लाइव टीवी

चौपाल: नजफगढ़ में बाहुबलियों की जोर-आजमाइश इस बार भी देखने को मिल सकता है?
Delhi-Ncr News in Hindi

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: January 23, 2020, 10:11 AM IST
चौपाल: नजफगढ़ में बाहुबलियों की जोर-आजमाइश इस बार भी देखने को मिल सकता है?
नजफगढ़ विधानसभा का इलाका हरियाणा की सीमा से सटा हुआ है

2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) में इस सीट पर आम आदमी पार्टी (AAP) के कैलाश गहलोत ने जीत दर्ज की थी. गहलोत ने इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) प्रत्याशी भरत सिंह को हराया था. गहलोत मौजूदा केजरीवाल सरकार में मंत्री भी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2020, 10:11 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 (Delhi Assembly Election 2020) में नजफगढ़ विधानसभा (Najafgarh Assembly Seat)का एक विशेष महत्व है. यह सीट पश्चिमी दिल्‍ली लोकसभा सीट में आती है. नजफगढ़ विधानसभा का इलाका हरियाणा की सीमा से सटा हुआ है, लिहाजा हरियाणवी वोटर्स की भूमिका काफी निर्णायक रहती है. 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में इस सीट पर आम आदमी पार्टी (AAP) के कैलाश गहलोत ने जीत दर्ज की थी. गहलोत ने इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) प्रत्याशी भरत सिंह को हराया था. कैलाश गहलोत मौजूदा केजरीवाल सरकार में मंत्री भी हैं. इस विधानसभा क्षेत्र में ग्रामीण मतदाताओं की संख्या अच्छी-खासी है. इस सीट पर 25 प्रतिशत जाट, 15 प्रतिशत ब्राह्माण और अनुसूचित जाति वर्ग के 15 प्रतिशत वोटर्स हैं. इस विधानसभा सीट पर पहली बार 1993 में चुनाव हुए थे. उस चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी सूरज प्रसाद पालीवाल ने जीत हासिल किया था.

दिल्ली सरकार में मंत्री कैलाश गहलोत एक बार फिर मैदान में

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में आम आदमी पार्टी ने एक बार से नजफगढ़ सीट से मौजूदा विधायक कैलाश गहलोत को चुनावी मैदान में उतारा है. वहीं बीजेपी ने अजीत सिंह खड़खड़ी को मौका दिया है. खड़खड़ी इस सीट से पहले भी चुनाव लड़ चुके हैं. कंग्रेस ने साहिब सिंह यादव पर दांव खेला है. पिछले पांच विधानसभा चुनावों में नजफगढ़ सीट पर तीन बार निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत का परचम लहराया है. इस सीट पर सिर्फ एक बार ही कांग्रेस के कंवल सिंह जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं. इसके बाद यहां के विधायक इनेलो के भरत सिंह बने. 2013 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के अजीत सिंह खड़खड़ी ने इनेलो के विधायक भरत सिंह को हराया था.

Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, BJP, AAP, Congress, moti nagar constituency, kailash gehlot, kishan pehlwan, bharat singh, gangwar, inld, haryana border, आम आदमी पार्टी, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, नजफगढ़ विधानसभा, नजफगढ़ निर्वाचन क्षेत्र, अरविंद केजरीवाल, कैलाश गहलोत,किशन पहलवान, भरत सिंह Delhi Assembly Election 2020 Chaupal The strength of the Bahubalis in Najafgarh seat can be seen this time aap bjp and congress nodrss
आम आदमी पार्टी ने एक बार से नजफगढ़ सीट से मौजूदा विधायक कैलाश गहलोत को चुनावी मैदान में उतारा है.


भरत सिंह और उनके भाई कृष्ण पहलवान की इस इलाके में तूती बोलती थी. यह इलाका गैंगवार के लिए भी जाना जाता है. प्रत्याशी की जीत-हार का फैसला इनके ही हाथों तय होता है. नजफगढ़ इलाके में लोग जाम की समस्या से परेशान रहते हैं. फिरनी रोड पर जाम की समस्या विकराल रूप ले चुकी है. मेट्रो के गांव तक न आने से यह समस्या अब भी बरकरार है. नजफगढ़ विधानसभा में गोपाल नगर, धर्मपुरा, प्रेम नगर, नया बाजार, रोशनपुरा, दिचाऊं कला, झड़ौदा, खैरा, ढांसा, जैसे इलाके आते हैं. इलाके के लोगों का कहना है कि अगर जरा सी भी बारिश होती है तो सड़कों का बुरा हाल हो जाता है. यहां की खुदी पड़ी सड़कों पर अब लोगों का चलना मुश्किल हो गया है.

जाति और क्षेत्रीयता के समीकरण में उलझी है यह सीट

नजफगढ़ विधानसभा के लोगों की रोजमर्रा की परेशानियां जाति और क्षेत्रीयता के समीकरण में उलझ कर रह गई है. लोग सफाई, सड़क, सीवरेज, ट्रैफिक जाम, प्रदूषण और परिवहन जैसी समस्याओं से परेशान हैं. प्रदीप कुमार कहते हैं, देखिए यहां पर समस्याों का अंबार है, लेकिन न जनता और नेता उस पर ध्यान देते हैं. ग्रामीण क्षेत्र में पानी की समस्या अभी भी बरकरार है. किसी भी राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों के प्रचार अभियानों में इन मुद्दों को तरजीह नहीं मिल रही है. इस विधानसभा में धनबल और बाहुबल का बोलबाला हमेशा से ही रहता है. सड़क पर आपको पैदल चलने में परेशानी होती है. इतनी ट्रैफिक है कि सड़क के किनारे रहे लोगों को दम घुटने लगता है.'
Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, BJP, AAP, Congress, moti nagar constituency, kailash gehlot, kishan pehlwan, bharat singh, gangwar, inld, haryana border, आम आदमी पार्टी, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, नजफगढ़ विधानसभा, नजफगढ़ निर्वाचन क्षेत्र, अरविंद केजरीवाल, कैलाश गहलोत,किशन पहलवान, भरत सिंह Delhi Assembly Election 2020 Chaupal The strength of the Bahubalis in Najafgarh seat can be seen this time aap bjp and congress nodrss
लोग सफाई, सड़क, सीवरेज, ट्रैफिक जाम, प्रदूषण और परिवहन जैसी समस्याओं से परेशान हैं.


पेशे से शिक्षक प्रमोद शर्मा न्यूज 18 हिंदी के साथ बातचीत में कहते हैं, 'मोदी सरकार ने कई महत्वपूर्ण कार्य किए हैं. एनआरसी और सीएए पर हमलोग मोदी जी के साथ हैं. राष्ट्रीय मुद्दों पर तो मोदी जी के नाम पर ही वोट पड़ेगा, लेकिन यह चुनाव विधानसभा का है और स्थानीय मुद्दों के हिसाब से हमलोग वोट देंगे. दिल्ली सरकार के पांच साल के कार्यकाल को ध्यान में रख कर वोट डालेंगे.'

ये भी पढ़ें:

चौपाल: SC के लिए आरक्षित करोलबाग विधानसभा सीट पर सीलिंग का मुद्दा कितना असर डालेगा?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 10:11 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर