यौनकर्मियों व ट्रांसजेंडरों को हिंसा का शिकार होने से बचाएगी CRT, संवैधानिक हकों की उठेगी आवाज!

यौनकर्मी, ट्रांसजेंडर और HIV के साथ रह रहे लोगों ने हिंसा से निपटारे के लिए क्राइसिस रिस्पांस टीम का गठन किया.

यौनकर्मी, ट्रांसजेंडर और HIV के साथ रह रहे लोगों ने हिंसा से निपटारे के लिए क्राइसिस रिस्पांस टीम का गठन किया.

यौनकर्मी, ट्रांसजेंडर और एचआईवी के साथ रह रहे लोगों ने हिंसा से निपटारे के लिए एक क्राइसिस रिस्पांस टीम (CRT) का गठन किया. इनके साथ जीवन जी रहे लोगों को सामाजिक तौर पर भेदभाव और हिंसा का शिकार होना पड़ता है. जिसके लिए जरूरी है कि समूहों के लोग अपने संवैधानिक हकों को पहचाने और हिंसा के खिलाफ आवाज़ उठाएं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 11:03 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. यौनकर्मी, ट्रांसजेंडर और एचआईवी के साथ रह रहे लोगों ने हिंसा से निपटारे के लिए एक क्राइसिस रिस्पांस टीम (CRT) का गठन किया. इसका उद्देश्य इन समूहों के साथ होने वाली हिंसा की पहचान करना और उसका निपटारा करना है.




इस कमेटी में समुदाय के लीडरों के साथ-साथ सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि, वकील, मीडिया, चिकित्सक, पुलिस और जनप्रतिनिधियों को भी शामिल किया गया है.



एनआईएनएसडब्ल्यू की अध्यक्ष कुसुम ने बताया कि यौनकर्मियों, ट्रांसजेंडर और एचआईवी के साथ जीवन जी रहे लोगों को सामाजिक तौर पर भेदभाव और हिंसा का शिकार होना पड़ता है. जिसके लिए जरूरी है कि समूहों के लोग अपने संवैधानिक हकों को पहचाने और हिंसा के खिलाफ आवाज़ उठाएं.




नेटवर्क के कोऑर्डिनेटर अमित ने बताया कि हमने इस कमेटी में समाज के गणमान्य लोगों को भी रखा है जिसका उद्देश्य समाज के विभिन्न वर्गों की मदद लेकर समाज को इस संवेदनशील और अधिकारों से वंचित समुदायों को सामाजिक समावेशीकरण करना है. ये कमेटी विभिन्न सरकारी विभागों से संपर्क करके वंचित समूहों तक सामाजिक सुरक्षा योजनाओं को भी पहुचाएगी.






सीएचडी के सुनील कुमार आलेडिया ने कहा कि आज यौनकर्मियों के मुद्दों को समाज की मुख्यधारा में लाने की जरूरत है ताकि उनको न्याय मिल पाए और हक प्राप्ति के रास्ते साफ हो पाए.




कार्यक्रम का आयोजन आल इंडिया नेटवर्क ऑफ सेक्स वर्कर (AINSW) और एलाइंस इंडिया के सहयोग से किया. कार्यक्रम में सेंटर फॉर होलिस्टिक डेवलपमेंट (सीएचडी), महिला एवं बाल विकास विभाग, दिल्ली एड्स नियंत्रण सोसाइटी, डीएलएसए के अधिकारियों ने भी शिरकत की.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज