लाइव टीवी

चौपाल: सीमापुरी सीट पर त्रिकोणीय मुकाबले में AAP की डगर क्यों आसान नहीं?
Delhi-Ncr News in Hindi

Pankaj Kumar | News18Hindi
Updated: January 27, 2020, 4:39 PM IST
चौपाल: सीमापुरी सीट पर त्रिकोणीय मुकाबले में AAP की डगर क्यों आसान नहीं?
साल 2015 में आप के राजेन्द्र पाल गौतम ने बीजेपी के करमवीर को हराया था

आम आदमी पार्टी (AAP) ने सीमापुरी सीट (Seemapuri Seat) 2013 में जीती थी. आम आदमी पार्टी ने आप कार्यकर्ता संतोष कोली को टिकट दिया था, लेकिन एक हादसे में कोली की मौत हो गई. कोली के मौत के बाद पार्टी ने उनके भाई धर्मेंद्र कोली को टिकट दिया. धर्मेंद्र इस चुनाव में लगभग 12,000 मतों के अंतर से जीतने में कामयाब रहे थे, हालांकि 2015 में आप ने धर्मेंद्र कोली की जगह राजेंद्र पाल गौतम को प्रत्याशी बनाया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2020, 4:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 (Delhi Assembly Election 2020) में सीमापुरी विधानसभा सीट (Seemapuri Assembly Seat) शाहदरा जिले में पड़ने वाला एक महत्वपूर्ण विधानसभा सीट है. पिछले दो दफे से इस सीट से आम आदमी पार्टी (AAP) चुनाव जीतती आ रही है. इस सीट पर आम आदमी पार्टी ने साल 2013 और साल 2015 में जीत दर्ज कर सबको हैरान कर दिया था. वहीं साल 2008 में यह सीट कांग्रेस (Congress) के विधायक वीर सिंह धींगान के खाते में गई थी. लेकिन, 2020 के मौजूदा विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने यह सीट अपनी सहयोगी दल लोक जनशक्ति पार्टी के खाते में डाल दिया है. इसलिए इस साल 8 फरवरी को होने वाले मतदान में बाजी कौन मारेगा इस पर सबकी नजरें होंगी. साल 2015 में आप के राजेन्द्र पाल गौतम ने बीजेपी के करमवीर को हराया था, लेकिन इस बार बीजेपी के सहयोगी दल एलजेपी से संतलाल मैदान में उतारा है. वहीं कांग्रेस ने इलाके के पुराने दिग्गज वीर सिंह धींगान को एक बार फिर से टिकट दिया है.

बता दें कि आम आदमी पार्टी ने यह सीट 2013 में जीती थी. आम आदमी पार्टी ने आप कार्यकर्ता संतोष कोली को टिकट दिया था, लेकिन एक हादसे में कोली की मौत हो गई. कोली के मौत के बाद पार्टी ने उनके भाई धर्मेंद्र कोली को टिकट दिया. धर्मेंद्र इस चुनाव में लगभग 12,000 मतों के अंतर से जीतने में कामयाब रहे थे, हालांकि 2015 में धर्मेंद्र कोली की जगह राजेंद्र पाल गौतम को प्रत्याशी बनाया गया. आम आदमी पार्टी के इस फैसले की उस समय काफी आलोचना हुई थी.

Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, rajpath, BJP, AAP, Congress,Seemapuri constituency, seemapuri ASSEMBLY SEAT, rajendra pal gautam, santosh koli, veer singh dhingan, ljp, amit shah, jp nadda, aam aadmi party, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, गोकलपुरी विधानसभा क्षेत्र, गोकलपुरी, निर्वाचन क्षेत्र, गोकलपुरी विधानसभा, चौपाल, गोकुलपुर, बिजली, सड़क, पानी, मोहल्ला क्लिनिक delhi elections, aam aadmi party, bjp, congress,delhi elections 2020, delhi assembly elections 2020, delhi assembly elections, Delhi Assembly Election 2020 Chaupal Why is the AAP dagger not easy in the triangular contest on the Seemapuri seat nodrss
आम आदमी पार्टी ने यह सीट 2013 में जीती थी.


AAP के लिए सीट बचाना गंभीर चुनौती

इलाके में कांग्रेसी प्रत्याशी वीर सिंह धींगान का भी अच्छा-खासा दबदबा है. वीर सिंह धींगन साल 1998, 2003 और 2008 में कांग्रेस पार्टी से लगातार चुनाव जीत चुके हैं. वीर सिंह धींगन की छवि जनता से लगातार जुड़े रहने की है. इलाके में चल रहे एक कुष्ठ आश्रम को लेकर भी उनकी सराहना होती है. वीर सिंह धींगान की लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि दलित मतदाताओं से लेकर मुस्लिम मतदाताओं के बीच भी उनकी गहरी पैठ है. वहीं आप के राजेन्द्र पाल गौतम को यहां पर एंटी इनकंबेंसी का नुकसान उठाना पड़ सकता है. हालांकि, अरविंद केजरीवाल की लोक्रप्रियता उन्हें फिर से विधानसभा की सदस्यता दिला सकती है.

इलाके में समस्याएं अनेक हैं

सीमापुरी इलाके में कपड़े, घरेलू सामान के साथ-साथ एक्‍सेसरीज की कई छोटी-बड़ी दुकानें हैं. वहीं सुंदर नगरी में कार के स्पेयर पार्ट्स की दुकाने हैं. यहां पर पुराने कारों के पुराने पार्ट्स बड़ी आसानी से मिल जाते हैं. सीमापुरी के लोग बुनियादी समस्याएं जैसे सड़क, पानी की कमी से परेशान हैं. यहां पर बिजली के अलावा कानून-व्यवस्था भी अहम मसला है.
Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, rajpath, BJP, AAP, Congress,Seemapuri constituency, seemapuri ASSEMBLY SEAT, rajendra pal gautam, santosh koli, veer singh dhingan, ljp, amit shah, jp nadda, aam aadmi party, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, गोकलपुरी विधानसभा क्षेत्र, गोकलपुरी, निर्वाचन क्षेत्र, गोकलपुरी विधानसभा, चौपाल, गोकुलपुर, बिजली, सड़क, पानी, मोहल्ला क्लिनिक delhi elections, aam aadmi party, bjp, congress,delhi elections 2020, delhi assembly elections 2020, delhi assembly elections, Delhi Assembly Election 2020 Chaupal Why is the AAP dagger not easy in the triangular contest on the Seemapuri seat nodrss
सीमापुरी इलाके में कपड़े, घरेलू सामान के साथ-साथ एक्‍सेसरीज की कई छोटी-बड़ी दुकानें हैं.


आम जनता की राय

रामअवतार न्यूज 18 हिंदी के साथ बातचीत में कहते हैं, 'पिछले 35 सालों से इसी इलाके में रहते हैं. इलाके में बुनियादी समस्या की भरमान है. गंदगी, और ट्रैफिक जाम से लोग परेशान रहते हैं. मैं केजरीवाल को वोट नहीं दूंगा. अगर बीजेपी कोई कैंडिडेट नहीं लाएगी तो वो नोटा का बटन दबाएंगे. NRC और CAA के साथ हैं और केंद्र सरकार को सपोर्ट करते हैं.'

पवनपाल कहते हैं, 'देखिए मैं स्थानीय मुद्दे पर नहीं बल्कि NRC और CAA पर वोट करूंगा.' वहीं सुंदरनगरी के नन्हे कहते हैं, '20 सालों से यहां रह रहे हैं और वो अपना वोट केजरीवाल सरकार के अच्छे कामों को लेकर करेंगे. मैं आम आदमी पार्टी का सपोर्ट तो करते हैं, लेकिन विधायक जी के रवैये से खफा हैं.'

ये भी पढ़ें: 

चौपाल: द्वारका सीट पर प्रत्याशियों के चेहरों की हो गई अदला-बदली, शास्त्री जी के पोते की प्रतिष्ठा दांव पर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 4:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर