लाइव टीवी

दूसरी बार प्रतिबंध लगने के बाद परवेश वर्मा का ट्वीट- 10 दिन से मिल रहीं जान से मारने की धमकियां

News18Hindi
Updated: February 5, 2020, 8:08 PM IST
दूसरी बार प्रतिबंध लगने के बाद परवेश वर्मा का ट्वीट- 10 दिन से मिल रहीं जान से मारने की धमकियां
बीजेपी के सांसद प्रवेश वर्मा (फाइल फोटो)

चुनाव आयोग ने बीजेपी सांसद परवेश वर्मा पर चुनाव प्रचार के लिये दूसरी बार प्रतिबंध लगा दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2020, 8:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चुनाव आयोग ने बीजेपी सांसद परवेश वर्मा पर चुनाव प्रचार के लिये दूसरी बार प्रतिबंध लगा दिया है. बता दें कि अरविंद केजरीवाल को 'आतंकवादी' बताने वाले बयान के मामले में  24 घंटे के लिए चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध लगाया गया है. इस प्रतिबंध के बाद परवेश शर्मा ने ट्वीट किया कि उन्हें जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं. परवेश ने लिखा- "पिछले 10 दिनों में मुझे 10 बार जान से मारने कि और अलग अलग तरह कि धमकियाँ मिल चुकी है. अपने ही देश में देशहित और दिल्ली के लोगो के हित की बात करना क्या गुनाह है?" परवेश ने इस ट्वीट में दिल्ली पुलिस और पीआईबी होम अफेयर्स को भी टैग किया है.

परवेश शर्मा का ट्वीट


इससे पहले हाल ही में पश्चिमी दिल्ली से बीजेपी के सांसद परवेश वर्मा ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में शाहीन बाग में जारी धरना-प्रदर्शन पर भी विवादित बयान दिया था.  जिसपर election कमीशन ने उनपर प्रतिबन्ध लगाया था. परवेश वर्मा ने कहा था, 'कश्मीर में जो कश्मीरी पंडितों के साथ हुआ वो दिल्ली में भी हो सकता है. शाहीन बाग में लाखों लोग जुटते हैं, वो आपके घरों में घुस सकते हैं और आपकी बहन और बेटियों से बलात्कार (रेप) कर सकते हैं और उनकी हत्या कर सकते हैं. अब लोगों को निर्णय करना है.’

इससे पहले हाल ही में पश्चिमी दिल्ली से बीजेपी के सांसद परवेश वर्मा ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में शाहीन बाग में जारी धरना-प्रदर्शन पर भी विवादित बयान दिया था. परवेश वर्मा ने कहा था, 'कश्मीर में जो कश्मीरी पंडितों के साथ हुआ वो दिल्ली में भी हो सकता है. शाहीन बाग में लाखों लोग जुटते हैं, वो आपके घरों में घुस सकते हैं और आपकी बहन और बेटियों से बलात्कार (रेप) कर सकते हैं और उनकी हत्या कर सकते हैं. अब लोगों को निर्णय करना है.’

CAA के लिए कौन लोगों को भड़का रहा है?
परवेश वर्मा इतने पर ही नहीं रूके. उन्होंने यह भी कहा था कि इसकी जांच होनी चाहिए कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के लिए कौन लोगों को भड़का रहा है जबकि सरकार ने बार-बार आश्वासन दिया है कि संशोधित कानून के कारण किसी की भी नागरिकता नहीं जाएगी. वर्मा ने आरोप लगाया था कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों का समर्थन किया और अब दिल्ली के लोगों को निर्णय करना है कि आठ फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव में वो किसे वोट देना चाहते हैं.

(इनपुट- नीरज)

ये भी पढ़ें:
शाहजहांपुर यौन शोषण केस: चिन्मयानंद को इलाहाबाद HC से मिली जमानत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 6:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर