल डिफेंस के वालिंटियर और आशा वर्कर या आंगनबाड़ी कार्यकर्ता इसमे अहम रोल निभाएंगे.

    यह लोग शामिल होंगे एक टीम में

    दिल्ली सरकार से जुड़े जानकारों की मानें तो दिल्ली में बनने वाली टीमों में पांच लोगों को शामिल किया जाएगा. इसमे जो लोग शामिल होंगे वो इस तरह से हैं.

    बूथ लेवल ऑफिसर इस टीम का मुखिया होगा

    एक सिविल डिफेंस वालंटियर

    एक आशा या आंगनवाड़ी कार्यकर्ता

    एक नगर निगम सफाईकर्मी और

    एक दिल्ली पुलिस का बीट कांस्टेबल इसके सदस्य होंगे

    यह होगा कोरोना फुट वॉरियर्स टीम का काम

    1 अपने-अपने इलाके में संदिग्ध कोरोना मामले के बारे में पूछताछ करेंगे.

    2 लोगों को फोन करके पूछेंगे कि वह ठीक-ठाक रह रहे हैं या नहीं, उन्हें किसी एसेंशियल आइटम की ज़रूरत तो नहीं है.

    3 लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में बताएंगे और मास्क पहनने के बारे में कहेंगे.

    4 टीम के लोग फील्ड में जाकर सोशल डिस्टेंसिंग लागू करवाएंगे. खासतौर से जेजे कॉलोनी, अनाधिकृत कालोनी या बहुत आबादी वाले इलाकों में.

    5 लोगों को सरकार द्वारा दिए गए निर्देश का पालन करने के लिए कहेंगे और अगर लोग नहीं मानेंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई कराएंगे.

    6 टीम के लोग अपने हिसाब से इलाके में पैदल घूमेंगे और घरों में जाकर देखेंगे कि कोई कोरोना संदिग्ध तो नहीं. अगर कोई संदिग्ध मिलता है तो प्रक्रिया का पालन करते हुए आगे की कार्रवाई करेंगे. जैसे क्वारन्टीन सेन्टर में भिजवाना या आइसोलेशन में भेजना या टेस्ट कराना आदि.

    7 टीम के लोग कोरोना संदिग्ध को जल्द से जल्द क्वॉरेंटाइन सेंटर या आइसोलेशन सेंटर में पहुंचाने में मदद करेंगे. इलाके को सैनिटाइज करने के काम मे कॉर्डिनेट करेंगे

    8 यह टीम रोज शाम को 6 बजे तक अपनी रिपोर्ट अधिकारियों को देगी.

    ये भी पढ़ें-

    Covid 19: महाराष्ट्र-पटना के गुरुद्वारों में Lockdown के चलते फंसे हैं 5 हज़ार तीर्थयात्री

    Lockdown: मुंबई की घटना के पीछे रेलवे का बड़ा खुलासा, बताई 7 दिन पहले की यह बड़ी वजह

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज