Delhi News: आखिर बस वाली पढ़ी-लिखी लड़की की तलाश में क्‍यों जुटी है दिल्‍ली पुलिस?

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच युवती की तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है.
दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच युवती की तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है.

प्राइमरी टीचर के लिए DSSSB की ओर से आयोजित परीक्षा में धांधली का पता चला है. इसमें एक ही युवती तीन अन्‍य महिला अभ्‍यर्थियों के लिए परीक्षाएं दीं. दिल्‍ली पुलिस इसी लड़की की तलाश में जुटी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2020, 6:37 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बीते कुछ दिन से दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की क्राइम ब्रांच 4 युवतियों की तलाश कर रही है. इसमें से 3 युवतियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. लेकिन, पढ़ने-लिखने में होशियार एक युवती अभी भी फरार चल रही है. इस युवती की तलाश में क्राइम ब्रांच (Crime Branch) जगह-जगह छापेमारी भी कर रही है, लेकिन अभी तक दिल्ली स्टेट सर्विस सलेक्शन बोर्ड (DSSSB) के एक मामले में इस युवती की तलाश पूरी नहीं हुई है.

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने DSSSB में अपनी जगह दूसरी युवती से पेपर करवाने के आरोप में 3 युवतियो को गिरफ्तार किया है. इन तीनों का पेपर देने वाली मुख्य आरोपी युवती की तलाश की जा रही है. तीनों आरोपी प्राइमरी टीचर की पोस्ट में सेलेक्ट हो चुकी थीं, लेकिन उनकी पोल खुलने के बाद उनका सेलेक्शन रद्द कर दिया गया और उन्‍हें DSSSB के किसी भी एग्जाम में बैठने से प्रतिबंधित कर दिया गया है.

ये भी पढे़ं-दूसरे मजहब की लड़की से बात करने पर राहुल की हत्या मामले में दिल्ली पुलिस ने शुभम भारद्वाज को पकड़ा



जालसाजी का ऐसे हुआ खुलासा
DSSSB के कंट्रोलर की शिकायत मिलने के बाद क्राइम ब्रांच ने यह कार्रवाई की है. साल 2018 के अक्टूबर और नवम्बर में अलग-अलग तरीखों में प्राइमरी टीचर के लिए एग्जाम हुए थे. इसमें इन आरोपियों ने अपनी जगह एक दूसरी युवती को पेपर देने भेजा था. DSSSB चयनित अभ्‍यर्थियों को एडमिट कार्ड के सहारे कॉल करता है. एडमिट कार्ड के दूसरे पेज पर कैंडिडेट की तस्‍वीर होती है. चयन के वक्‍त अधिकारियों को एक ही महिला की 4 एडमिट कार्ड पर तस्‍वीर दिखी. इसके बाद इसका खुलासा हुआ.



दस्तावेज में लिखवाया गलत पता
इस फर्जीवाड़े का खुलासा होने पर एक युवती को तो 2018 में ही गिरफ्तार कर लिया गया था, लेकिन दो युवतियों के दस्तावेजों में गलत पता लिखा होने के चलते उनकी गिरफ्तारी नहीं हो पा रही थी. इसी साल 12 अक्टूबर को उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया.

गिरफ्तार होने के बाद उन्होंने खुलासा किया कि 2018 में पंजाबी बाग इलाके में कोचिंग के लिए जाते समय बस में उनकी मुलाकात एक लड़की से हुई थी, जिसने इन सभी का पेपर देने के लिए खुद हामी भरी थी. दिल्ली पुलिस अब उस लड़की की तलाश कर रही है, जिसने इन सभी का पेपर करवाया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज