Delhi Air Pollution: दिल्ली की हवा फिर हुई जहरीली, रात 10 बजे के बाद AQI पहुंचा 406 पर

 दिल्ली का 24 घंटे का औसत एक्यूआई शनिवार, शुक्रवार, बृहस्पतिवार, बुधवार और मंगलवार को क्रमश: 337, 357, 423, 433, और 418 दर्ज किया गया था.  (सांकेतिक फोटो)

दिल्ली का 24 घंटे का औसत एक्यूआई शनिवार, शुक्रवार, बृहस्पतिवार, बुधवार और मंगलवार को क्रमश: 337, 357, 423, 433, और 418 दर्ज किया गया था. (सांकेतिक फोटो)

क्षेत्रीय मौसम विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव (Kuldeep Shrivastava) ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ की वजह से पड़ोसी इलाकों में हल्की बारिश हुई है जिसकी वजह से हवा में नमी बढ़ी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) की वायु गुणवत्ता (AQI) एक बार फिर रविवार को ‘गंभीर’ श्रेणी में चली गई. मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, यह स्थिति आसपास के इलाकों में हल्की बारिश (Rain) की वजह से अधिक नमी होने से हुई है, क्योंकि प्रदूषक भारी होकर सतह के ऊपर जमा हो गए. दिल्ली का 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 396 था जो ‘बेहद खराब’ श्रेणी में आता है. हालांकि, रात 10 बजे के बाद स्थिति में बदलाव आया और एक्यूआई बढ़कर 406 हो गया.

उल्लेखनीय है कि दिल्ली का 24 घंटे का औसत एक्यूआई शनिवार, शुक्रवार, बृहस्पतिवार, बुधवार और मंगलवार को क्रमश: 337, 357, 423, 433, और 418 दर्ज किया गया था. बता दें कि शून्य से 50 के बीच एक्यूआई ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच एक्यूआई ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच एक्यूआई ‘सामान्य’ 201 और 300 के बीच एक्यूआई ‘खराब’, 301 और 400 के बीच एक्यूआई ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच एक्यूआई ‘गंभीर’ की श्रेणी में आता है.



आंशिक सुधार देखने को मिलेगा
क्षेत्रीय मौसम विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ की वजह से पड़ोसी इलाकों में हल्की बारिश हुई है जिसकी वजह से हवा में नमी बढ़ी है. उन्होंने कहा, ‘‘हवा में मौजूद पानी की बूंदे प्रदूषकों को और भारी बना देती है जिससे मध्यम गति से हवा बहने के बावजूद वे आसानी से नहीं बिखरते हैं.’’ श्रीवास्तव ने कहा कि दिन में इस स्थिति में आंशिक सुधार देखने को मिलेगा.


501 से 1000 के बीच दृश्यता होने पर कोहरे को ‘हल्का’ माना जाता है



वहीं, बीते 24 दिसंबर को भारत मौसम विज्ञान विभाग ने बताया था कि दिल्ली में घना कोहरा छाने से बृहस्पतिवार सुबह कई इलाकों में दृश्यता घटकर 100 मीटर रह गई. सफदरजंग वेधशाला में न्यूनतम तापमान 4.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा, पालम इलाके में छाये घने कोहरे के कारण सुबह साढ़े पांच से आठ बजे के बीच दृश्यता घटकर 100 मीटर रह गई. मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार शून्य से 50 मीटर के बीच दृश्यता होने पर कोहरा बेहद घना, 51 से 200 मीटर के बीच ‘घना’, 201 से 500 के मीटर के बीच ‘मध्यम’ और 501 से 1000 के बीच दृश्यता होने पर कोहरे को ‘हल्का’ माना जाता है.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज