दिल्ली एनसीआर के प्रदूषण पर नजर रखेंगी CPCB की 50 टीमें, आज से शुरू करेंगी काम

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर.(फाइल फोटो)
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर.(फाइल फोटो)

दिल्ली और एनसीआर (Delhi- NCR) के प्रदूषण पर नजर रखने के लिए केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने सीपीसीपी (CPCB) की 50 टीमों को रवाना किया है. सभी टीमें दिल्ली (Delhi), पंजाब (Punjab), हरियाणा (Haryana), राजस्थान (Rajasthan) में जाकर प्रदूषण के स्तर पर नजर रखेंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2020, 7:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने दिल्ली और एनसीआर (Delhi- NCR) के प्रदूषण पर नजर रखने के लिए सीपीसीपी (CPCB) की 50 टीमों को रवाना किया है. सभी टीमें दिल्ली (Delhi), पंजाब (Punjab), हरियाणा (Haryana), राजस्थान (Rajasthan) और उत्तर प्रदेश के विभिन्न जगहों पर प्रदूषण की स्थिति पर नजर रखेंगी. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने टीम को रवाना करने के बाद बताया की सीपीसीबी की टीम कई राज्यों में जाकर वहां पर प्रदूषण की स्थिति का मुआयना करेंगी.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि टीम उन जगहों पर नजर रखेगी, जहां निर्माण कार्य चल रहा है. यहां पर इस बात की जांच होगी कि पर्यावरण मंत्रालय के प्रदूषण संबंधी गाइडलाइन का यहां पालन किया जा रहा है या नहीं. अगर कोई प्रदूषण फैलाता है और पर्यावरण मंत्रालय के नियमों का उल्लंघन करता है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी.


Delhi Air Pollution: आज से नहीं चलेंगे डीजल-पेट्रोल वाले जेनरेटर, केजरीवाल सरकार ने लगाई पाबंदी





पंजाब सरकार से की अपील
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का कहना है कि पराली जलाने का काम अभी कुछ दिन और चलेगा. इसलिए उन्होंने पंजाब सरकार से अपील की है कि राज्य में किसानों को पराली जलाने से रोकें. क्योंकि पंजाब में पराली जलाने से हरियाणा और दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ जाता है.

आम लोगों से सहयोग की भी अपील
प्रदूषण रोकने के लिए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आम लोगों से अपील की. उन्होंने कहा कि जन सहभागिता के माध्यम से प्रदूषण पर बेहतर तरीके से नियंत्रण किया जा सकता है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने लोगों से थोड़ी दूर के काम के लिए साइकिल और पैदल चलने की अपील की. साथ ही उन्होंने सार्वजनिक वाहनों के प्रयोग की भी अपील की. लोगों से कहा कि वह निजी वाहनों का प्रयोग कम से कम करें, जिससे प्रदूषण पर नियंत्रण पाया जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज