दिल्ली: दिवाली से पहले 3 हजार संपत्तियों की खोली जाएगी Seal, BJP ने शुरू किया अभियान

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता (फाइल फोटो)
दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता (फाइल फोटो)

दिल्ली भाजपा (BJP) अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि लगभग 3,000 संपत्तियों को डी-सील किया जा रहा है और उनके प्रमाण पत्र भी दिए जा रहे हैं. 

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 5:45 PM IST
  • Share this:
दिल्ली.  दिल्ली भाजपा (BJP) अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने गुरुवार को डब्ल्यू जेड 123 टोडापुर गांव, मेन रोड की संपत्ति को डी-सील (De-Seal) कर दिल्ली में निगरानी समिति द्वारा सील की गई संपत्तियों को खुलवाने का अभियान शुरू किया. आदेश गुप्ता (Adesh Gupta) ने कहा कि आज बहुत ही खुशी का दिन है, क्योंकि भाजपा शासित तीनों नगर निगमों द्वारा निगरानी समिति द्वारा सील की गई संपत्तियों को डी-सील करने का अभियान आज से शुरू कर दिल्ली की जनता को बहुत बड़ी राहत दी गई है. उन्होंने बताया कि आज जब टोडापुर गांव की संपत्ति डी-सील की जा रही थी, तब संपत्ति के मालिक के चेहरे पर खुशी साफ झलक रही थी.

आदेश गुप्ता ने कहा कि नगर निगम को यह निर्देश दिए गए हैं कि दिवाली से पहले सभी सील की गई संपत्तियों को डी-सील किया जाए. अफसरशाही को कम करने के लिए एक जोन में जितनी भी संपत्तियां सील हुई है उसके लिए एक ही फाइल बनेगी और सारी संपत्तियां डी-सील होंगी. उन्होंने कहा कि पिछले सालों में निगरानी समिति द्वारा गलत तरीके से बहुत सी संपत्तियों को सील किया गया. उस समय प्रदेश अध्यक्ष रहे मनोज तिवारी के नेतृत्व में दिल्ली भाजपा ने लगातार अपना विरोध दर्ज कराया, जिसके कारण उन्हें सुप्रीम कोर्ट भी जाना पड़ा था. दिल्ली भाजपा लगातार दिल्ली के व्यापारियों, निवासियों के हितों के लिए संघर्ष करती आई है जिसका सुखद परिणाम है कि पूरी दिल्ली के अंदर तीनों नगर निगमों के अंतर्गत आने वाली लगभग 3,000 संपत्तियों को डी-सील किया जा रहा है और उनके प्रमाण पत्र भी दिए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: UP: चुनावी रंजिश में हवाई फायरिंग, जमकर चले लाठी-डंडे, दो पक्षों के खूनी संघर्ष में 18 जख्मी



बीजेपी ने कही ये बात
आदेश गुप्ता  ने कहा कि निगरानी समिति ने जब संपत्तियों को सील करने का काम शुरू किया था तो लोगों को बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ा थ. दिल्ली सरकार ने भी भाजपा शासित नगर निगम की छवि को खराब करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में सीलिंग के पक्ष में ही अपना बयान दर्ज कराया था. यह सोचकर राजनीति करते थे कि इसका खामियाजा भाजपा को भुगतना पड़ेगा, क्योंकि उन्हें उन लोगों की चिंता नहीं थी जिन्हें सीलिंग की वजह से अपने घर से, रोजगार से दूर होना पड़ा था. उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोगों के प्रति दिल्ली भाजपा की जो जिम्मेदारी है उसका निर्वहन करने के लिए जो मेहनत की गई है वह रंग लाई है और डी-सीलिंग का अभियान आज से शुरू हो चुका है. आने वाले समय में रोजगार की दिशा में व्यापारियों के लिए अच्छा अवसर आएगा और नगर निगम उसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा. उन्होंने बताया कि जिन लोगों की संपत्तियां डीसील हो रही है उसे दिल्ली भाजपा शुभकामना संदेश भी भेजेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज