Air Pollution: दिल्ली में हवा हुई और जहरीली, कुछ इलाकों में प्रदूषण 'गंभीर', सोमवार को रहेगा ऐसा हाल

दिल्ली (Delhi) का वायु प्रदूषण (Air Pollution) भारत के सबसे खराब शहरों के प्रदूषण में से एक है.
दिल्ली (Delhi) का वायु प्रदूषण (Air Pollution) भारत के सबसे खराब शहरों के प्रदूषण में से एक है.

Delhi AQI:दिल्ली में वायु प्रदूषण (Air Pollution) बेहद खराब श्रेणी में पहुंच गया है. जबकि रविवार की की शाम दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) 349 रिकॉर्ड किया गया. हालांकि सोमवार को कुछ राहत मिल सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 5:56 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi)की वायु गुणवत्ता रविवार को भी 'बेहद खराब' श्रेणी में बरकरार रही, लेकिन 26 अक्टूबर से इसमें थोड़ा सुधार होने की उम्मीद है. सरकारी एजेंसियों ने यह जानकारी दी. जबकि रविवार को शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) 349 दर्ज किया गया. यही नहीं, पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता निगरानी प्रणाली ‘सफर’ ने कहा है कि सोमवार को वायु गुणवत्ता में सुधार होने का अनुमान है.

यहां रहे हालात बेहद खराब
अधिकारियों ने कहा कि रविवार सुबह मुंडका, आनंद विहार, जहांगीरपुरी, विवेक विहार और बवाना जैसे इलाकों में वायु प्रदूषण का स्तर 'गंभीर' रहा, लेकिन शाम होने तक मुंडका और विवेक विहार का एक्यूआई 'बेहद खराब' श्रेणी में आ गया. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता निगरानी प्रणाली ‘सफर’ ने कहा है कि अगले दो दिनों तक एक्यूआई का स्तर 'बेहद खराब' रहने का अनुमान है लेकिन इस दौरान स्थिति और बिगड़ने की आशंका नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि धीरे-धीरे हवा के रफ्तार पकड़ने से स्थिति बेहतर होती चली जाएगी. इसके साथ सफर ने कहा कि सोमवार को वायु गुणवत्ता में सुधार होने का अनुमान है. एजेंसी ने कहा कि मौजूदा स्थिति में 26 अक्टूबर तक कुछ सुधार होने की उम्मीद है. उसने कहा कि पराली जलाए जाने के मामलों की संख्या शुक्रवार को 1,292 जबकि शनिवार को यह कम होकर 867 रही. आपको बता दें कि इससे पहले शनिवार को दिल्ली का एक्यूआई 346 और उससे एक दिन पहले 366 रहा था.

यह प्रदूषण का पैमाना
उल्लेखनीय है कि 0 और 50 के बीच एक्यूआई को 'अच्छा', 51 और 100 के बीच 'संतोषजनक', 101 और 200 के बीच 'मध्यम', 201 और 300 के बीच 'खराब', 301 और 400 के बीच 'बेहद खराब' और 401 से 500 के बीच 'गंभीर' माना जाता है.





'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ'
इस बीच, दिल्ली सरकार ने प्रदूषण को कम करने के अभियान 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' की भी शुरुआत की है और इसको लेकर जागरूक करने के वास्ते शहर भर के 100 यातायात सिग्नल पर 2,500 पर्यावरण मार्शल तैनात किए गए हैं. यह अभियान सभी 70 विधानसभाओं में 26 अक्टूबर से चलाया जाएगा और 15 नवंबर तक सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक जारी रहेगा.

सरकार ने किया ये दावा
बता दें कि पिछले सप्ताह दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय का एक बयान सामने आया था, जिसमें उन्होंने दिल्ली में वायु प्रदूषण को रोकने के लिए तमाम इंतजाम किए जाने की बात कही थी. इसके साथ ही उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में ऑड-ईवेन सिस्टम को लागू करने को ही प्रदूषण रोकने का अंतिम हथियार बताया था. इसके बाद से ही अनुमान लगाए जा रहे हैं कि दिल्ली में कभी भी ये सिस्टम लागू किया जा सकता है. बता दें कि पूर्व में दो बार लागू ये सिस्टम प्रदूषण को रोकने में कारगर साबित हुआ था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज