दिल्ली : LNJP के कोरोना मरीजों को बड़ी सौगात, अब परिवार से कर सकेंगे 'LIVE' मुलाकात

दिल्ली सरकार ने मरीजों के लिए एक बड़ा फैसला लिया है. (Demo)

कोरोना मरीजों को राहत देने के लिए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने एक अहम फैसला लिया है. घर से दूर इलाज करा रहे मरीज अब अपने परिवार को लाइव देख सकेंगे.

  • Share this:
    दिल्ली. 24 घंटे में दिल्ली (Delhi) में करीब 4 हज़ार लोग कोरोना से संक्रमित (Coronavirus) हो गए हैं. कोविड-19 मरीजों का आंकड़ा बढ़कर अब 70,000 के पार पहुंच गया है. राष्ट्रीय राजधानी में अब तक 2 हजार लोगों की मौत इस संक्रमण की वजह से हो गई है. इन सबके बीच मरीजों को राहत देने के लिए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने एक अहम फैसला लिया है. घर से दूर इलाज करा रहे मरीज अब अपने परिवार को लाइव देख सकेंगे. कोरोना मरीजों (COVID-19) को सरकार ने वीडियो कॉलिंग की सौगात दी है.

    मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने गुरुवार को दिल्ली के LNJP अस्पताल में वीडियो कॉल (Video Calling) सुविधा की शुरुआत की. अब मरीज कोरोना वार्ड के बाहर से अपने प्रियजनों से बात कर सकते हैं. इस दौरान सीएम केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) सहित दिल्ली सरकार की टीम LNJP अस्पताल पहुंची थी. सीएम केजरीवाल ने अस्पताल की सुविधाओं का जायजा लिया. अधिकारियों से मरीजों के स्वास्थ्य को लेकर चर्चा भी की.



    सरकार ने लिया बड़ा फैसला
    मालूम हो कि तेजी से बढ़ रहे कोरोना मामलों के बीच हेल्थ सिस्टम को मजबूत करने के लिए दिल्ली (Delhi) की केजरीवाल सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. दिल्ली में डॉक्टर्स की किल्लत को देखते हुए सरकार अब मेडिकल स्टाफ का कार्यकाल बढ़ा रही है. कोरोना महामारी के मद्देनजर सामने आ रही डॉक्टर्स की किल्लत को ध्यान में रखते हुए रेजिडेंट डॉक्टर्स का कार्यकाल बढ़ाने या सरकार द्वारा मंज़ूर रिक्त पदों पर नियुक्त करने का निर्देश सरकार ने दिया है. दिल्ली सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के तहत आने वाले सभी अस्पतालों और मेडिकल संस्थानों को ये आदेश जारी कर दिया है.

    ये भी पढ़ें: COVID-19: दिल्ली में अब नहीं होगी डॉक्टरों की कमी, केजरीवाल सरकार ने लिया बड़ा फैसला

    सीएम अरविंद केजरीवाल का ट्वीट



    ये भी पढ़ें: COVID-19: दिल्ली में अब नहीं होगी डॉक्टरों की कमी, केजरीवाल सरकार ने लिया बड़ा फैसला

    होंगी नई नियुक्ति
    नए फैसले के मुताबिक, दिल्ली सरकार के अधीन आने वाले सभी अस्पतालों और मेडिकल इंस्टीट्यूट्स के एमएस, एमडी, डीन या डायरेक्टर्स को कहा गया है कि वे अपने यहां काम कर रहे उन सभी सीनियर रेजिडेंट और जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स का कार्यकाल छह महीने के लिए बढ़ाएं जो अगले कुछ दिनों में अपना तीन साल और एक साल का कार्यकाल पूरा करने वाले हैं. या फिर जो मंजूर रिक्त पद हैं उन पर नए डॉक्टर न मिलने की स्थिति में ऐसे सीनियर रेजिडेंट या जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर को नियुक्त करें जो अपना रेसिडेंसी टेन्योर पूरा कर चुके हो.

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.