Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली विधानसभा का दो दिवसीय सत्र आज से, राजधानी पर अंबर अलर्ट का खतरा, पढ़ें 10 बड़ी खबरें

दिल्ली विधानसभा का दो दिवसीय सत्र आज से, राजधानी पर अंबर अलर्ट का खतरा, पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Delhi Assembly Session: दिल्ली विधानसभा का दो दिवसीय सत्र आज से शुरू हो रहा है.

Delhi Assembly Session: दिल्ली विधानसभा का दो दिवसीय सत्र आज से शुरू हो रहा है.

Delhi Assembly Session:दिल्ली विधानसभा का दो दिवसीय सत्र आज से शुरू हो रहा है. इस दौरान अरविंद केजरीवाल सरकार दिल्ली शिक्षक विश्वविद्यालय (Delhi Teachers University) की स्थापना से जुड़ा एक विधेयक सदन में पेश कर सकती है. वहीं, भारतीय जनता पार्टी ने सत्र के दौरान नई आबकारी नीति, बढ़ते कोविड मामलों और सार्वजनिक परिवहन की स्थिति के मुद्दों पर आप सरकार को घेरने की रणनीति बनाई है. इस सत्र के हंगामेदार रहने की संभावना है. सत्र के दौरान विधायकों और अधिकारियों को फेस मास्क पहनना होगा और सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करना होगा. वहीं, दिल्‍ली में आज से बच्‍चों का वैक्‍सीनेशन शुरू हो रहा है, तो राजधानी पर अंबर अलर्ट (Amber Alert) का खतरा मंडराने लगा है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. दिल्ली विधानसभा का दो दिवसीय सत्र (Delhi Assembly Session) आज यानी सोमवार से शुरू होगा. सरकारी अधिकारियों के मुताबिक, विधानसभा का सत्र सुबह 11 बजे शुरू होगा और दिल्ली शिक्षक विश्वविद्यालय (Delhi Teachers University) की स्थापना से जुड़ा एक विधेयक सदन में पेश होने की संभावना है.दिल्ली विधानसभा के एक बुलेटिन में पिछले महीने कहा गया था कि सत्र तीन और चार जनवरी को दो दिन का होगा.इसमें कहा गया था कि कार्य की अनिवार्यताओं के अधीन, सदन की बैठक की अवधि को बढ़ाया जा सकता है.

    अधिकारियों ने कहा कि कोविड मामलों की बढ़ती संख्या के कारण, विधायकों और अधिकारियों को फेस मास्क पहनना होगा और सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करना होगा.सत्र में एक प्रश्नकाल होगा और सदस्य विशेष उल्लेख के तहत महत्वपूर्ण मुद्दों को उठा सकेंगे.

    भाजपा ने बनाई रणनीति
    भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारियों ने कहा कि सत्र के दौरान, विपक्षी दल भाजपा आबकारी नीति, बढ़ते कोविड मामलों और सार्वजनिक परिवहन की स्थिति के मुद्दों पर आप सरकार को घेरेगी.उन्होंने कहा कि भाजपा ने कोविड मामलों में वृद्धि, नई शराब नीति, सार्वजनिक परिवहन सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा के लिए नोटिस दिया था.

    दिल्‍ली में आज बच्‍चों को वैक्‍सीनेशन होगा शुरू
    दिल्‍ली में 15 से 18 आयु वर्ग के बच्‍चों के वैक्‍सीनेशन को लेकर सेंटर (Vaccination Centre) सजधज कर तैयार हैं. वैक्‍सीनेशन का काम आज यानी 3 जनवरी से शुरू होगा. वहीं, दिल्‍ली के तिलक नगर के कोविड सेंटर पर बच्‍चों को वैक्‍सीनेशन के बाद गिफ्ट देने की तैयारी की गयी है. यही नहीं, ऑब्जरवेशन एरिया में किताबें और म्यूजिकल आइटम का भी इंतजाम किया गया है, ताकि बच्‍चे वैक्‍सीन लगवाने से ना डरें बल्कि मस्‍ती में अपनी बारी का इंतजार करें.

    दिल्‍ली पर अंबर अलर्ट का खतरा
    दिल्‍ली में इस वक्‍त येलो अलर्ट जारी है. इस बीच डीडीएमए ने फैसला लिया है कि अगला अलर्ट संख्या के आधार पर लिया जाएगा. राजधानी में 3500 नए मामले एक दिन में आने पर अंबर अलर्ट लगेगा, जिसके तहत पाबंदिया और ज्यादा बढ़ जायेंगी. बता दें कि लेवल-1 (येलो), लेवल-2 (अंबर), लेवल-3 (आरेंज) और लेवल-4 (रेड) होगा. जबकि अलर्ट के सभी चार स्तर में आवश्यक वस्तुओं की दुकानें और प्रतिष्ठान खुल सकेंगे. वहीं,आवश्यक सेवाएं सुचारू रूप से चलती रहेंगी.

    पश्चिमी दिल्ली के राजौरी गार्डन इलाके में 1 जनवरी को बहस के बाद व्यक्ति की कर दी गयी थी. हत्या के आरोप में रविवार को 65 वर्षीय दिव्यांग भिखारी समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है.पुलिस ने बताया कि शनिवार को पीड़ित का शव सुभाष नगर में एक झुग्गी के पास बरामद किया गया था, जिसकी छाती और गले के पास चाकू से वार करने के निशान थे. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच के दौरान सामने आया कि पीड़ित चंदन अपने दो दोस्तों के साथ अंसल प्लाजा के पास नये साल का जश्न मना रहा था. वह देर रात करीब ढाई बजे सुभाष नगर में एक होटल के बाहर सिगरेट खरीदने गया था. चंदन नशे में था और उसकी किसी बात पर फुटपाथ पर बैठे भिखारी संतोष पजियार से बहस हो गई. चंदन ने कथित तौर पर भिखारी को अपशब्द कहे और पीटना शुरू कर दिया. अधिकारी ने कहा कि इस दौरान भिखारी का साथी विनोद भी आ गया और उसने चंदन पर चाकू से हमला कर दिया.
    दिल्ली में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 3,194 नये मामले सामने आए, जो पिछले साल 20 मई के बाद से एक दिन की सर्वाधिक संख्या है. हालांकि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों से दहशत में नहीं आने की अपील करते हुए कहा कि ज्यादातर मरीजों में या तो लक्षण नहीं हैं या बहुत हल्के लक्षण हैं और मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराने की जरूरत नहीं पड़ रही है. रविवार को कोविड-19 के मामले एक दिन पहले के 2,716 मामले से 17 प्रतिशत अधिक हैं. महामारी से एक मरीज की भी मौत हुई है.जबकि संक्रमण दर बढ़कर 4.59 प्रतिशत हो गई. विशेषज्ञों का मानना है कि बड़ी संख्या में मामले अत्यधिक संक्रामक ओमिक्रॉन स्वरूप के आ रहे हैं.दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की श्रेणीबद्ध प्रतिक्रिया कार्रवाई योजना के तहत, यदि संक्रमण दर लगातार दो दिन पांच प्रतिशत से अधिक रहती है तो ‘रेड’ अलर्ट जारी किया जा सकता है, जिसके चलते ‘पूर्ण कर्फ्यू’ लगाया जा सकता है और ज्यादातर आर्थिक गतिविधियां थम सकती हैं.
    कम से कम सौ प्रभावशाली मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें ‘बुल्ली बाई’ ऐप पर अपलोड किए जाने पर मचे बवाल के बीच राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने दिल्ली पुलिस को पत्र लिखकर इस मामले में तेजी से कार्रवाई करने को कहा है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि इस तरह के अपराध की पुनरावृत्ति नहीं हो.सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं और महिला अधिकार समूहों ने इस विषय पर रोष व्यक्त किया है. ऐप ‘बुल्ली बाई’ पर तस्वीरें अपलोड करने की घटना पिछले वर्ष जुलाई में ‘सुल्ली डील्स’ पर तस्वीरें अपलोड करने के समान है. दोनों ऐप एक जैसा ही काम करते हैं. ऐप को खोलने पर एक मुस्लिम महिला की तस्वीर बुल्ली बाई के तौर पर प्रकट होती है. आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने उस महिला पत्रकार के ट्वीट का ''संज्ञान'' लिया, जिनकी तस्वीर ऐप में उपयोग की गई. महिला पत्रकार ने इस बाबत दिल्ली पुलिस की साइबर शाखा के समक्ष शिकायत दर्ज करायी है.
    दिल्ली पुलिस ने अपने ऑपरेशन 'तलाश' के तहत, लापता लोगों का पता लगाने के लिए उत्तरी जिले में पिछले 20 वर्षों से अनसुलझे मामलों की जांच की और पिछले दो महीनों में ऐसे 68 मामलों को सुलझा लिया. अधिकारियों ने बताया कि यह अभियान पिछले साल 1 नवंबर को उत्तरी जिले द्वारा शुरू किया गया था और दिल्ली पुलिस ने इसके तहत राष्ट्रीय राजधानी सहित देश के विभिन्न हिस्सों से पिछले दो महीनों में ऐसे 60 से अधिक लापता लोगों को फिर से परिवार से मिलाने का दावा किया है.आंकड़ों के अनुसार 68 मामलों में 22 नाबालिगों और 46 वयस्कों से संबंधित थे. इनमें 20 पुरुष और 48 महिलाएं थीं. इनमें अपहरण के 22 और गुमशुदगी के 46 मामले थे.तलाश किए गए लोगों में सबसे ज्यादा (59) दिल्ली से हैं. पंजाब से चार और उत्तराखंड, राजस्थान, हरियाणा, नोएडा और पश्चिम बंगाल से एक-एक व्यक्ति खोजे गए.
    कोविड-19 महामारी और लॉकडाउन के प्रभावों को देखते हुए दिल्ली के परिवहन विभाग ने आरटीवी मिनी बसों के परमिट को एक साल और बढ़ा दिया है. यह बस सेवा शहर में सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था का अहम हिस्सा हैं.विभाग की ओर से हाल में जारी एक परिपत्र में कहा गया है कि रैपिड ट्रांजिट व्हिकल्स (आरटीवी) को यह विस्तार एक जनवरी से 31 दिसंबर 2022 के लिए दिया गया है. मिनी आरटीवी बसों के मालिक और संघ पिछले कई महीनों के दौरान विभाग से परमिट की वैधता 10 से बढ़ाकर 15 साल करने का अनुरोध कर रहे थे. उन्होंने कहा है कि ये गाड़ियां लॉकडाउन के दौरान चली नहीं हैं. परिपत्र के मुताबिक, यह विस्तार इस शर्त के तहत होगा कि परमिट की कुल वैधता 11 वर्ष से अधिक नहीं होगी और वाहन के पास ‘फिटनेस’ का वैध प्रमाण पत्र होना चाहिए और वह मोटन वाहन अधिनियम 1988 के तहत सभी शर्तों को पूरा करता हो.
    दिल्ली में वर्ष 2021 में सबसे व्यस्त समय के दौरान बिजली की मांग 7,323 मेगावाट तक पहुंची जो राष्ट्रीय राजधानी के इतिहास में 2019 में अब तक की सबसे अधिक मांग 7,409 मेगावाट से मामूली रूप से कम है. हालांकि वर्ष 2020 की 6,341 मेगावाट की मांग से यह कहीं अधिक है.यह खुलासा राष्ट्रीय राजधानी में बिजली की मांग को लेकर आए आंकड़ों से हुआ है. बिजली वितरण कंपनियों के अधिकारी बिजली की बढ़ी हुई इस मांग के लिए कोरोना वायरस की दूसरी लहर और लंबे समय तक कठोर मौसम को जिम्मेदार मानते हैं.दैनिक आधार पर दिल्ली में वर्ष 2020 के दिनों की तुलना में वर्ष 2021 के 227 दिन बिजली की मांग में वृद्धि देखी गई जो वर्ष 2021 के कुल दिनों का 61 प्रतिशत है.दिल्ली में वर्ष 2020 के मुकाबले पिछले साल अधिक बिजली की जरूरत रही.
    उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के शालीमार बाग इलाके में लूट के प्रयास का विरोध करने पर कथित तौर पर दो लोगों ने एक व्यक्ति की चाकू मारकर हत्या कर दी. दिल्‍ली पुलिस ने बताया कि आरोपी बाबुल पाठक (22) को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि उसका साथी फरार है. पुलिस ने कहा कि शहर में एक प्रिंटिंग प्रेस में काम करने वाले गजेंद्र सिंह (38) का शव शनिवार देर रात एक बस स्टैंड से बरामद किया गया. पुलिस उपायुक्त (उत्तर पश्चिम) ऊषा रंगनानी ने कहा, 'घटनास्थल के पास कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं था. हमारी टीम को हमलावरों की तलाश के लिए अन्य सड़कों पर लगे सीसीटीवी का विश्लेषण करना पड़ा. हमने दो संदिग्धों की पहचान की. उनमें से एक की पहचान बाबुल पाठक के रूप में हुई.'
    कोरोना वायरस संक्रमण और ओमीक्रोन स्वरूप के मामलों में वृद्धि होने के मद्देनजर केंद्र ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नयी दिल्ली, के सहयोग से कोविड मामलों के क्लिनिकल प्रबंधन के विभिन्न पहलुओं पर पांच से 19 जनवरी तक सिलसिलेवार वेबिनार आयोजित करने का फैसला किया है.राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखे एक पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने अनुरोध किया है कि सभी राज्य स्तरीय उत्कृष्टता केंद्रों और सार्वजनिक एवं निजी जिला स्तरीय कोविड-19 स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों के चिकित्सक तथा कोविड-19 उपचार केंद्रों के प्रभारियों को इन वेबिनार में शामिल होने का निर्देश दिया जा सकता है. भूषण ने कहा, ‘देश के कुछ राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड-19 के मामलों और ओमिक्रॉन स्वरूप के मामलों में वृद्धि चिंता का विषय है.’
    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि शहर में कोविड-19 के दैनिक मामले और उपचाराधीन मरीजों की संख्या भले ही बढ़ रही हो, लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि ज्यादातर मरीजों में या तो लक्षण नहीं हैं या बहुत हल्के लक्षण हैं और लोगों को अस्पतालों में भर्ती कराने की जरूरत नहीं पड़ रही है. उन्होंने यह दिखाने के लिए आंकड़े प्रस्तुत किए कि मामलों में वृद्धि के बावजूद, अस्पतालों में बिस्तर की जरूरत एक प्रतिशत से भी कम है और पिछले साल अप्रैल में आई कोरोना वायरस की घातक दूसरी लहर की तुलना में बहुत कम है. केजरीवाल ने एक बयान में कहा, ‘हम सभी को पूरी तरह जिम्मेदार होना होगा, हमें सार्वजनिक रूप से मास्क पहनना चाहिए, सामाजिक दूरी का पालन करना चाहिए और साबुन से हाथ धोने चाहिए. यह स्वरूप (ओमिक्रॉन) बहुत बहुत हल्का है और आपकी सरकार हमेशा आपके साथ खड़ी है, चाहे जो भी स्थिति हो, कृपया घबराए नहीं.’

    Tags: Coronavirus cases in delhi, Delhi Government, Delhi news, Omicron Alert

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर