लाइव टीवी

COVID-19: केरल से लापता हुआ आइसोलेशन में रखा गया IAS अफसर, भागकर आया कानपुर!
Kanpur News in Hindi

News18India
Updated: March 27, 2020, 11:58 AM IST
COVID-19: केरल से लापता हुआ आइसोलेशन में रखा गया IAS अफसर, भागकर आया कानपुर!
केरल में आइसोलेशन में रखा गया आईएएस अफसर लापता. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

केरल के कोल्लम में तैनात आईएएस अफसर को कोरोना (coronavirus) के संदेह में आइसोलेशन में रखा गया था. केरल सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि यह युवा अधिकारी क्वारेंटाइन की अवधि के बीच में ही लापता हो गया है.

  • News18India
  • Last Updated: March 27, 2020, 11:58 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (coronavirus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन (lockdown) का ऐलान किया गया है. संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में कोई दूसरा न आए, इसके लिए विभिन्न राज्यों के प्रशासनिक अधिकारियों को निगरानी के काम में लगाया गया है. लेकिन केरल में एक IAS अफसर की करतूत हैरान करने वाली है. केरल के कोल्लम में तैनात आईएएस अफसर अनुपम मिश्र को कोरोना से संक्रमित होने के संदेह में आइसोलेशन में रखा गया था. केरल सरकार के प्रवक्ता ने गुरुवार की शाम बताया कि यह युवा अधिकारी क्वारेंटाइन की अवधि के बीच में ही लापता हो गया है. प्रवक्ता ने बताया कि जब इस IAS अफसर को फोन किया गया, तो उसका लोकेशन कानपुर का मिला. इसके बाद यूपी सरकार से इस बारे में संपर्क किया गया है.

IAS को भारी पड़ेगी लापरवाही
केरल सरकार के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि कोल्लम जिले में तैनात डिप्टी कलेक्टर अनुपम मिश्र इस महीने की शुरुआत में ब्रिटेन से लौटे थे. प्रवक्ता ने बताया कि एक आईएएस अफसर की इस तरह की लापरवाही गंभीर मामला है. केरल सरकार इस संदर्भ में यूपी शासन से संपर्क कर रही है. साथ ही इस मामले को केंद्रीय गृह मंत्रालय के संज्ञान में भी लाया जाएगा. प्रवक्ता ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी के लॉकडॉउन का ऐलान करने से पहले बीते 21 मार्च को ही वह लापता हो गए.

अधिकारी जांच को पहुंचे तब हुआ खुलासा



कोल्लम के कलेक्टर अब्दुल नासिर ने बताया कि अनुपम मिश्र की इस लापरवाही के बारे में केरल सरकार को बताया गया है. कलेक्टर ने बताया कि अनुपम मिश्र के लापता होने की जानकारी उस समय मिली, जब स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उनके घर जांच करने पहुंचे. ये जांच अधिकारी अनुपम मिश्र के लापता होने के 2 दिन बाद उनके घर पहुंचे थे. जब जांच अधिकारियों ने अनुपम को फोन किया, तो उनका लोकेशन यूपी के कानपुर का निकला. कलेक्टर ने बताया कि अनुपम मिश्र ने क्वारेंटाइन के बीच यात्रा करने के बारे में पहले से कोई जानकारी नहीं दी थी.

ड्राइवर, गार्ड और सचिव को रखा गया आइसोलेशन में
आईएएस अधिकारी की इस लापरवाही को लेकर कोल्लम जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है. इस खबर के सामने आने के बाद कोल्लम जिला प्रशासन ने अनुपम मिश्रा के ड्राइवर, निजी सुरक्षा गार्ड और सेक्रेटरी को आइसोलेशन में रखे जाने का आदेश दिया है. सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि ऐसे में जबकि पूरे देश में कोरोना की वजह से 700 से ज्यादा लोगों के संक्रमित होने की खबर है. केरल में भी 126 लोग इस वायरस से पीड़ित हैं, एक आईएएस अधिकारी का यह व्यवहार सवाल खड़े करता है.

आईएएस के खिलाफ होगी कार्रवाई
केरल सरकार के प्रवक्ता ने एक IAS अफसर के इस तरह लापता होने को लेकर तीखी टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि ऐसे में जबकि कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में अलर्ट है, एक प्रशासनिक अधिकारी की लापरवाही गंभीर मामला है. अनुपम मिश्र ने क्वारेंटाइन के नियमों का उल्लंघन किया है. प्रवक्ता ने प्रशासनिक अधिकारियों के कर्तव्य का उदाहरण देते हुए कहा, 'एक कैप्टन इस तरह जहाज नहीं छोड़ सकता.' उन्होंने कहा कि अनुपम मिश्र के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें -

COVID-19: Lockdown के दौरान भूखे-प्यासे 'जुगाड़ गाड़ी' से जा रहे थे बिहार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 27, 2020, 11:47 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर