दिल्ली महिला आयोग ने इस मामले में दिल्ली पुलिस को जारी किया नोटिस
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली महिला आयोग ने इस मामले में दिल्ली पुलिस को जारी किया नोटिस
पीड़िता को कोई नशीला पदार्थ दिया गया और उसके बाद कार में उसके साथ बलात्कार किया गया. (सांकेतिक फोटो)

दिल्ली महिला आयोग ने टैक्सी चालक द्वारा जेएनयू छात्रा के बलात्कार के मामले में दिल्ली पुलिस को नोटिस भेजा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 6, 2019, 3:44 PM IST
  • Share this:
दिल्ली महिला आयोग ने 21 वर्षीय जेएनयू छात्रा के साथ बलात्कार के मामले में दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है. आयोग ने मीडिया रिपोर्ट पर स्वतः संज्ञान लेते हुए यह कार्यवाही की. मीडिया खबरों के मुताबिक छात्रा ने अपने हॉस्टल जाने के लिए जो टैक्सी किराये पर ली, उसी के ड्राइवर ने उसके साथ बलात्कार किया. पीड़ित लड़की कानपुर की रहने वाली है और JNU में लैंग्वेज की छात्रा है.

खबरों में बताया गया कि पीड़िता को कोई नशीला पदार्थ दिया गया और उसके बाद कार में उसके साथ बलात्कार किया गया. इस दौरान ड्राइवर लगभग 3 घंटे तक गाड़ी घुमाता रहा और फिर लड़की को बेहोशी की हालत में एक पार्क में फेंक दिया गया. स्थानीय लोगों ने लड़की को बेहोशी की हालत में पार्क में पड़ा हुआ पाया.

दिल्ली महिला आयोग ने भेजा नोटिस
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा ने दक्षिणी जिले के पुलिस उपायुक्त को भेजे गए नोटिस में इस घटना पर चिंता व्यक्त की और इस मामले में दिल्ली पुलिस से जवाब मांगा है. आयोग ने दिल्ली पुलिस से मामले की विस्तृत रिपोर्ट, मामले में गिरफ्तारी की जानकारी और एफआईआर की कॉपी मांगी है. साथ ही पीसीआर कॉल और पुलिस द्वारा घटना स्थल पर पहुंचने के समय की जानकारी मांगी है.
आयोग ने तीन घंटे के दौरान टैक्सी द्वारा चले गए रास्ते का रूट मैप और इस दौरान इस रास्ते पर तैनात पुलिस पिकेट/चेकिंग पॉइंट/पीसीआर स्टेशन की जानकारी भी मांगी है. आयोग ने पुलिस को 9 अगस्त तक जवाब देने को कहा है.



करीब 12 बजे बुक की थी कैब
पीड़ित लड़की के बयान और FIR के आधार पर पुलिस कैब ड्राइवर की तलाश में जुटी. पुलिस का कहना है कि छात्रा शुक्रवार पंचकुइयां मार्ग स्थिति अपने एक दोस्त के घर आई थी. यहां से रात करीब 12 बजे उसने जेएनयू जाने के लिए कैब बुक की और इसी दौरान उसके साथ ये घटना हो गई.

ये भी पढ़ें-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने पर बोले राहुल- राष्ट्रीय सुरक्षा पर हो सकता है गंभीर खतरा

मंत्रियों को भी नहीं थी पीएम मोदी-अमित शाह की रणनीति की खबर, यूं खत्‍म किया आर्टिकल 370-35A
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज