COVID-19: हिंदू राव अस्पताल में फिर से सेवाएं हुईं बहाल, इन विभागों में इलाज शुरू

 उन्होंने कहा कि इन विभाग के रोगियों के अलावा अन्य मरीजों और परिचारकों के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा. (फाइल फोटो)
उन्होंने कहा कि इन विभाग के रोगियों के अलावा अन्य मरीजों और परिचारकों के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा. (फाइल फोटो)

उत्तरी दिल्ली नगर निगम आयुक्त वर्षा जोशी ( Varsha Joshi) ने कहा कि हिंदू राव अस्पताल में आकस्मिक और आपातकालीन वार्डों की सेवाओं को फिर से शुरू की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2020, 8:52 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के हिंदू राव अस्पताल (Hindu Rao Hospital) को सोमवार से कुछ खास तरह के मरीजों के लिए फिर से खोल दिया गया. यहां आज से मरीजों का इलाज फिर से शुरू हो गई. उत्तरी दिल्ली नगर निगम आयुक्त वर्षा जोशी (Varsha Joshi) ने कहा कि हिंदू राव अस्पताल में आकस्मिक और आपातकालीन वार्डों की सेवाओं को फिर से शुरू की गई है. इसके अलावा फ्लू क्लिनिक और 3 ओपीडी (स्त्रीरोग, बाल रोग, चिकित्सा) की सवाओं को भी आज से बहाल किया गया है. उन्होंने कहा कि इन विभाग के रोगियों के अलावा अन्य मरीजों और परिचारकों के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा.

बता दें कि रविवार को ऐसी खबर सामने आई थी हिंदूराव अस्पताल की एक नर्स में कोरोना वायरस (Corona virus) की पुष्टि हुई है. इसके बाद इस अस्पताल को अस्थाई रूप से बंद कर दिया गया था. कहा जा रहा था कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और सैनिटाइजेशन होने तक अस्पताल सील रहेगा. जानकारी के मुताबिक, संक्रमित नर्स पिछले 2 हफ्ते से अस्पताल में अलग-अलग जगह पर काम कर रही थी.


अदरअल, हिंदूराव अस्पताल उत्तरी दिल्ली नगर निगम का सबसे बड़ा अस्पताल है. उत्तरी दिल्ली नगर निगम आयुक्त वर्षा जोशी ने कहा था कि शनिवार देर शाम हिंदूराव अस्पताल की एक नर्स में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है. उन्होंने कहा था कि यह नर्स पिछले 2 हफ्ते से अस्पताल में अलग-अलग जगहों पर ड्यूटी कर रही थी. ऐसे में अस्पताल को अस्थाई रूप बंद करने का निर्णय लिया गया है. वर्षा जोशी के मुताबिक, अस्पताल को पूरी तरह से सैनिटाइज करने के बाद खोलने का फैसला लिया जाएगा.



उधर खबर है कि  दिल्ली के एम्स और सफदरजंग हॉस्पिटल सहित 4 हॉस्पिटल के 14 और स्वास्थ्यकर्मी खतरनाक कोरोना वायरस (Covid-19) से संक्रमित मिले हैं. इसके अलावा बाड़ा हिन्दूराव हॉस्पिटल का इस तरह का मामले सामने आने के बाद वहां सैनिटाइजेशन किया गया. अमर उजाला की एक खबर के अनुसार, दिल्ली के 14 हॉस्पिटल के 100 से अधिक डॉक्टर और नर्स के अलावा 100 से अधिक स्वास्थ्यकर्मी कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं. एम्स, सफदरगंज के साथ अन्य हॉस्पिटलों में मिले संक्रमितों का इलाज जारी है.

ये भी पढ़ें- 

डोनाल्‍ड ट्रंप के सहयोगी बोले-किम जोंग की या तो मौत हो चुकी है या वो लाचार हैं

WhatsApp की सीक्रेट ट्रिक: बिना फोन देखे जानें किसका आया मैसेज, आसान है तरीका

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज