BJP विधायकों को मोटा कमीशन दिलाने के लिए कोविड टीके निजी अस्पतालों को भेजे गए: AAP

आतिशी ने दावा किया इस संकट के समय में लोगों की जान की कीमत पर भाजपा ‘ टीका घोटाला’ में शामिल है. (सांकेतिक फोटो)

आतिशी ने दावा किया इस संकट के समय में लोगों की जान की कीमत पर भाजपा ‘ टीका घोटाला’ में शामिल है. (सांकेतिक फोटो)

आप प्रवक्ता एवं विधायक आतिशी (Atishi) ने यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा निजी अस्पतालों से ‘‘भारी कमीशन’ वसूल रही है और इसका सबूत कर्नाटक में सामने आया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (AAP) ने रविवार को आरोप लगाया कि राज्य सरकारों को संभवत: आपूर्ति किए जाने वाले कोविड-19 (COVID-19) टीके निजी अस्पतालों को भेजे जा रहे हैं. ताकि भाजपा के विधायक ‘मोटे कमीशन से अपनी जेब भर सकें.’’ वहीं, भाजपा की दिल्ली इकाई ने पलटवार करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि आप नेता ‘‘अधिक कीमत वाले विदेशी टीका निर्माताओं के लिए अभियान चला रहे हैं’’ और हर बार टीके की कमी का ‘रिकॉर्डेड बयान’ बजा रहे हैं. जबकि भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने आश्वस्त किया है कि अगले 10-15 दिन में आपूर्ति सामान्य हो जाएगी.

आप प्रवक्ता एवं विधायक आतिशी ने यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा निजी अस्पतालों से ‘‘भारी कमीशन’ वसूल रही है और इसका सबूत कर्नाटक में सामने आया है. उन्होंने कहा कि यह भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या और रवि सुब्रमण्य से जुड़ा है. गौरतलब है कि कांग्रेस ने शनिवार को सूर्या और उनके रिश्तेदार एवं कर्नाटक से विधायक रवि सुब्रमण्य पर टीके से पैसे बनाने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की थी. कांग्रेस ने दोनों को सांसद और विधायक पद से हटाने की भी मांग की थी.

भाजपा ‘ टीका घोटाला’ में शामिल है

हालांकि, भाजपा नेताओं ने इन आरोपों से इनकार किया था. कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने सोशल मीडिया पर कथित लीक टेप के हवाले से आरोप लगाया कि सुब्रमण्य ने कर्नाटक में निजी अस्पतालों से प्रति खुराक 700 रुपये की रिश्वत ली. आतिशी ने कहा कि कथित ‘कॉल रिकॉर्ड’ में निजी अस्पताल ने साफ तौर पर कहा कि वह महंगा टीका लगा रहा है क्योंकि विधायक कार्यालय को मोटी रकम कमीशन के रूप में देने होते हैं. आतिशी ने दावा किया इस संकट के समय में लोगों की जान की कीमत पर भाजपा ‘ टीका घोटाला’ में शामिल है.
सरकार मुफ्त में नहीं मुहैया करा सकती

वहीं, दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि कोविड-19 टीके की आपूर्ति में थोड़ी कमी आई है. लेकिन भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने आश्वस्त किया है कि अगले 10-15 दिनों में आपूर्ति सामान्य हो जाएगी. उन्होंने कहा, ‘‘निर्माताओं के बार-बार भरोसे के बावजूद यह समझ से परे है कि क्यों आतिशी जैसे आप नेता हर दिन टीके की कमी और विदेश में निर्मित टीके के आयात की अनुमति देने की जरूरत का रिकॉर्डेड बयान बजाते हैं. ऐसा लगता है कि वे अधिक कीमत वाले विदेशी टीका निर्माताओं के लिए अभियान चला रहे हैं.’’ कपूर ने कहा, ‘‘आप नेता कहते हैं कि वे मुफ्त में टीका चाहते हैं लेकिन वे अधिक कीमत वाले विदेशी टीके के आयात के लिए अभियान चला रहे हैं जिसे कोई भी सरकार मुफ्त में नहीं मुहैया करा सकती.’’

निजी टीकाकरण केंद्रों का उद्घाटन कर रहे हैं



भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि संवाददाता सम्मेलन में आप नेता दिखाते हैं कि वे टीकाकरण के लिए अधिक कीमत वसूले जाने वाले केद्रों जैसे मॉल, होटल और निजी अस्पताल के खिलाफ हैं लेकिन हर अगले दिन ‘‘ हम पाते हैं कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके अन्य मंत्री ऐसे उच्च कीमत वाले टीकाकरण केंद्र का उद्घाटन कर रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘जनता आतिशी से जवाब जानना चाहती है कि अगर आप नेतृत्व महंगे टीके के खिलाफ है तो क्यों मुख्यमंत्री ऐसे निजी टीकाकरण केंद्रों का उद्घाटन कर रहे हैं.’’

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज