Home /News /delhi-ncr /

Delhi Air Pollution: दिल्ली में सांस लेना हुआ दूभर, बहुत खराब श्रेणी में पहुंची वायु गुणवत्ता

Delhi Air Pollution: दिल्ली में सांस लेना हुआ दूभर, बहुत खराब श्रेणी में पहुंची वायु गुणवत्ता

मौसम विभाग ने रविवार शाम या रात तक आंशिक तौर पर बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने का अनुमान जताया है. ( सांकेतिक फोटो)

मौसम विभाग ने रविवार शाम या रात तक आंशिक तौर पर बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने का अनुमान जताया है. ( सांकेतिक फोटो)

Delhi Air Pollution: मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, सुबह साढ़े आठ बजे हवा में नमी का स्तर 95 प्रतिशत दर्ज किया गया, जबकि अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहने का अनुमान है. मौसम विभाग ने रविवार शाम या रात तक आंशिक तौर पर बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने का अनुमान जताया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी में वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) रविवार को बहुत गंभीर श्रेणी में दर्ज किया गया. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली (Delhi) में एक्यूआई 305 दर्ज किया गया. फरीदाबाद (Faridabad) में एक्यूआई 296, गाजियाबाद में 288, गुरुग्राम में 174 और नोएडा में एक्यूआई 273 दर्ज किया गया.  शून्य से 50 के बीच एक्यूआई को ’अच्छा’, 51 से 100 ’संतोषजनक’, 101 से 200 ’मध्यम’, 201 से 300 ’खराब’, 301 से 400 ’बहुत खराब’ और 401 से 500 तक के एक्यूआई को ’गंभीर’ माना जाता है.

    भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक, दिल्ली में न्यूनतम तापमान रविवार को मौसम के सामान्य से दो डिग्री अधिक 11.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, सुबह साढ़े आठ बजे हवा में नमी का स्तर 95 प्रतिशत दर्ज किया गया, जबकि अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहने का अनुमान है. मौसम विभाग ने रविवार शाम या रात तक आंशिक तौर पर बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने का अनुमान जताया है.

    बिखराव को हल्की फुहारों से रोकेंगी
    वहीं, आज सुबह खबर सामने आई थी कि दिल्‍ली में वायु प्रदूषण का स्‍तर अभी भी बढ़ा हुआ है, जिसके चलते लोगों को कई दिक्‍कतों का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि वायु प्रदूषण से बचाव को लेकर दिल्‍ली मेट्रो एंटी स्‍मॉग गन का इस्‍तेमाल करने जा रहा है. दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन अपनी कंस्ट्रक्शन साइटों पर प्रदूषण से बचाव के विभिन्न उपायों के रूप में 14 एंटी स्मॉग गनों का इस्तेमाल कर रहा है, जो समय-समय पर निर्माण कार्यों से उत्पन्न होने वाले धूल-कणों के वातावरण में बिखराव को हल्की फुहारों से रोकेंगी.

    परियोजनाओं के 12 सिविल कॉन्ट्रैक्ट चल रहे हैं
    डीएमआरसी के मुताबिक, इस समय फेज-IV के साथ-साथ राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में दिल्ली मेट्रो की कुछ अन्य निर्माण परियोजनाओं के 12 सिविल कॉन्ट्रैक्ट चल रहे हैं. ये आधुनिकतम एंटी स्मॉग गनें 70 से 100 मीटर की दूरी तक हल्की फुहारें छोड़ने में कारगर हैं ऐसे में एक एंटी स्मॉग गन 20,000 वर्ग मीटर के क्षेत्र के लिए पर्याप्त मानी जाती है.

    (इनपुट- भाषा)

    Tags: Air pollution, Delhi air pollution, Delhi news, Delhi-ncr

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर