गुरुग्राम: कोविड अस्पताल में ताला, 5 दिन पहले CM खट्टर ने किया था उद्घाटन

सीएम के उदघाटन के 5 दिन बाद ही लग गया कोविड अस्पताल में ताला.

सीएम के उदघाटन के 5 दिन बाद ही लग गया कोविड अस्पताल में ताला.

गुरुग्राम में 16 मई को सीएम ने इसका उदघाटन किया था. यहां 20 वेंटिलेटर और 80 ऑक्सीजन बेड का अस्पताल बनाया गया था, लेकिन गुरुवार को यहां पानी भर जाने के कारण जिला प्रशासन ने ताला लगा दिया. बताया गया कि जिला प्रशासन ने अधूरे अस्पताल का उदघाटन करा दिया था.

  • Share this:

गुरुग्राम. गुरुग्राम ( Gurugram) में कोविड सेन्टर को प्रशासन ने ताला जड़ दिया. हाल ही में 16 मई को सीएम ने इसका उदघाटन किया था. यहां 20 वेंटिलेटर और 80 ऑक्सीजन (Oxygen) बेड का अस्पताल बनाया गया था, लेकिन गुरुवार को यहां पानी भर जाने के कारण जिला प्रशासन ने ताला लगा दिया. बताया गया कि जिला प्रशासन ने अधूरे अस्पताल का उदघाटन करा दिया था. इसको लेकर अब सवाल उठने लगे हैं.

गौरतलब है कि बीते रविवार को मुख्यमंत्री खट्टर ने केंद्रीय मंत्री और स्थानीय सांसद की मौजूदगी में ताऊ देवीलाल स्टेडियम में बने अस्थाई अस्पताल का उद्घाटन किया गया था. 16 मई को गुरुग्राम के देवीलाल स्टेडियम में 100 बेड के कोविड अस्पताल का उदघाटन कर सीएम ने शहर को एक सौगात दी, लेकिन ये क्या उदघाटन के 5 दिन बीत जाने के बाद भी ये अस्पताल बनकर तैयार नहीं हुआ. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यही कि क्या सीएम को जमीनी हकीकत बताये बिना झूठी वाहवाही लूटने के चक्कर में अधिकारियों ने इस कोविड अस्पताल का जल्दबाजी में सीएम मनोहर लाल से उद्धघाटन करवा दिया. अधूरे अस्थाई अस्पताल का सीएम खट्टर से उदघाट्न करवा अधिकारियों ने भले ही वाहवाही लूट ली हो, लेकिन कुछ लोग इसे कोरोना मरीजों के साथ मजाक मान रहे हैं.

वीरवार को ये कोविड अस्पताल पूरी तरह से बारिश के पानी मे एक तरह से डूब ही गया. जैसे ही मीडिया के जरिये  इस अधूरे अस्पताल की सच्चाई सामने आई तो अधिकारियों ने चुप्पी साध ली. इस कोविड अस्पताल को ताला जड़ दिया ताकि कोई भी इस अस्पताल की खबर ना कर सके. स्टेडियम के बाहर प्रशाशन ने ताला लटका दिया है.  इस अप्सताल का अभी भी कोई कामपूरा नहीं हुआ है. जिला के चीफ मेडिकल अधिकारी खुद कुबूलने में लगे हैं कि इस अस्थाई अस्पताल को शुरू होने में 10 दिन का वक्त और लग सकता है.

100 बेड के इस अस्पताल में 80 ऑक्सीजन बेड और 20 वेंटिलेटर बेड लगाए जाने थे, लेकिन 5 दिन बीत  जाने के बाद भी ये शुरू नहीं हो सका. पहले उदघाटन फिर आम लोगों के लिए बंद किया. उसके बाद वीरवार को स्वीमिंगपूल बने इस अस्पताल पर फिलहाल ताला लटका है.  ऐसे में सवाल ये ही है कि इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज