Delhi Air Pollution: दिल्ली में कूड़ा-पराली जलाने वालों पर वॉर-रूम से नजर रखेगी सरकार, सूचना मिलते ही दौड़ेगी टीम

पराली जलाने वालों परअब 24 घंटे निगाह रखी जाएगी इस वॉर रूम के जरिए.
पराली जलाने वालों परअब 24 घंटे निगाह रखी जाएगी इस वॉर रूम के जरिए.

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण (Delhi Air Pollution) के स्तर पर नज़र रखने के लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने वॉर-रूम तैयार किया है.. इसके जरिये प्रदूषण को नियंत्रित करने को लेकर किए गए सरकार के उपायों पर निगरानी रखी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 6:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोनाकाल में लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से साफ हुई दिल्ली की हवा फिर खराब (Delhi Air Pollution) होने लगी है. पिछले कुछ दिनों में पराली (Stubble) जलने या कूड़ा जलाने की खबरें आईं, तो राजधानी में प्रदूषण का स्तर और बढ़ गया. इसके बाद अब दिल्ली सरकार (Delhi Govt) ने वायु प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए एक वॉर-रूम (War Room) बनाया है. दिल्ली में प्रदूषण रोकने के लिए बने नियमों को कौन-कहां तोड़ रहा है. किस इलाके में वायु प्रदूषण कितने पीएम स्तर पर है, कहां कूड़ा और पराली जल रही है, इस वॉर-रूम से इन गतिविधियों पर निगाह रखी जाएगी. आज दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Environment Minister Gopal Rai) ने वॉर-रूम की शुरुआत की.

वॉर रूम से पता चलेगा 13 हॉटस्पॉट का प्रदूषण
इस वॉर-रूम में 10 लोगों की टीम होगी, जो निगरानी करेगी. पॉल्यूशन ऐप (Pollution App) पर आने वाली शिकायतों की निगरानी भी यहीं होगी. वॉर रूम में तीन बड़ी स्क्रीन लगाई गई हैं. पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने वॉर रूम का फीता काटते हुए कहा, एक स्क्रीन पर रियल टाइम डेटा यानी अलग-अलग इलाक़ों में पीएम-10, पीएम-2.5 का क्या स्थिति है ये देख सकते है. दूसरी स्क्रीन पर दिल्ली के 13 हॉटस्पॉट की करंट स्थिति दिखायी जाएगी. हॉटस्पॉट वो जगहें हैं जहां प्रदूषण का स्तर सबसे ज्यादा होता है.

Delhi Air Pollution, war room, garbage, parali is burning, Delhi, cm arvind kejriwal, nasa, isro, दिल्ली वायु प्रदूषण, युद्ध कक्ष, कचरा, पराली जल रही है, दिल्ली, सेमी अरविंद केजरीवाल, नासा
दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर निगाह रखने के लिए यह वॉर रूम बनाया गया है.

Video Viral होते ही अब ‘बाबा का ढाबा’ पर जुटने लगी इतनी भीड़ कि संभालना हुआ मुश्किल, जानें क्यों



नासा-इसरो की भी मिलेगी मदद
वॉर-रूम में एक स्क्रीन पर अमेरिकी अंतिरक्ष एजेंसी नासा (NASA) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ISRO के सैटेलाइट की मदद से दिल्ली और आसपास के राज्यों में पराली या कूड़ा जलाने की स्थिति पर निगरानी रखी जा सकेगी. दिल्ली में कूड़ा और पराली जलाए जाने की तस्वीरें मिलते ही नियमों की निगरानी के लिए बनी टीमों को अलर्ट कर दिया जाएगा. टीम मौके पर जाकर उसकी रोकथाम करेंगी. इस वॉर रूम में 10 लोगों की टीम हर वक्त ये सभी चीजें मॉनीटर करेंगी.

ये भी पढ़ें-जानिए भारत में बिकने वाले सबसे महंगे अंडे के बारे में, इसे खरीदने के लिए करानी होती है बुकिंग

ऐसे सुनी जाएंगी ऐप पर आने वाली शिकायतें
वॉर-रूम के ज़रिये उन शिकायतों पर भी काम किया जाएगा जो ग्रीन दिल्ली ऐप के ज़रिये मिलेंगी. इस वॉर-रूम से ये सभी शिकायतें संबंधित एजेंसी के पास ऑटोमैटिक चली जाएगी और वॉर-रूम एजेंसी से संपर्क कर उसका निपटारा भी कराएगा.

Delhi Air Pollution, war room, garbage, parali is burning, Delhi, cm arvind kejriwal, nasa, isro, दिल्ली वायु प्रदूषण, युद्ध कक्ष, कचरा, पराली जल रही है, दिल्ली, सेमी अरविंद केजरीवाल, नासा
दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर निगाह रखने के लिए यह वॉर रूम बनाया गया है.


वॉर-रूम का उद्घाटन करने के बाद पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए 5 अक्टूबर से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ‘युद्ध, प्रदूषण के विरुद्ध’ अभियान शुरू किया है. ये पूरा अभियान बिना आम लोगों के सहयोग के संभव नहीं है. दिल्ली के अंदर अलग-अलग जो एजेंसियां है, उन सभी लोगों को कोऑर्डिनेट करने के लिए एक केंद्रीकृत वार रूम दिल्ली सचिवालय में शुरू किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज