लाइव टीवी

चौपाल: SC के लिए आरक्षित करोलबाग विधानसभा सीट पर सीलिंग का मुद्दा कितना असर डालेगा?
Delhi-Ncr News in Hindi

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: January 19, 2020, 3:38 PM IST
चौपाल: SC के लिए आरक्षित करोलबाग विधानसभा सीट पर सीलिंग का मुद्दा कितना असर डालेगा?
करोलबाग विधानसभा सीट दिल्‍ली की 70 विधानसभा सीटों में से एक है.

करोलबाग विधानसभा (Karolbagh Assembly Seat) का इलाका दिल्‍ली का सबसे बड़ा थोक और फुटकर बाजार के लिए भी जाना जाता है. दिल्ली का सबसे चर्चित गफ्फार मार्केट (Gaffar Market) भी इसी इलाके में आता है. 1984 के सिख विरोधी दंगों (1984 Sikh Riots) के दौरान यह इलाका विशेष चर्चा में रहा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2020, 3:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 (Delhi Assembly election 2020) में करोलबाग विधानसभा (Karolbagh Assembly Seat) का क्षेत्र एक अहम स्थान रखता है. करोलबाग विधानसभा सीट दिल्‍ली की 70 विधानसभा सीटों में से एक है. यह विधानसभा क्षेत्र नई दिल्ली लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के अन्तर्गत आता है. करोलबाग विधानसभा सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. 1993 में इस इलाके को विधानसभा सीट बनाया गया था. विधानसभा के पहले चुनाव में बीजेपी के सुरेद्र रतवाल ने इस सीट से जीत हासिल की थी. वर्तमान में आम आदमी पार्टी के विशेष रवि यहां से विधायक हैं. विशेष रवि इस सीट से लगातार दूसरी बार चुनाव जीते हैं. करोलबाग इलाका दिल्‍ली का सबसे बड़ा थोक और फुटकर बाजार के लिए भी जाना जाता है. दिल्ली का सबसे चर्चित गफ्फार मार्केट भी इसी इलाके में आता है. 1984 के सिख विरोधी दंगों के दौरान यह इलाका विशेष चर्चा में रहा था.

AAP के विशेष रवि हैं मौजूदा विधायक

बता दें कि 2003 से 2013 तक इस सीट पर बीजेपी का कब्जा था. इससे पहले 1998 में यह सीट कांग्रेस के हाथ में थी. 2013 और 2015 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर आम आदमी पार्टी के विशेष रवि ने जीत हासिल की थी. इस बार भी आम आदमी पार्टी ने करोलबाग सीट से विशेष रवि को टिकट दी है अगर इस बार रवि यहां से जीतते हैं तो इससे सीट से हैट्रिक लगाएंगे.

Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, BJP, AAP, Congress, karolbagh, karlbagh, karolbagh assembly seat, karolbagh constituency, vishesh ravi, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, करोल बाग विधानसभा, करोलबाग विधानसभा सीट, विशेष रवि, अरविंद केजरीवाल
2003 से 2013 तक इस सीट पर बीजेपी का कब्जा था.


वैसे मौजूदा विधायक विशेष रवि का विवादों से भी पुराना नाता रहा है. बीकॉम की फर्जी डिग्री को लेकर भी वह विवादों में आए थे. इसके अलावा भी रवि के खिलाफ जबरन उगाही का आरोप लगे थे. दिल्ली पुलिस ने उन पर रंगदारी, धमकाने और आपराधिक साजिश के मुकदमे भी दर्ज किए थे, जिसे बाद में कोर्ट ने खारिज कर दिया था. आम आदमी पार्टी 27 जिन विधायकों के विरुद्ध अयोग्य ठहराने की याचिका दाखिल की गई थी उसमें विशेष रवि का भी नाम भी शामिल था.

सीवर और सीलिंग की समस्या से लोग परेशान

करोलबाग इलाके में रहने वाले लोगों की बुनियादी समस्याएं सबसे गंभीर हैं. कहीं पानी की दिक्कत है तो कहीं सीवर लाइने ब्लॉक रहती हैं. शिकायत करने के बाद भी कई-कई दिनों तक कार्रवाई नहीं होती है. इसके अलावा एमसीडी से जुड़ी भी कई समस्याएं हैं. आए दिन एमसीडी अफसर कॉलोनियों में बने मकानों को तोड़ने की धमकी देते हैं. रमेश वैश्य न्यूज 18 हिंदी के साथ बातचीत में कहते हैं, 'लोगों से जुड़ी कई समस्याएं हैं. उन समस्याओं के समाधान के लिए हमलोग खुद ही मैदान में उतर जाते हैं. डीडीए फ्लैट्स मोतीया खान के आस-पास के इलाके में ट्रैफिक की तो समस्या रहती है साथ ही यहां सीवर से संबंधित भी कई तरह की दिक्कतें आए दिन आते रहते हैं. दिल्ली जल बोर्ड परिसर में मौहल्ला विलनिक बनने से काफी राहत मिली है.'Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, BJP, AAP, Congress, karolbagh, karlbagh, karolbagh assembly seat, karolbagh constituency, vishesh ravi, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, करोल बाग विधानसभा, करोलबाग विधानसभा सीट, विशेष रवि, अरविंद केजरीवाल

करोलबाग विधानसभा इलाके में पानी भी एक बड़ी समस्या है.गफ्फार मार्केट में खिलौने का दुकान चलाने वाली प्रमिला साहू कहती हैं, 'दिल्ली में महिलाओं की बस यात्रा मुफ्त होने से काफी खुश हूं. महिलाओं के लिए अब पहले की तुलना में काम करना काफी आसान हो गया है. केजरीवाल जी का दिल्ली की सभी महिलाओं की ओर से मेरा आभार. इसके बावजूद हमलोगों को पानी की दिक्कतें हैं. सीवर लाइने ब्लॉक रहती हैं. पिछले दिनों सीलिंग से भी काफी नुकसान हुआ है.इससे हम जैसे कारोबारी नाराज हैं. इसका असर इस बार के चुनाव में पड़ेगा. इसके अलावा यहां पार्किंग भी बड़ा मुद्दा है. इस पूरे क्षेत्र के रिहायशी इलाकों और बाजारों में पार्किंग की बड़ी समस्या है. इसकी वजह से लोगों को सड़कों पर अपने वाहन पार्क करना पड़ता है. इस वजह से अक्सर जाम लगता है और वाहन चालकों को दिक्कत होती है.'

ट्रैफिक जाम और पानी यहां की प्रमुख समस्या

करोलबाग विधानसभा इलाके में पानी भी एक बड़ी समस्या है. कई इलाकों में जलापूर्ति की व्यवस्था ठीक नहीं है. इसे लेकर स्थानीय लोगों में काफी नाराजगी है. दिल्‍ली का सबसे बड़ा थोक और फुटकर बाजार कहा जाने वाला यह इलाका 1984 में हुए सिख दंगों के लिए भी याद किया जाता है. साल 2008 में यहां आतंकियों ने सीरियल बम ब्लास्ट में कई लोगों की जान ले ली थीं.

ये भी पढ़ें: 

चौपाल: सदर बाजार में जाम और ट्रैफिक से लोग रहते हैं परेशान, क्या सुधरेंगे हालात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 3:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर