होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

गैंगरेप को बढ़ावा दे रहा परफ्यूम का विज्ञापन, स्‍वाति मालीवाल ने की FIR दर्ज करने की मांग

गैंगरेप को बढ़ावा दे रहा परफ्यूम का विज्ञापन, स्‍वाति मालीवाल ने की FIR दर्ज करने की मांग

दिल्‍ली महिला आयोग की अध्‍यक्ष स्‍वाति मालीवाल ने परफ्यूम के विज्ञापन पर गैंगरेप को बढ़ावा देने को लेकर एफआईआर की मांग की है.

दिल्‍ली महिला आयोग की अध्‍यक्ष स्‍वाति मालीवाल ने परफ्यूम के विज्ञापन पर गैंगरेप को बढ़ावा देने को लेकर एफआईआर की मांग की है.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए कहा है कि ये विज्ञापन सामूहिक बलात्कार की संस्कृति को बढ़ावा देते हैं. उन्होंने इस मामले में सूचना एवं प्रसारण मंत्री को पत्र लिखा है और साथ ही दिल्ली पुलिस को नोटिस भी जारी किया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. दिल्ली महिला आयोग अध्यक्ष स्‍वाति मालीवाल ने केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री को पत्र लिखकर महिला विरोधी विज्ञापन के लिए एक परफ्यूम ब्रांड के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. वहीं इस मामले में दिल्ली पुलिस को भी नोटिस जारी किया है. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने टीवी पर चल रहे एक महिला विरोधी विज्ञापन के मामले में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर को पत्र लिखकर इसकी शिकायत की है और ब्रांड के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है.

    दिल्ली महिला आयोग की ओर से बताया गया कि उनके संज्ञान में एक परफ्यूम ब्रांड का विज्ञापन आया है जो बार-बार टीवी पर चलाया जा रहा है. उक्त विज्ञापन में एक लड़का और एक लड़की को एक बिस्तर पर बैठे हुए दिखाया गया है, तभी चार और लड़के कमरे में प्रवेश करते हैं. एक लड़का पूछता है, ‘शॉट मारा लगता है’, बिस्तर पर बैठा लड़का कहता है, हांमारा ना’ फिर पहला लड़का बोलता है ‘अब हमारी बारी’ और लड़की की ओर बढ़ता है. इस वार्तालाप को देख कर लड़की हैरान और असहज दिखाई देती है. इसके बाद, लड़का ‘शॉट’ नाम के एक बॉडी स्प्रे की एक बोतल उठाता है और लड़की राहत महसूस करती है जैसे वह अभी-अभी सामूहिक बलात्कार से बची है.

    इसी ब्रांड के एक अन्य विज्ञापन में चार लड़के एक स्टोर में एक लड़की का पीछा करते नजर आ रहे हैं. उसके ठीक पीछे खड़े होकर वो लड़के बातचीत कर रहे होते हैं, ‘हम चार, और ये एक! शॉट कौन लेगा!’ विज्ञापन में दिखाया गया है कि लड़कों की बातचीत से लड़की डर जाती है. फिर से, उसी तरह से, लड़का फिर ‘शॉट’ नामक बॉडी स्प्रे की एक बोतल उठाता है और लड़की राहत की सांस लेती है.

    दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए कहा है कि ये विज्ञापन सामूहिक बलात्कार की संस्कृति को बढ़ावा देते हैं. उन्होंने इस मामले में सूचना एवं प्रसारण मंत्री को पत्र लिखा है और साथ ही दिल्ली पुलिस को नोटिस भी जारी किया है. दिल्ली पुलिस साइबर क्राइम को भेजे गए नोटिस में आयोग अध्यक्ष ने एफआईआर दर्ज करने और विज्ञापनों को टीवी से हटाने की मांग की है. दिल्ली पुलिस को इस मामले में 9 जून 2022 तक की गई कार्रवाई की रिपोर्ट उपलब्ध कराने को कहा गया है.

    स्वाति मालीवाल ने अनुराग ठाकुर को लिखे अपने पत्र में मंत्रालय से इन विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगाने के लिए तत्काल कार्रवाई की मांग की है. साथ ही, उन्होंने माननीय मंत्री से ऐसी मजबूत व्यवस्था बनाने के लिए कहा है जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि बलात्कार संस्कृति को बढ़ावा देने वाले ऐसे गंदे विज्ञापन टीवी पर फिर कभी नहीं चलाए जाएं. उन्होंने कहा है कि विज्ञापन देने वाले इस ब्रांड पर भारी जुर्माना लगाया जाना चाहिए ताकि अन्य कंपनियां सस्ते प्रचार के लिए इस तरह की गंदी रणनीति अपनाने से परहेज करें.

    दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, ‘मैं हैरान हूं, हमारे टेलीविजन स्क्रीन पर कितने शर्मनाक और बाहियात विज्ञापन दिखाए जा रहे हैं. यह कौन सी रचनात्मकता है जो विषाक्त पुरुषत्व का इतना भयावह रूप हमारे सामने लाती है और सामूहिक बलात्कार की संस्कृति को प्रोत्साहित करती है. मामले में एफआईआर दर्ज होनी चाहिए, विज्ञापनों को बंद किया जाना चाहिए और इस कंपनी पर कठोरतम जुर्माना लगाया जाना चाहिए. दिल्ली पुलिस और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को बिना समय बर्बाद किए इस मामले में तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए.’

    Tags: Anurag thakur, FIR, Gangrape, Swati Maliwal

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर