लाइव टीवी

6 घंटे लाइन में लगने के बाद केजरीवाल ने दाखिल किया नामांकन, नई दिल्ली सीट से हैं मैदान में
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: January 21, 2020, 7:33 PM IST
6 घंटे लाइन में लगने के बाद केजरीवाल ने दाखिल किया नामांकन, नई दिल्ली सीट से हैं मैदान में
अरविंद केजरीवाल ने नई दिल्ली विधानसभा सीट से नामांकन दाखिल करने के लिए लगभग छह घंटे का इंतजार किया (फोटो: PTI)

मंगलवार दोपहर साढ़े 12 बजे से रिटर्निंग अफसर के दफ्तर में नामांकन दाखिल करने का इंतजार कर रहे अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने छह घंटे के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार अपना पर्चा भरा

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2020, 7:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री (Delhi CM) अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आम आदमी पार्टी (AAP) के कैंडिडेट के रूप में अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है. मंगलवार दोपहर साढ़े 12 बजे से रिटर्निंग अफसर के दफ्तर में नामांकन दाखिल (Nomination File) करने का इंतजार कर रहे केजरीवाल ने आखिरकार अपना पर्चा भर दिया है. केजरीवाल को नामांकन भरने में छह घंटे का समय लगा.


नामांकन दाखिल करने के दौरान केजरीवाल के माता-पिता वहां मौजूद थे. नामांकन दाखिल करने के आखिरी दिन केजरीवाल मंगलवार दोपहर साढ़े बारह बजे के लगभग रिटर्निंग ऑफिसर के दफ्तर जामनगर हाउस पहुंचे थे. केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया कि वो नामांकन दाखिल करने के लिए इंतजार कर रहे हैं, उन्हें टोकन नंबर 45 दिया गया है. इसके चंद घंटे बाद फिर उन्होंने ट्वीट कर कहा कि वो अभी भी इंतजार कर रहे हैं, लेकिन उन्हें इसमें मजा आ रहा है. दरअसल केजरीवाल से पहले बड़ी संख्या में निर्दलीय उम्मीदवार भी अपना नामांकन दाखिल करने पहुंचे थे.

बता दें कि केजरीवाल ने नई दिल्ली विधानसभा सीट (New Delhi Assembly Seat) से लगातार तीसरी बार अपना पर्चा भरा है. वर्ष 2014 और 2015 में भी उन्होंने यहां से चुनाव लड़ा था. 2014 में उन्होंने दिल्ली की तत्कालीन मुख्यमंत्री और कांग्रेस की उम्मीदवार शीला दीक्षित को यहां से हराया था. तब किसी ने भी कल्पना नहीं की थी कि केजरीवाल हैवीवेट माने जानी वाली शीला दीक्षित पर भारी पड़ जाएंगे.

केजरीवाल के सामने बीजेपी-कांग्रेस के कमजोर उम्मीदवार मैदान में!
नई दिल्ली सीट पर अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बीजेपी ने सुनील यादव को अपना उम्मीदवार बनाया है. जबकि कांग्रेस ने केजरीवाल के मुकाबले में रोमेश सभरवाल (Romesh Sabharwal) को यहां से चुनाव में उतारा है. कहा जा रहा है कि केजरीवाल जैसे मजबूत उम्मीदवार के आगे बीजेपी और कांग्रेस (BJP And Congress) के कैंडिडेट अपेक्षाकृत कमजोर हैं.

बता दें कि दिल्ली की सभी 70 विधानसभा सीटों के लिए आठ फरवरी को वोटिंग है. वहीं इसके तीन दिन बाद 11 फरवरी को चुनाव के नतीजे घोषित होंगे. दिल्ली विधानसभा का मौजूदा कार्यकाल 22 फरवरी को खत्म हो रहा है. इसलिए नियमानुसार इससे पहले तक चुनाव कराकर नई विधानसभा का गठन कर लेना है.

यह भी पढ़ें :-

Delhi Elections 2020: क्या बीजेपी के पास है केजरीवाल के इस चुनावी दांव की काट
देरी पर केजरीवाल ने उम्मीदवारों को बताया परिवार, कुमार विश्वास बोले- बख्श दो!
नामांकन की कतार में फंसे केजरीवाल, सिसोदिया बोले- ये BJP की साजिश
नामांकन के लिए 6 घंटे से लाइन में लगे हैं केजरीवाल, बोले- मज़ा आ रहा है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 21, 2020, 7:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर