COVID-19: केजरीवाल सरकार ने मौत की दरों का विश्लेषण करने के लिए बनाईं 4 कमेटी, मिले ये सुझाव
Delhi-Ncr News in Hindi

COVID-19: केजरीवाल सरकार ने मौत की दरों का विश्लेषण करने के लिए बनाईं 4 कमेटी, मिले ये सुझाव
पिछले सप्ताह ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने 4 समितियों का गठन किया था.

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कोरोना (Coronavirus) से हो रही मौतों को लेकर चार समितियों (Death Monitoring Committees) का गठन किया था. इन सभी ने बुधवार को दिल्ली सरकार (Delhi Government) को रिपोर्ट सौंप दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 5, 2020, 10:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पिछले दिनों दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कोरोना  (Coronavirus) से हो रही मौतों को लेकर चार समितियों (Death Monitoring Committees) का गठन किया था. इन सभी समितियों ने बुधवार को दिल्ली सरकार (Delhi Government) को रिपोर्ट सौंप दी है. इन समितियों ने सीएम केजरीवाल को दिल्ली के 10 बड़े अस्पतालों (Hospitals) में कोरोना मरीजों की सबसे अधिक मौतों को लेकर कई सुझाव दिए हैं. इस बीच केजरीवाल सरकार ने दावा किया है कि 16 जुलाई को ही दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग से दिल्ली के सभी अस्पतालों को एक चेकलिस्ट मिली थी, जिसके आधार पर काम करने के कारण ही दिल्ली में कोरोना से मौतों में भारी गिरावट आई है. अरविंद केजरीवाल की कोशिश है कि मौत को शून्य पर लाया जाए. इसके लिए कमिटियों ने 10 अस्पतालों का दौरा कर जांच की है. इसके बाद समितियों ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर मुख्यमंत्री को सौंपा है. इस रिपोर्ट में समितियों ने सभी अस्पतालों के बारे में अलग-अलग सुझाव दिए हैं, जिसे अब दिल्ली सरकार लागू करेगी.

समितियों ने सीएम अरविंद केजरीवाल को सौंपी रिपोर्ट
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को एक बार फिर से दोहराया कि कोरोना से मौत को शून्य पर लाने के लिए हर कदम उठाए जाएं. हालांकि इन सभी अस्पतालों में पहले के मुकाबले मौत की दर में कमी आई है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल स्वयं कोविड-19 मरीजों की निगरानी कर रहे हैं. मुख्यमंत्री की सीधी निगरानी के कारण ही मौतों की दर में कमी आई है. जिसके परिणाम स्वरूप बुधवार को दिल्ली में कोविड से पहले की अपेक्षा काफी कम 11 मौतें हुई हैं.

new plan in delhi against Corona, intensive care unit, ICU coronavirus News Update, Coronavirus, COVID 19, Coronavirus disease, every house in Delhi will be scanned, delhi government, arvind kejriwal, aiims, icu beds, lnjp hospital, rajiv gandhi hospital, gtb hospital, Covid 19, sero surveillance every month, amit shah, Coronavirus case in delhi, दिल्ली में कोरोना के मामले, कोविड रिसपांस प्लान, अरविंद केजरीवाल सरकार, सीरो सर्विलांस, कोरोना वायरस, एलएनजेपी अस्पताल, राजीव गांधी सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल, जीटीबी अस्पताल, आईसीयू बेड, 600 आईसीयू बेड बढ़ेंगे arvind kejriwal ICU beds availability in 3 major hospitals for covid 19 coronavirus patients delhi nodrss
केजरीवाल सरकार दिल्ली के तीन बड़े अस्पतालों में आईसीयू बेड की संख्या बढ़ाने का फैसला किया है.

सीएम ने डेथ को शून्य पर लाने के दिए निर्देश


पिछले सप्ताह ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने 4 समितियों का गठन किया था. सभी समितियों में 4-4 सदस्य थे. समिति में दो सदस्य मेडिसिन और दो सदस्य एनेस्थेसिया के विशेषज्ञ थे. इन चारों समिति को 10 अस्पतालों में कोविड मौतों के कारण का अध्ययन करने की जिम्मेदारी दी गई थी. साथ ही यह समितियों को आवंटित अस्पतालों में यह भी देखेने के लिए कहा गया था कि कोविड मरीजों के इलाज में मानकों और प्रोटोकॉल का पालन किया गया था या नहीं? समिति ने चेक लिस्ट के आधार पर सभी अस्पतालों का दौरा कर व्यवस्था का जायजा लिया. जिसकी विस्तृत रिपोर्ट बुधवार शाम मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सौंप दी. इस दौरान समिति की ओर से दिए गए सुझाव को लागू करने पर भी सहमति बनी है. समिति ने अलग-अलग अस्पतालों के लिए अलग-अलग सिफारिश की हैं.

समितियों द्वारा दिए गए सुझाव

जीटीबी अस्पताल
>>कोविड वार्डों को इलाज के लिए एचएफएनओ/बीआईपीएपी मशीनों से लैस किया जाना चाहिए.
>>बीमार मरीजों को वार्ड से आईसीयू में जल्दी शिफ्ट किया जाना चाहिए.
>>रोगी के इलाज में शुरुआती दौर में ही ठीक हुए मरीज प्लाज्मा का उपयोग बढ़ाना चाहिए.

सफदरजंग अस्पताल
>>शुरुआती चेतावनी स्कोर कार्डों का उपयोग किया जाना चाहिए, ताकि मरीजों का तत्काल पता लगाया जा सके और उन्हें वार्डों से क्रिटिकल एरिया में स्थानांतरित किया जा सके.
>>अधिक खतरे वाले मामलों को आईसीयू या एचडीयू में एन/एल अनुपात, क्यूएसओएफए, सूजन व जलन के चिन्हों व ट्रोप टी के शुरुआती संकेत पर स्थानांतरित किया जाना चाहिए.
>>दूसरी स्थिति में कोविड आईसीयू बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जा सकती है.

Helpline numbers of COVID 19 hospitals, delhi Corona app, arvind Kejriwal, दिल्ली कोरोना, Corona Virus, Delhi Government, arvind kejriwal, big hospitals in delhi, दिल्ली के सभी अस्पतालों का हेल्पलाइन नंबर, दिल्ली कोरोना एप, दिल्ली सरकार, दिल्ली सरकारों के अस्पतालों के हेल्पलाइन नंबर, Helpline numbers of COVID 19 hospitals available in delhi Corona app arvind Kejriwal nodrssदिल्ली के सभी कोविड-19 अस्पताल अब हेल्पलाइन नंबर पर भी लोगों को अस्पताल में बेड की स्थिति की जानकारी देंगे.
दिल्ली के सभी कोविड-19 अस्पताल अब हेल्पलाइन नंबर पर भी लोगों को अस्पताल में बेड की स्थिति की जानकारी देंगे.


लोक नायक अस्पताल
>>शुरुआती चेतावनी स्कोर कार्डों का उपयोग किया जाना चाहिए, ताकि मरीजों का तत्काल पता लगाया जा सके और उन्हें वार्डों से क्रिटिकल एरिया में स्थानांतरित किया जा सके.
>>अधिक खतरे वाले मामलों को आईसीयू या एचडीयू में एन/एल अनुपात, क्यूएसओएफए, सूजन व जलन के चिन्हों व ट्रोप टी के शुरुआती संकेत पर स्थानांतरित किया जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें: दिल्ली सरकार ने शुरू की DTC और क्लस्टर बसों में ई-टिकटिंग सेवा, ऐसे लें सकते हैं टिकट

सर गंगा राम अस्पताल
>> तदनुसार लंबे समय तक वेंटिलेशन और प्रबंधन पर मरीजों में जटिलताओं का शीघ्र पता लगाना चाहिए.

श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टीट्यूट व जयपुर गोल्डन अस्पताल
>>एचएफएनसी का प्रारंभिक अनुप्रयोग वांछनीय है और रोगी के स्वास्थ्य को ठीक करने में मदद करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज