Assembly Banner 2021

COVID-19: मौलाना साद ने जारी किया पत्र, बोले- Corona से ऊब चुके लोग करें यह काम

साद के वकील ने दावा किया था कि वे कोरोना पॉजि‌टिव नहीं है. (फाइल फोटो)

साद के वकील ने दावा किया था कि वे कोरोना पॉजि‌टिव नहीं है. (फाइल फोटो)

तबलीगी जमात (Tabligi Jamaat) के नेता मौलाना साद कंधालवी (Maulana Saad Kandhalvi) ने उपचार के बाद कोविड-19 के संक्रमण (Corona Infection) से मुक्त हो चुके लोगों से अपील की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. तबलीगी जमात (Tabligi Jamaat) के नेता मौलाना साद कंधालवी (Maulana Saad Kandhalvi) ने उपचार के बाद कोविड-19 के संक्रमण (Corona Infection) से मुक्त हो चुके लोगों से मंगलवार को रक्त प्लाज्मा (Blodd Plasma) दान करने की अपील की. जिससे कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का इलाज किया जा सके. गौरतलब है कि लॉकडाउन के दौरान निजामुद्दीन इलाके में मार्च महीने में एक धार्मिक कार्यक्रम आयोजित करने के मामले में दिल्ली पुलिस ने साद के खिलाफ मामला दर्ज किया था. मंगलवार को जारी एक पत्र में कंधालवी ने कहा कि उन्होंने और तबलीगी जमात के कुछ अन्य सदस्यों ने खुद को क्वारंटाइन में रखा हुआ है.

आप विधायक ने ट्विटर हैंडल पर साझा किया पत्र
यह पत्र आप विधायक अमानतुल्ला खान ने अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किया. कंधालवी ने कहा कि खुद को क्वारंटाइन में रखे ज्यादातर सदस्यों में कोराना वायरस की जांच में कोई संक्रमण नहीं पाया गया. उन्होंने कहा ‘‘जो संक्रमित पाए गए हैं उनमें से ज्यादातर का इलाज चल रहा है और अब वे स्वस्थ हो चुके हैं. मैं और कुछ अन्य ने खुद को पृथकवास में रखा हुआ है.’’

करना चाहिए रक्त प्लाज्मा का दान
कंधालवी ने कहा ‘‘यह जरूरी है कि इस बीमारी से उबर चुके लोगों को उनके लिए रक्त प्लाज्मा दान करना चाहिए जो अब भी इस वायरस के संक्रमण से जूझ रहे हैं और उनका इलाज चल रहा है.’’ कांधलवी ने सोमवार को अपने अनुयायियों से अपील की थी कि वे रमजान के महीने के दौरान अपने घरों में ही नमाज अदा करें.



सीएम ने दिया था तबलीगी जमात का हवाला
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रेसवार्ता में तबलीगी जमात का हवाला देते हुए कहा था कि पिछले महीने निजामुद्दीन के कार्यक्रम में बड़ी संख्या में विदेश से आए यात्रियों के कारण कोरोना वायरस का प्रसार बेहद तेजी से हुआ. दिल्ली पुलिस अपराध शाखा ने 31 मार्च को मौलाना साद समेत सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी.

 

ये भी पढ़ें: 

 

साइकिल से दिल्ली से मधेपुरा जा रहे थे 7 मजदूर, पुलिस ने काउंसलिंग कर वापस भेजा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज