दिल्ली : जेएनयू में 24 छात्रों समेत 27 कोरोना पॉजिटिव, जरूरत पड़ी तो खाली कराया जा सकता है कैंपस

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सख्ती बरती जा रही है. जेएनयू के उत्तरी गेट से ही आगंतुकों को प्रवेश दिया जाएगा.

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सख्ती बरती जा रही है. जेएनयू के उत्तरी गेट से ही आगंतुकों को प्रवेश दिया जाएगा.

जेएनयू प्रशासन ने कहा है कि हालात पर नजर रखी जा रही है. अगर स्थिति खराब हुई तो परिसर में तमाम गतिविधियां सीमित कर दी जाएंगी. जरूरत पड़ी तो परिसर भी खाली कराया जा सकता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते संक्रमण के बीच खबर आई है कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्याल (JNU) में 24 छात्रों समेत कुल 27 लोग कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) हैं. इसके बाद JNU प्रशासन ने बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर कैंपस के लिए कई दिशा निर्देश जारी किए हैं. उसने कहा है कि कैंपस के भीतर हर जगह कोरोना नियमों का सख्ती से पालन किया जाए. आदेश में सुरक्षा विभाग को अधिक चौकस रहने की हिदायत दी गई है. साथ 45 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए प्रोत्साहित करने का अभियान चलाने का आदेश जारी किया गया है. जेएनयू प्रशासन ने कहा है कि हालात पर नजर रखी जा रही है. अगर स्थिति खराब हुई तो परिसर में तमाम गतिविधियां सीमित कर दी जाएंगी. यहां आने-जाने वालों की संख्या कम भी कराई जा सकती है. जरूरत पड़ी तो परिसर खाली कराया जा सकता है. विश्वविद्यालय ने आदेश जारी करके कहा कि । आदेश में सुरक्षा विभाग अधिक चौकस रहने की हिदायत दी है। साथ 45 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेशन के प्रोत्साहित करने का अभियान चलाने का आदेश जारी किया गया है

कोविड गाइडलाइन का पालन सख्ती से

जेएनयू प्रशासन के दिशा निर्देश के मुताबिक, कैंपस के भीतर पब्लिक प्लेस पर मास्क पहनना जरूरी कर दिया गया है. अगर कोई छात्र या वहां का कोई शख्स सार्वजनिक स्थान पर बिना मास्क का दिखा तो सिक्युरिटी के लोग मास्क न पहने लोगों के फोटो खींचकर उनपर उचित कार्रवाई कर सकते हैं. कैंपस के भीतर बनी तमाम दुकानों को कोविड गाइडलाइन का पालन करना होगा. अगर कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करते हुए किसी भी दुकानदार को पकड़ा जाता है तो उसपर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

आगंतुकों का प्रवेश सिर्फ उत्तरी गेट से
जेएनयू प्रशासन ने तय किया है कि जेएनयू कैंपस में सिर्फ उत्तरी गेट से ही आगंतुकों को प्रवेश मिलेगा. इस फैसले से कोरोना गाइडलाइन का पालन करवाने में सहूलियत होगी. ध्यान रहेगा कि कितने विजटर जेएनयू आ रहे हैं. जेएनयू प्रशासन ने कैंपस के सभी सभी वॉर्डन को सजग रहने को कहा है. प्रशासन के दिशा-निर्देश के मुताबिक, यह वॉर्डन की जिम्मेवारी है कि वे अपने-अपने हॉस्टलों में कोविड गाइडलाइन का पालन करवाएं. आपको बता दें कि जेएनयू में अबतक कुल 281 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं और इनमें से 5 मौत हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज