DELHI AIRPORT: डायल लांच करेगा ‘एयर सुविधा’ पोर्टल, क्‍वारंटाइन से छूट दिलाने में बनेगा मददगार
Delhi-Ncr News in Hindi

DELHI AIRPORT: डायल लांच करेगा ‘एयर सुविधा’ पोर्टल, क्‍वारंटाइन से छूट दिलाने में बनेगा मददगार
एयर बबल की स्‍थापना के बाद दिल्‍ली एयरपोर्ट से इंटरनेशल पैसेंजर के आवागामन बढ़ने की संभावना है. (फाइल फोटो)

वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) के जरिए भारत (Indian) लाए जा रहे भारतीयों (Indian) की मदद के लिए डायल (DIAL) ने यह विशेष पोर्टल (Portal) तैयार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 7, 2020, 2:24 PM IST
  • Share this:

नई दिल्‍ली. वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) के तहत भारत लाए जा रहे भारतीयों की मदद के लिए दिल्‍ली एयरपोर्ट (Delhi Airport) ने एक विशेष पोर्टल (Portal) ‘एयर सुविधा’ (Air Suvidha) तैयार किया है. इस पोर्टल की मदद से मुसाफिर न केवल अपना सेल्‍फ डिक्‍लेरेशन (Self Declaration) फार्म बिना परेशानी के भर सकेंगे, बल्कि अनिवार्य क्‍वारंटाइन (Quarantine) प्रक्रिया से छूट पाने के लिए आवेदन भी सकेंगे. आवेदन स्‍वीकृत होने पर इसी पोर्टल के माध्‍यम से मुसाफिरों को जानकारी भी उपलब्‍ध कराई जा सकेगी. मुसाफिरों की मदद के लिए एयर सुविधा पोर्टल को 8 अगस्‍त को लांच किया जाएगा. जिससे बाद, विदेश से आने वाले सभी मुसाफिर इस एयर सुविधा पोर्टल का लाभ ले सकेंगे.


मंत्रालय और राज्‍य सरकारों की मदद से तैयार हुआ पोर्टल
डायल (DIAL) के सीईओ विदेह कुमार जयपुरियार (CEO Videha Kumar Jaipuriar) ने बताया कि ऑनलाइन फॉर्म को नागरिक विमानन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation), स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और दिल्ली, उत्तर-प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, हरियाणा, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश सहित विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारों के सहयोग से विकसित किया गया है. विमानन मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार यह सुविधा 8 अगस्त 2020 से विदेशों से आने वाले सभी यात्रियों के लिए उपलब्ध होगी. उन्‍होंने बताया कि एयर सुविधा शुरू होने के बाद मुसाफिरों को सहूल‍ियत मिलेगी, साथ ही उनका हृयूमन इंटरैक्‍शन भी कम होगा.


इन 5 श्रेणियों में आने वाले मुसाफिरों को मिलेगी क्‍वारंटाइन से छूट
अनिवार्य क्‍वारंटाइन प्रक्रिया से छूट के लिए पांच श्रेणियां निर्धारित की गई हैं. पहली श्रेणी में, गर्भवती महिलाएं को शामिल किया गया है. वहीं, दूसरी श्रेणी में गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीजों को शामिल किया गया है. तीसरी कैटेगरी में 10 साल से कम उम्र के बच्चों के साथ आने वाले माता-पिता को शामिल किया गया है. चौथी कैटेगरी के अंतर्गत हाल ही में आरटी-पीसीआर टेस्ट में  कोरोना निगेटिव पाया गया है. यहां यह साफ किया गया है कि कोविड-19 टेस्‍ट 96 घंटे से अधिक पुराना नहीं होना चाहिए. वहीं, पाचवीं कैटेगरी में उन मुसाफिरों को शामिल किया गया है, जिनके घर में किसी की मृत्‍यु हो गई है. यहां उल्‍लेखनीय है कि टिकटों का आरक्षण करते समय यात्रियों को इस बात की जानकारी एयरलाइंस को भी देनी होगी.

72 घंटे पहले उपलब्‍ध कराने होंगे आवश्‍यक दस्‍तावेज


दिल्‍ली एयरपोर्ट के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, 5 विशिष्ट श्रेणियों के अंतर्गत छूट मांगने वाले यात्रियों को दिल्‍ली एयरपोर्ट की वेबसाइट www.newdelhiairport.in पर उपलब्ध ई-फॉर्म भरना होगा. उन्हें यह उनकी फ्लाइट पकड़ने से कम से कम 72 घंटों पहले उनके पासपोर्ट की कॉपी सहित आवश्‍यक दस्तावेज़ों के साथ जमा करना होग. हालांकि सेल्‍फ डिक्लेरेशन फॉर्म भरने वाले यात्रियों के लिए ऐसी कोई भी समय सीमा नहीं है. उन्‍होंने बताया कि एयर सुविधा की मदद से मुसाफिर एक ही जानकारी बार-बार अलग-अलग विभागों को नहीं देनी होगी. एक बार पोर्टल में जानकारी दाखिल करने के बाद, वह स्‍वत: सभी विभागों के पास पहुंच जाएगी. उन्‍होंने बताया कि ऑनलाइन पोर्टल में पिछली एप्‍लीकेशन के नंबर का इस्तेमाल करते हुए दूसरी एप्‍लीकेशन को ऑटोफिल करने का स्मार्ट विकल्प मौजूद है.

ई-मेल पर मिल जाएगा एप्‍लीकेशन का फाइनल स्‍टेटस
डायल के अधिकारी के अनुसार, सभी आवेदकों को आगमन के पहले ही पोर्ट के आधार पर संबंधित राज्य सरकार को स्‍वत: रूप से भेज दिए जाएंगे. उसी तरह सभी सेल्फ डिक्लेरेशन आवेदन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत एयरपोर्ट स्वास्थ्य कार्यालय (एपीएचओ) को भेज दिए जाएंगे. विशिष्ट आधार पर छूट अनुरोध स्वीकार या रद्द किए जाने की एक कॉपी यात्रियों को ईमेल कर दी जाएगी. जिन लोगों को अनिवार्य क्वारंटाइन से छूट प्रदान की गई है, वे एयरपोर्ट पर पहुंचने के बाद इसे ट्रांसफर एरिया में दिखा सकते हैं और बिना किसी परेशानी के एयरपोर्ट के बाहर आ सकते हैं. यह प्रक्रिया ना सिर्फ उन यात्रियों के लिए मदद करेगी, जो क्‍वारंटाइन से छूट चाहते हैं, बल्कि अधिकारियों को भी अपेक्षित औपचारिकता तेज़ी से पूरी करने में और एयरपोर्ट के आगमन हॉल में भीड़ कम करने में भी सहायता करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज