लाइव टीवी

तिमारपुर: विकास कार्य करवाने के दावों के बीच शिकायतें हजार!

News18Hindi
Updated: January 30, 2020, 1:22 PM IST
तिमारपुर: विकास कार्य करवाने के दावों के बीच शिकायतें हजार!
तिमारपुर में आम आदमी पार्टी ने दिलीप पांडे को टिकट दिया है (File Photo)

आम आदमी पार्टी ने निवर्तमान विधायक पंकज पुष्कर की टिकट काटकर दिलीप पांडे को मैदान में उतारा है. पांडे सीएम केजरीवाल के कार्यों पर वोट मांग रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2020, 1:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. तिमारपुर विधानसभा उत्तर पूर्व दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के तहत आता है. यह क्षेत्र ब्रिटिश काल में अंग्रेजी सेना के इस्‍तेमाल में आता था. अभी तक यह सीट आम आदमी पार्टी के पास थी. विधायक ने कई विकास कार्य करवाए लेकिन स्थानीय लोगों की शिकायत बरकरार है. आम आदमी पार्टी को यहां इस बार केजरीवाल सरकार की 200 यूनिट फ्री बिजली, पानी और महिलाओं की मुफ्त बस यात्रा स्कीम के आधार पर वोट मिलने की उम्मीद है. तो विपक्षी नेता केजरीवाल सरकार की कमियां गिना रहे हैं.

लोगों का कहना है कि सीसीटीवी कैमरे लगे तो हैं लेकिन कई जगह के काम नहीं करते. पांच साल में न तो कोई नया अस्पताल और न स्कूल बना है. वजीराबाद व कबीर बस्ती सहित कई इलाके में सीवरेज की समस्या है. कई इलाकों में पानी गंदा पानी आने की समस्या है. साफ-सफाई भी संतोषजनक नहीं है. अतिक्रमण की वजह से जाम लगता है. पार्किंग की समस्या है.

delhi assembly election 2020, aap, bjp, congress, Timarpur, Timarpur assembly seat candidate list, arvind kejriwal, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, आम आदमी पार्टी, बीजेपी, कांग्रेस, तिमारपुर, तिमारपुर के विधानसभा उम्मीदवारों की सूची, अरविंद केजरीवाल, dilip pandey, दिलीप पांडे
दिलीप पांडे के लिए आसान नहीं है विधानसभा का रास्ता 


हालांकि आम आदमी पार्टी के नेता दावा कर रहे हैं कि क्षेत्र में दो हजार सीसीटीवी कैमरे पास हैं जिनमें से एक हजार से अधिक लग चुके हैं. छह मोहल्ला क्लीनिक संचालित हो रहे हैं. वजीराबाद में पानी की निकासी की समस्या दूर की गई है.  मल्कागंज में सुबह-शाम पानी का इंतजाम हो गया है. कच्ची कालोनियों में सड़कें बन रही हैं.

तिमारपुर विधानसभा के तहत एमसीडी के 4 वार्ड तिमारपुर, मलकागंज, जीटीबी नगर और मुखर्जी नगर आते हैं. यहां 19 फीसदी एससी, 16 फीसदी ओबीसी और करीब 10 फीसदी मुस्लिम आबादी बताई जाती है. यहां पर कुल 200567 वोटर हैं.

‘आप’ पंकज पुष्कर की जगह दिलीप पांडे दिया टिकट

आम आदमी पार्टी ने निवर्तमान विधायक पंकज पुष्कर की टिकट काटकर दिलीप पांडे को मैदान में उतारा है. इसलिए केजरीवाल की पार्टी को भितरघात का भी सामना करना पड़ सकता है. अन्ना आंदोलन के समय पंकज पुष्कर नौकरी छोड़कर टीम केजरीवाल में शामिल हो गए थे. उन्हें पार्टी ने तिमारपुर से चुनाव लड़वाया और वे जीत गए. लेकिन अब पार्टी के पुराने नेता दिलीप पांडे को यहां से टिकट दे दी गई है.
कांग्रेस ने अमरलता सांगवान को मैदान में उतारा है


सीट का राजनीतिक इतिहास

यह सीट कांग्रेस का गढ़ रही है. यहां हुए कुल सात चुनावों में से चार बार कांग्रेस का विधायक बना है. दो बार आम आदमी पार्टी और एक बार बीजेपी भी खाता खोलने में कामयाब रही है. 1972 में क्षेत्र से पहली बार कांग्रेस के अमरनाथ मल्‍होत्रा विधायक बने थे. बीजेपी को सिर्फ एक बार 1993 में जीत हासिल हुई जब राजेंद्र गुप्ता विधायक चुने गए. पार्टी ने इस बार सुरेंद्र सिंह बिट्टू को मैदान में उतारा है. जबकि कांग्रेस ने महिला नेत्री अमरलता सांगवान को टिकट दिया है.

ये भी पढ़ें:

बुराड़ी चौपाल: दावों और कोशिशों के बीच समस्याओं की ‘बादशाहत’ बरकरार!

बवाना चौपाल: विकास के मामले में उपेक्षित है हरियाणा से सटा हुआ यह क्षेत्र!

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 1:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर