होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /COVID-19: NDMC ने अग्रिम मोर्चे के कर्मियों की मौत पर 15 लाख रुपए के मुआवजे की घोषणा की

COVID-19: NDMC ने अग्रिम मोर्चे के कर्मियों की मौत पर 15 लाख रुपए के मुआवजे की घोषणा की

बयान में कहा गया है कि किसी कर्मचारी की मौत हो जाने पर उसके परिवार को आर्थिक सहायता सुनिश्चित की जाए, ताकि कर्मचारी इस मुश्किल वक्त में एनडीएमसी में काम कर सके.

बयान में कहा गया है कि किसी कर्मचारी की मौत हो जाने पर उसके परिवार को आर्थिक सहायता सुनिश्चित की जाए, ताकि कर्मचारी इस मुश्किल वक्त में एनडीएमसी में काम कर सके.

बयान में कहा गया, ‘‘ यद्यपि एनडीएमसी (NDMC) अपने कर्मचारियों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए सभी एहतियात बरत रहा है लेक ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (NDMC) ने कोरोना वायरस (Corona virus) महामारी से लड़ाई लड़ रहे अपने किसी भी कर्मचारी की मौत हो जाने की सूरत में उसके परिवार को 15 लाख रुपए की अनुग्रह राशि (Compensation) देने की घोषणा की है. यह मुआवजा नियमित तथा बाह्य कर्मचारियों (आउटसोर्स) सहित अनुबंधित कर्मचारियों सभी के लिए होगा. नगर निकाय ने एक बयान जारी करके कहा,‘‘परिषद ने ऐसे कर्मचारी (नियमित,अनुबंधित,आरएमआर,टीएमआर,आउटसोर्स कर्मचारी) जो कोविड-19 के खतरे वाले स्थानों के निकट काम कर रहे हैं अथवा जिनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने का खतरा है. ऐसे कर्मचारियों की एनडीएमसी ने मौत पर 15 लाख रुपए का मुआवजा देने का निर्णय किया है. ’’

    बयान में कहा गया, ‘‘ यद्यपि एनडीएमसी अपने कर्मचारियों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए सभी एहतियात बरत रहा है लेकिन इस बात की जरूरत महसूस की गई है कि ड्यूटी के दौरान कोविड-19 से किसी कर्मचारी की मौत हो जाने पर उसके परिवार को आर्थिक सहायता सुनिश्चित की जाए, ताकि कर्मचारी इस मुश्किल वक्त में एनडीएमसी में काम कर सके.’’

    AIIMS में तैनात 100 से भी ज्‍यादा गार्ड को क्‍वारंटीन कर दिया गया है
    दरअसल, सबसे ज्यादा डॉक्टर्स और कोरोना वारियर्स दिल्ली में संक्रमित पाए गए हैं. खुद एनडीएमसी द्वार संचालित अस्पतालों के कई कर्मचारी भी कोरोना पॉजिटिव हैं. यही वजह है कि एनडीएमसी ने यह फैसला किया है. वहीं, रविवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (AIIMS) में कार्यरत 22 हेल्‍थकेयर स्‍टाफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इसके बाद AIIMS में तैनात 100 से भी ज्‍यादा गार्ड को क्‍वारंटीन कर दिया गया है. दिल्‍ली के अस्‍पतालों में काम करने वाले स्‍वास्‍थ्‍य‍कमियों के कोरोना पॉजिटिव आने का यह कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले सफदरजंग अस्‍पताल, बाबू जगजीवन राम हॉस्पिटल, अंबेडकर अस्‍पताल, कैंसर इंस्‍टीट्यूट आदि में तैनात डॉक्‍टर और स्‍वास्‍थ्‍यकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं.

    एक छात्रा को संक्रमित होने की जानकारी मिली थी
    इससे पहले हिंदू राव अस्पताल के एक डॉक्टर के अलावा कस्तूरबा हॉस्पिटल में स्नातकोत्तर की एक छात्रा के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की जानकारी मिली थी. इसकी जानकारी अधिकारियों ने शनिवार को दी थी. पिछले एक सप्ताह में अस्पताल की दो नर्सों के भी संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. एक नर्स के संक्रमित पाए जाने के बाद, डॉक्टर सहित 78 अन्य के नमूने जांच के लिए भेजे गए थे. उत्तरी दिल्ली नगर निगम इसे संचालित करता है. कस्तूरबा अस्पताल में स्नातकोत्तर की एक छात्रा भी कोरोना संक्रमित मिलने के बाद संक्रमण के शिकार छात्रों की संख्या दो हो चुकी है.

    (इनपुट- भाषा)

    ये भी पढ़ें- 

    बुलंदशहर: योगी सरकार शहीद कर्नल आशुतोष शर्मा के परिवार को देगी 50 लाख और नौकरी

    मुस्लिम धर्मगुरु की अपील, सादगी से मनाएं 'ईद' और बजट का 50 फीसदी करें दान

    Tags: Corona, Corona Days, Corona Virus, Delhi, Delhi-ncr

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें