Home /News /delhi-ncr /

क्‍या बिना शिक्षकों के 1 अप्रैल से दिल्‍ली में खुलेंगे स्‍कूल, जानें क्‍यों पूछ रहे पेरेंट्स

क्‍या बिना शिक्षकों के 1 अप्रैल से दिल्‍ली में खुलेंगे स्‍कूल, जानें क्‍यों पूछ रहे पेरेंट्स

दिल्‍ली में 1 अप्रैल से सभी स्‍कूल खुल रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

दिल्‍ली में 1 अप्रैल से सभी स्‍कूल खुल रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

आइपा के अध्‍यक्ष और एजुकेशन एक्टिविस्‍ट एडवोकेट अशोक अग्रवाल का कहना है कि दिल्‍ली में 1600 के आसपास एमसीडी स्‍कूल हैं जो दिल्‍ली के तीनों नगर निगमों के अंतर्गत आते हैं. इनमें हजारों की संख्‍या में बच्‍चे पढ़ते हैं लेकिन कोरोना आने के बाद से इन स्‍कूलों के शिक्षक कोविड ड्यूटी में लगे हुए हैं. इन स्‍कूलों में पढ़ने वाले सभी बच्‍चों को ऑनलाइन पढ़ाई का भी लाभ नहीं मिल पाया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. राजधानी दिल्‍ली में कोरोना के मामलों के घटने के बाद अब स्‍कूलों को खोलने की तैयारी की जा रही है. हाल ही में डीडीएमए (DDMA) की बैठक में 1 अप्रैल से सभी स्‍कूलों को पूरी तरह खोलने का फैसला किया गया है. इन स्‍कूलों में अब पूरी तरह ऑफलाइन और क्‍लासरूमों में पढ़ाई कराई जाएगी. इसी के चलते दिल्‍ली सरकार (Delhi Government) की ओर से अभी तक कोरोना ड्यूटी (Corona Duty) में लगे सभी शिक्षकों के लिए भी नया आदेश जारी कर दिया गया है. जिसमें उन्‍हें तत्‍काल कोविड ड्यूटी छोड़ने के लिए कहा गया है. हालांकि डीडीएमए (DDMA) हेड क्‍वार्टर में लगे लोगों को अभी कोविड ड्यूटी करनी होगी.

    दिल्‍ली सरकार की ओर से कोरोना ड्यूटी में लगे ग्रेड-1 से लेकर ग्रेड-4 तक के कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए आए आदेश में कोरोना ड्यूटी छोड़कर पुराने डिपार्टमेंट में आकर रिपोर्ट करने के लिए कहा गया है लेकिन दिल्‍ली नगर निगम (MCD) के स्‍कूलों में अपने बच्‍चों को पढ़ा रहे पेरेंट्स और इन स्‍कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षक अभी भी असमंजस में हैं. वे अभी भी कोरोना ड्यूटी कर रहे हैं. डीडीएमए की ओर से आए आदेशों के बाद नए सत्र में 1 अप्रैल से खोले जाने वाले सभी स्‍कूलों में एमसीडी स्‍कूल भी शामिल होंगे लेकिन अभी तक एमसीडी (MCD) या प्रतिभा विकास विद्यालयों के कोविड ड्यूटी में लगे शिक्षकों के लिए कोई भी आदेश नहीं आया है.

    इस बारे में ऑल इंडिया पेरेंट्स एसोसिएशन (AIPA) के अध्‍यक्ष और एजुकेशन एक्टिविस्‍ट एडवोकेट अशोक अग्रवाल का कहना है कि दिल्‍ली में 1600 के आसपास एमसीडी स्‍कूल हैं जो दिल्‍ली के तीनों नगर निगमों के अंतर्गत आते हैं. इनमें 568 स्‍कूल दक्षिणी दिल्‍ली नगर निगम, 354 पूर्वी दिल्‍ली और 700 स्‍कूल उत्‍तरी दिल्‍ली नगर निगम के अधीन आते हैं. खास बात है कि इनमें हजारों की संख्‍या में बच्‍चे पढ़ते हैं लेकिन कोरोना (Corona) आने के बाद से इन स्‍कूलों के शिक्षक कोविड ड्यूटी में लगे हुए हैं. इतना ही नहीं इन स्‍कूलों में पढ़ने वाले सभी बच्‍चों को ऑनलाइन पढ़ाई (Online Classes) का भी लाभ नहीं मिल पाया है. पिछले दो सालों से ये बच्‍चे बिना पढ़ाई के घूम रहे हैं.

    अशोक कहते हैं कि अब जबकि स्‍कूलों को खोलने का फैसला किया गया है तो दिल्‍ली सरकार ने तो शिक्षकों या अन्‍य कर्मचारियों को कोविड ड्यूटी छोड़कर तत्‍काल प्रभाव से अपने पुराने विभाग में रिपोर्ट करने के आदेश दे दिए हैं ताकि नए सत्र और ऑफलाइन कक्षाओं को सुचारू करने के लिए तैयारी की जा सके लेकिन एमसीडी स्‍कूलों को लेकर अभी भी कोई आदेश नहीं आया है. ऐसे में क्‍या 1 अप्रैल से बिना शिक्षकों के ही नगर निगम के स्‍कूल खुलेंगे. इसे लेकर न केवल शिक्षक बल्कि पेरेंट्स और भी ज्‍यादा चिंतित हैं.

    Tags: Delhi School Reopen, Govt School, Online classes, Parents

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर