Home /News /delhi-ncr /

Delhi: आजाद हिंद फौज से देश के लिए लड़े मनोहर सिंह की बहू ने सरकार से मांगा आजीवन बकाया

Delhi: आजाद हिंद फौज से देश के लिए लड़े मनोहर सिंह की बहू ने सरकार से मांगा आजीवन बकाया

आजाद हिंद फौज से देश के लिए लड़े स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की बहू ने याचिका दायर कर केंद्र सरकार से आजीवन बकाया मांगा है.

आजाद हिंद फौज से देश के लिए लड़े स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की बहू ने याचिका दायर कर केंद्र सरकार से आजीवन बकाया मांगा है.

Delhi High Court News: दिल्ली हाई कोर्ट दाखिल याचिका में कहा गया है कि मनोहर सिंह की मृत्यु के बाद उनकी विधवा कलावती देवी को उक्त योजना के तहत पेंशन मिल रही थी, लेकिन 2015 में बिना कोई कारण बताए उनकी पेंशन रोक दी गई थी. अनपढ़ और लगभग 90 वर्ष की आयु होने के कारण वह इसका इंतजार करती रही लेकिन कभी कुछ नहीं हुआ.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने आजाद हिन्द फौज (Azad hind fauj) के स्वतंत्रता सेनानी (Freedom Fighter) की विधवा बहू की पेंशन व आजीवन बकाया राशि की मांग को लेकर याचिका पर केंद्र सरकार (Central Government) और भारतीय स्टेट बैंक (SBI) को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. ये नोटिस हाई कोर्ट ने आजाद हिंद फौज से देश के लिए लड़े मनोहर सिंह की बहू की याचिका पर जारी किया है. उनके ससुर मनोहर सिंह ने आजाद हिंद फौज यानि इंडियन नेशनल आर्मी (एनआईए) में काम किया था.

कोर्ट में दाखिल की गई याचिका में कहा गया है कि पेंशन रिकॉर्ड में विसंगतियों के कारण उसकी मृत सास को भुगतान नहीं किए गए. आजीवन बकाया को जारी करने का निर्देश दिया जाए. कोर्ट ने दिवंगत स्वतंत्रता सेनानी मनोहर सिंह व उनकी पत्नी कलावती देवी की बहू सुमन ‌द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिया है.

याचिका में बहू ने कहा उनके ससुर मनोहर सिंह ने आजाद हिंद फौज यानि इंडियन नेशनल आर्मी (एनआईए) में काम किया था. उनकी मौत के बाद उनकी पत्नी को 1972 से पेंशन मिल रही थी और 1अगस्त 1980 को स्वतन्त्रता सैनिक सम्मान पेंशन योजना के तहत सभी स्वतंत्रता सेनानियों को पेंशन का लाभ अवधि बढ़ा दी गई.

दाखिल याचिका के अनुसार, यह विवादित नहीं है कि मनोहर सिंह की मृत्यु के बाद उनकी विधवा कलावती देवी को उक्त योजना के तहत पेंशन मिल रही थी, लेकिन 2015 में बिना कोई कारण बताए उनकी पेंशन रोक दी गई थी. अनपढ़ और लगभग 90 वर्ष की आयु होने के कारण वह इसका इंतजार करती रही लेकिन कभी कुछ नहीं हुआ.

Tags: DELHI HIGH COURT, Delhi news, Freedom fighters

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर