दुकानदार ने प्लास्टिक की थैली में नहीं दिया सामान, गुस्साए ग्राहक ने पीट-पीटकर मार डाला

घटना उत्तर प्रदेश के संभल की है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

घटना उत्तर प्रदेश के संभल की है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मृतक के बेटे का आरोप है कि जब वो अपने पिता को पीटे जाने की एफआईआर दर्ज कराने संबंधित थाने गए तो उनकी एफआईआर दर्ज नहीं की गई. उन्होंने कहा कि अब जबकि पिटाई के चलते उनके पिता की मौत हो गई है तो भी पुलिस एफआईआर दर्ज नहीं कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 9:54 AM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने दो अक्टूबर को गांधी जयंती (Gandhi Jayanti) के अवसर पर सिंगल यूज प्लास्टिक (Single Use Plastic) इस्तेमाल न करने का नारा दिया था. उसके बाद से देश में सिंगल यूज प्लास्टिक को बैन करने का अभियान चल पड़ा. लेकिन दिल्ली (Delhi) में एक बेकरी कर्मचारी को कथित रूप से सिर्फ इस वजह से पीट-पीटकर मार डाला गया क्योंकि उसने पीएम मोदी के आह्वान पर ग्राहक को प्लास्टिक की थैली (Plastic Bag) में सामान देने से मना कर दिया था.

नेहरू नगर में 15 अक्टूबर को हुआ था विवाद

हैरान कर देने वाली यह घटना दिल्ली के नेहरू नगर इलाके की है. खलील बेकरी की दुकान पर 25 साल से काम करते थे. वो बिस्किट, केक और ब्रेड आदि सामान बेचते थे. खलील के 24 साल के बेटे कासिम ने बताया कि 15 अक्टूबर को पापा दुकान पर थे, इस दौरान एक ग्राहक वहां आया और उसने कुछ सामान लिया. जब पापा ने उसे हाथ में सामान देना चाहा तो उसने सामान ले जाने के लिए प्लास्टिक की थैली मांगी. इस पर पापा ने कहा कि वो अब प्लास्टिक नहीं रखते हैं. प्लास्टिक की थैली को बैन कर दिया गया है. अब तो प्रधानमंत्री मोदी ने भी कहा है कि इसका इस्तेमाल बंद कर दो.



दुकानदार खलील के मुंह से यह सुनते ही ग्राहक तैश में आ गया. उसने सबको गाली देना शुरु कर दिया. उसने पापा के साथ मारपीट शुरू कर दी. कासिम ने बताया कि आरोपी एक जवान और हट्टा-कट्टा शख्स था. मारपीट में पापा को गंभीर चोट आईं जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. यहां इलाज के दौरान 22 अक्टूबर को उन्होंने दम तोड़ दिया.

दिल्ली पुलिस पर FIR दर्ज न करने का आरोप

कासिम का आरोप है कि जब वो अपने पिता को पीटे जाने की एफआईआर दर्ज कराने संबंधित थाने गए तो उनकी एफआईआर दर्ज नहीं की गई. उन्होंने कहा कि अब जबकि पिटाई के चलते उनके पिता की मौत हो गई है तो भी पुलिस एफआईआर दर्ज नहीं कर रही है. वहीं पुलिस का कहना है कि मामले की जांच और आरोपी की गिरफ्तारी के लिए टीम बना दी गई है.

ये भी पढ़ें-

Kamlesh Tiwari ने हत्या से एक दिन पहले ट्विटर पर शेयर की थी 16 मंदिर-मस्जिदों के नाम वाली ये लिस्ट

कमलेश तिवारी मर्डर केस: नेपाल बॉर्डर तक पहुंच गए थे आरोपी, फिर इस कारण लौटे थे गुजरात

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज