लाइव टीवी

Lockdown: दिल्ली से यूपी पैदल निकले दिहाड़ी मजदूर, बोले- शहर नहीं छोड़ेंगे, तो भूख से मर जाएंगे
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 26, 2020, 11:37 AM IST
Lockdown: दिल्ली से यूपी पैदल निकले दिहाड़ी मजदूर, बोले- शहर नहीं छोड़ेंगे, तो भूख से मर जाएंगे
दिल्ली में काम करने वाले कई दिहाड़ी मजदूर उत्तर प्रदेश के अलग अलग जिलों में अपने घरों के लिए दिल्ली-गाजीपुर सीमा से पैदल ही निकल पड़े हैं.

लॉकडाउन (Lockdown) सभी ट्रांसपोर्ट (Transport) पर भी लागू है. ना ही ट्रेन चल रही है और ना ही बस, ऐसे में दिल्ली में रहने वाले यूपी के दिहाड़ी मजदूर पैदल ही अपने घर के लिए निकल पड़े.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 11:37 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जनता कर्फ्यू के बाद अब पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) देशभर में लॉकडाउन (Lockdown) का ऐलान कर चुके हैं. सभी को घरों में रहने की हिदायत दी गई है. लेकिन इसके साथ ही कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने अपने घर जाने के लिए निकल पड़े. हालांकि लॉकडाउन सभी ट्रांसपोर्ट पर भी लागू है. ना ही ट्रेन चल रही है और ना ही बस, ऐसे में दिल्ली में रहने वाले यूपी के दिहाड़ी मजदूर पैदल ही अपने घर के लिए निकल पड़े.

दिल्ली में काम करने वाले कई दिहाड़ी मजदूर उत्तर प्रदेश के अलग अलग जिलों में अपने घरों के लिए दिल्ली-गाजीपुर सीमा से पैदल ही निकल पड़े हैं. इनमें एक महिला ने कहा कि हमारे पास कोई पैसा नहीं बचा है क्योंकि हमें यहां कोई काम नहीं मिल रहा है. हम क्या खाएंगे? अगर हम शहर नहीं छोड़ेंगे, तो हम भूख से मर जाएंगे.



 #IndiaGives की मुहिम शुरू
इस समय देश कोरोना वायरस से जूझ रहा है और पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन है. ऐसे में उन लोगों के सामने खाने का संकट खड़ा गया हो गया है, जो रोज कमाकर अपना पेट भरते थे. ऐसे ही लोगों को खाना उपलब्ध कराने और उनकी मदद के लिए Network18 ने #IndiaGives की मुहिम शुरू की है. इसी मुहिम के तहत गुड़गांव के DLF 3 में 'जनता रसोई' नाम से कम्युनिटी सर्विस शुरू की गई है. यह सेवा अंबिका कपूर ने शुरू की है, जिसके जरिए गुड़गांव के दिहाड़ी मजदूरों को रोजाना खाना खिलाया जा रहा है. जनता रसोई के जरिए जहां पहले दिन 150 लोगों को खाना खिलाया गया, वहीं अगले ही दिन 300 लोगों को खाना खिलाया गया. वैसे जनता रसोई में एक दिन में 3000 लोगों के खिचड़ी तैयार की जा सकती है और जल्द ही जनता रसोई में 3000 पैकेट खिचड़ी बनाने का काम शुरू होगा.

सेनेटाइजेशन का रखा जा रहा ख्याल
रसोई में खाने बनाने से लेकर उसे बांटने और जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाने में जितने भी लोग लगे हैं, उनकी साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखा जाता है. किचन में किसी भी चीज का उपयोग करने से पहले हर चीज को सेनेटाइज किया जाता है. इसके अलावा सुबह काम शुरू करने से पहले सभी का हेल्थ चेकअप होता है और हर दो घंटे में हाथ धोने के नियम का कड़ाई से पालन हो रहा है.

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस: सभी नेशनल हाईवे पर फिलहाल नहीं लगेगा टोल, गडकरी का ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 11:11 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर