हवाई सेवा फिर शुरू करने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पर होंगे ये 15 बदलाव, यात्रियों को इन बातों का रखना होगा ध्यान
Delhi-Ncr News in Hindi

हवाई सेवा फिर शुरू करने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पर होंगे ये 15 बदलाव, यात्रियों को इन बातों का रखना होगा ध्यान
. (फाइल फोटो)

दिल्‍ली एयरपोर्ट (Delhi Airport) पर अब ऐसे 15 पॉइंट्स को चिन्हित किया गया है, जिन्हें सेनेटाइज करने के बाद कोरोना (Corona) के संक्रमण को रोका जा सकता है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली: दिल्‍ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट (Indira Gandhi International Airport) से फ्लाइट ऑपरेशन बहाल करने को लेकर कवायद तेज हो गई है. फिलहाल, एयरपोर्ट से फ्लाइट ऑपरेशन शुरू करने में सबसे बड़ी अड़चन कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण है. इस अड़चन को दूर करने के लिए दिल्‍ली एयरपोर्ट की संचालक संस्‍था दिल्‍ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (Delhi International Airport Limited) ने एक खाका तैयार है. इस खाके में एयरपोर्ट के उन पॉइंट्स की पहचान की गई है, जहां पर एयरपोर्ट कर्मी, मुसाफिर और उनकी सहूलियतों से जुड़ी चीजें एक-दूसरे के संपर्क में आते हैं. इस कवायद के तहत, 15 ऐसी जगह तलाशी गई हैं जिन्हें डिस्‍इंफेक्ट करने के साथ ही कोरोना के संक्रमण से काफी हद तक बचा जा सकता है. आइए आपको सिलसिलेवार बताते हैं कि वह कौन से प्‍वाइंट जहां पर कोरोना वायरस संक्रमण के फैलने की सबसे ज्‍यादा संभावनाए हैं और इनको किस तरह सुरक्षित बनाया गया है.

टर्मिनल 4 कोर्ट एरिया में लगाई गई डिसइनफेक्‍टेंट टनल
एयरपोर्ट पहुंचने के बाद मुसाफिर सबसे पहले बैगेज ट्राली के संपर्क में आते हैं. वह अपना सामान बैगेज ट्राली में रखकर उसके हैंडल को पकड़ते है. लिहाजा, सबसे पहले बैगेज ट्रॉली के हैंडल से संक्रमण एक मुसाफिर से दूसरे मुसाफिर में फैलने की आशंका नजर आती है. इस समस्‍या के निराकरण के लिए डायल ने फोरकोर्ट एरिया में एक डिसइनफेक्‍टेंट टनल बनाई गई है. जिसकी मदद से सभी बैगेज ट्रॉली को इस्‍तेमाल से पहले डिसइनफेक्‍ट किया जाएगा. यहां से मुसाफिर टर्मिनल के गेट पर पहुंचते हैं. जहां पर अक्‍सर दस्‍तावेजों की जांच के लिए लंबी कतारें लगती हैं. यहां पर मुसाफिरों के बीच सोशल डिस्‍टेंसिंग बनाए रखने के लिए मार्किंग की गई है. वहीं दस्‍तावेजों की जांच से पहले मुसाफिरों की थर्मल स्‍क्रीनिंग की व्‍यवस्‍था की गई है. इसके अलावा, टर्मिनल गेट पर दस्‍तावेजों की जांच कर रहे मुसाफिरों को सेनेटाइजर उपलब्‍ध कराया गया है. जिससे वह हर दस्‍तावेज की जांच के बाद अपने हाथ सैनिटाइज कर सकें.

यह भी पढ़ें: Lockdown 3.0: सावधान! घर से निकलते ही आपके मोबाइल में इस खास एप की हो सकती है तलाश
बैगेज ट्रॉली को सैनिटाइज करने के लिए आईजीआई एयरपोर्ट के बाहर लगाई गई डिसइनफेक्‍शन टनल.
बैगेज ट्रॉली को सैनिटाइज करने के लिए आईजीआई एयरपोर्ट के बाहर लगाई गई डिसइनफेक्‍शन टनल.




हर एयरलाइंस के लिए अगल गेट और चेक इन काउंटर का निर्धारण
सोशल डिस्‍टेंसिंग के पहलू को ध्‍यान में रखते हुए एयरपोर्ट पर हर एयरलाइंस के लिए अलग गेट और चेक-इन काउंटर का निर्धारण किया गया है. जिसमें तहत, विस्‍तारा और इंडिगो एयरलाइंस के मुसाफिर गेट संख्‍या 1 और 2 से टर्मिनल बिल्डिंग में प्रवेश कर सकेंगे. विस्‍तारा एयरलाइंस के लिए A रो में मौजूद चेक-इन काउंटर निर्धारित किए गए है. इसी तरह, इंडिगो एयरलाइंस के मुसाफिर B और C रो स्थिति चेक-इन काउंटर से अपना बोर्डिंग पास हासिल कर सकेंगे. वहीं, एयर एशिया और एयर इंडिया के मुसाफिर गेट संख्‍या 3 और 4 से प्रदेश कर क्रमश: D और E-F रो स्थिति चेकइन काउंटर से अपना चेक-इन करा सकेंगे. स्‍पाइस जेट और गो एयरलाइंस सहित अन्‍य घरेलू उड़ानों के मुसाफिर टर्मिनल में दाखिल होने के लिए गेट नंबर 5 का इस्‍तेमाल करेंगे और G और H रो से अपना चेक-इन कराएंगे. वहीं अंतरराष्‍ट्रीय यात्रा पर जाने वाले मुसाफिरों के लिए गेट संख्‍या 6 से 8 तक निर्धारित किए गए हैं. इस सभी गेट और चेक-इन काउंटर को समय-समय पर सैनिटाइज करने की व्‍यवस्‍था की गई है.

अब चेक-इन हॉल के हर टच पॉइंट पर उपलब्‍ध होगा सेनेटाइजर
चेक-इन हॉल के इंट्री गेट, क्‍यॉस मशीन, चेक-इन वे में सोशल डिस्‍टेंसिंग के साथ मुसाफिरों के आवागमन के लिए मार्किंग की गई है. सभी क्‍यॉस मशीन के पास सेनेटाइजर रखा जा रह है, जिससे मशीन के इस्‍तेमाल से पहले मुसाफिर अपने हाथ सैनिटाइज कर सकें. इसके अलावा, चेक-इन हॉल के हर टच पॉइंट पर सेनेटाइजर उपलब्‍ध कराया जा रहा है. इसके अलावा, सिक्‍योरिटी पॉइंट की कतारों को सोशल डिस्‍टेंसिंग के आधार पर नए सिरे से बनाया गया है. सभी इमीग्रेशन और सीआईएसएफ के जवानों को पीपीई किट उपलब्‍ध कराई जा रही हैं. हैंड बैगेज एक्‍स-रे के लिए इस्‍तेमाल होने वाली सभी ट्रे को हर इस्‍तेमाल के बाद सेनेटाइज करने की व्‍यवस्‍था की गई है. इसी तरह, सिक्‍योरिटी होल्‍ड एरिया में सोशल डिस्‍टेंसिंग को ध्‍यान में रखते हुए फूट कोर्ट, लिफ्ट और सीट्स के इस्‍तेमाल को लेकर नई रणनीति बनाई गई है. फूड कोर्ट में इलेक्‍ट्रोनिक पेमेंट को बढ़ावा देने के निर्देश भी दिए गए हैं. इतना ही नहीं, एयरपोर्ट पर सभी मुसाफिरों के लिए एचओआई एप्लिकेशन को अनिवार्य किया जा रहा है.

सोशल डिस्‍टेंसिंग के लिए एयरपोर्ट के चेकइन काउंटर, लिफ्ट, एयरोब्रिज सहित अन्‍य जगहों पर की गई है मार्किंग.

सोशल डिस्‍टेंसिंग के लिए एयरपोर्ट के चेकइन काउंटर, लिफ्ट, एयरोब्रिज सहित अन्‍य जगहों पर की गई है मार्किंग.यात्रियों के हर बैग को डिसइनफेक्‍टेंट टलन के जरिए किया सैनिटाइज
डायल ने एयरोब्रिज और बस गेट पर नए सिरे से क्‍यू मैनेजर लगाए हैं. इसके अलावा, एयरोब्रिज पर पर्याप्‍त दूरी पर मार्किंग की गई है. जिससे विमान में प्रवेश करने वाले मुसाफिरों के बीच पर्याप्‍त दूरी बनी रहे. इन सभी जगहों पर सेनेटाइजर उपलब्‍ध कराया जा रहा है, जिससे टर्मिनल से एग्जिट करने से पहले सभी मुसाफिर खुद को सेनेटाइज कर सकें. इसके अलावा, हवाई यात्रा के बाद दूसरे एयरपोर्ट पहुंचने वाले मुसाफिरों के बैग को सेनेटाइज करने के बाद ही एयरपोर्ट टर्मिनल में दाखिल होने दिया जाएगा. इसके लिए, डायल ने एयर साइट पर एक डिसइनफेक्‍टेंट टनल बनाई है. इसके साथ ही विजिटर पास भी नहीं दिए जाएंगे.

 

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के बाद डबल हो जाएगी Flight Tickets की कीमत! एयरपोर्ट पर इन नियमों का करना होगा पालन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज