लाइव टीवी

चौपाल: नरेला सीट पर BJP और AAP लड़ाई में, लेकिन वोटर्स के पुराने रिकॉर्ड्स से रहना होगा सावधान
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 2, 2020, 5:47 PM IST
चौपाल: नरेला सीट पर BJP और AAP लड़ाई में, लेकिन वोटर्स के पुराने रिकॉर्ड्स से रहना होगा सावधान
दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में नरेला विधानसभा सीट पर भी जोरदार मुकाबला देखने को मिल रहा है.

दिल्ली और हरियाणा की सीमा पर बसा नरेला (Narela) एक औद्योगिक क्षेत्र भी है. इस विधानसभा सीट (Assembly Seat) पर कुल 2 लाख 41 हजार 32 मतदाता हैं. जिनमें 1 लाख 34 हजार 149 पुरुष मतदाता और 1 लाख 6 हजार 866 महिला मतदाता हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 2, 2020, 5:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नरेला विधानसभा सीट (Narela Assembly) दिल्ली की उत्तर-पश्चिम लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र (North-West Delhi Lok Sabha Constituency) के अन्तर्गत आता है. यह सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीट है. नरेला विधानसभा सीट पर साल 1993 में बीजेपी ने जीत दर्ज की थी.. यहां पर बीजेपी के इंद्रराज सिंह ने जीत हासिल की और विधायक बने. लेकिन, उसके बाद हुए 1998, 2003 और 2008 के चुनावों में कांग्रेस ने इस सीट से जीत हासिल की. साल 2013 में BJP ने कांग्रेस से यह सीट दोबारा से वापस ली, लेकिन 2015 में आम आदमी पार्टी ने नरेला विधानसभा सीट पर अपना परचम लहराया.

नरेला में बीजेपी और आप के बीच है मुकाबला

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 (Delhi Assembly Election 2020) में नरेला विधानसभा सीट पर भी जोरदार मुकाबला देखने को मिल रहा है. नरेला में आम आदमी पार्टी (AAP) ने एक बार फिर से अपने मौजूदा विधायक शरद चौहान को टिकट दिया है. वहीं बीजेपी ने 2013 में विधायक चुने गए नील दमन खत्री पर फिर से दांव खेला है. वहीं कांग्रेस (Congress) ने सिद्धार्थ कुंडू को यहां से उम्मीदवार बनाया है. पेश से वकील सिद्धार्थ पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं.

delhi assembly election 2020 Chaupal BJP and AAP fight in Narela seat but voters have to be careful with old records nodrss, Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, rajpath, BJP, AAP, Congress, narela news, narela constituency, narela ASSEMBLY SEAT, sharad kumar chauhan, sharad chauhan, neel daman khatri, siddharh kundu, kapil mishra, PARKING, dehi metro, amit shah, jp nadda, aam aadmi party, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, नरेला निर्वाचन क्षेत्र, नरेला विधानसभा क्षेत्र, नरेला विधानसभा, शरद चौहान, नील दमन खत्री, सिद्धार्थ कुंडू, आम आदमी पार्टी
नरेला में आम आदमी पार्टी (AAP) ने एक बार फिर से अपने मौजूदा विधायक शरद चौहान को टिकट दिया है.


बता दें कि इस एरिया का ऐतिहासिक महत्व भी है. इस क्षेत्र से निकला जीटी रोड लाहौर और काबुल तक जाता है. इतिहासकारों की किताबों में मुगल सम्राट जहांगीर की जीवन पर लिखी किताब जहांगीरनामा में भी नरेला का जिक्र आता है. दिल्ला और हरियाणा की सीमा पर बसा यह विधानसभा क्षेत्र औद्योगिक क्षेत्र भी है. इस सीट पर कुल 2 लाख 41 हजार 32 मतदाता हैं. जिनमें 1 लाख 34 हजार 149 पुरुष मतदाता और 1 लाख 6 हजार 866 महिला मतदाता हैं.

नरेला विधानसभा हरियाणा से सटा है

हरियाणा की सीमा से सटे होने के कारण हरियाणा की राजनीतिक दलों का प्रभाव इस इलाका में साफ तौर पर देखा जाता है. मौजूदा राजनीतिक और सामाजिक समीकरणों को देखने के बाद यहां पर मुख्य मुकाबला आम आदमी पार्टी और बीजेपी के बीच होता दिख रहा है. हालांकि, कांग्रेस मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने की पूरी कोशिश करने में लगी हुई है.
delhi assembly election 2020 Chaupal BJP and AAP fight in Narela seat but voters have to be careful with old records nodrss, Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, rajpath, BJP, AAP, Congress, narela news, narela constituency, narela ASSEMBLY SEAT, sharad kumar chauhan, sharad chauhan, neel daman khatri, siddharh kundu, kapil mishra, PARKING, dehi metro, amit shah, jp nadda, aam aadmi party, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, नरेला निर्वाचन क्षेत्र, नरेला विधानसभा क्षेत्र, नरेला विधानसभा, शरद चौहान, नील दमन खत्री, सिद्धार्थ कुंडू, आम आदमी पार्टी
हरियाणा की सीमा से सटे होने के कारण हरियाणा की राजनीतिक दलों का प्रभाव इस इलाका में साफ तौर पर देखा जाता है.


अगर बात करें नरेला विधानसभा में मतदाताओं के रवैये की तो हमेशा से बदलाव करती रही है. अगर पिछले दो चुनावों की बात करें तो 2013 में बीजेपी ने जीत हासिल की थी तो 2015 में आम आदमी पार्टी ने यहां से परचम लहराया था. जबकि 2013 के चुनाव में यहां के मतदाताओं ने आप को चौथे नंबर पर रखा था. 2013 के चुनाव में मतदाताओं ने कांग्रेस से सीट छीनकर बीजेपी की झोली में डाल दी थी. 2013 के चुनाव में बीएसपी उम्मीदवार दूसरे नंबर काबिज हो गया. पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने इस विधानसभा सीट में बढ़त बनाई थी.

बीते कुछ चुनावों से जाति के नाम पर वोट बंटते रहे हैं

बीते कुछ चुनावों से नरेला में जाति विशेष का वोट बैंक बंटता रहा है, लेकिन इस चुनाव में लोग विकास के नाम पर वोट देने की बात कर रहे हैं. इस इलाके में बीजेपी अनधिकृत कॉलोनियों को मालिकाना हक देने और जाम से मुक्ति दिलाने के नाम पर वोट मांग रही है. नरेला के युवा काफी वोट को लेकर काफी उत्साहित हैं. मनीष वर्मा कहते हैं, 'मैं पहली बार वोट डालूंगा. मन में कई तरह की बातें आ रही हैं, लेकिन मैं रोजगार, सुरक्षा और विकास के नाम पर वोट दूंगा. मोदी सरकार ने शिक्षा, बिजली और पानी को लेकर काफी काम किया है, लेकिन रोजगार को लेकर अभी तक कुछ विशेष नहीं किया है. जाम, प्रदूषण और पार्किंग की समस्या तो है और आगे भी रहेगी.'

delhi assembly election 2020 Chaupal BJP and AAP fight in Narela seat but voters have to be careful with old records nodrss, Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, rajpath, BJP, AAP, Congress, narela news, narela constituency, narela ASSEMBLY SEAT, sharad kumar chauhan, sharad chauhan, neel daman khatri, siddharh kundu, kapil mishra, PARKING, dehi metro, amit shah, jp nadda, aam aadmi party, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, नरेला निर्वाचन क्षेत्र, नरेला विधानसभा क्षेत्र, नरेला विधानसभा, शरद चौहान, नील दमन खत्री, सिद्धार्थ कुंडू, आम आदमी पार्टी
बीते कुछ चुनावों से नरेला में जाति विशेष का वोट बैंक बंटता रहा है


वहीं एक और युवा आलोक कुमार कहते हैं, 'नरेला में इस समय स्थानीय समस्याओं का अंबार है. औद्योगिक इलाका होने के कारण प्रदूषण का स्तर दिल्ली के दूसरे इलाकों से ज्यादा रहती है. इलाके में बड़ा अस्पताल नहीं है. यहां पर लॉ-एंड ऑर्डर की भी समस्या रहती है. आए दिन गैंगवार होते रहते हैं. दिल्ली पुलिस की मुस्तैदी नहीं है. क्राइम होने पर पुलिस खानापुर्ति के लिए सिर्फ पहुंचती है. अगर सफाई की बात करें तो वह खराब है, स्कूल में टिचर्स नहीं और अस्पताल में डॉक्टर्स नहीं होते हैं. सीवर और नाले का तो पुछिए ही नहीं.'

ये भी पढ़ें: 

चौपाल: शाहदरा सीट पर दो गोयल के बीच सीधा मुकाबला, जानें कौन किस पर भारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 2, 2020, 5:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर