लाइव टीवी

Delhi Election 2020: दिल्ली में 24 घंटे खुलेंगे बाजार, भोजपुरी पर भी बात, जानें AAP के घोषणापत्र की प्रमुख बातें
Delhi-Ncr News in Hindi

News18India
Updated: February 4, 2020, 2:16 PM IST
Delhi Election 2020:  दिल्ली में 24 घंटे खुलेंगे बाजार, भोजपुरी पर भी बात, जानें AAP के घोषणापत्र की प्रमुख बातें
आम आदमी पार्टी ने चुनावी घोषणापत्र जारी किया.

आम आदमी पार्टी (AAP) ने दिल्ली चुनाव (Delhi Election 2020) के लिए अपना घोषणापत्र जारी (Election Manifesto) कर दिया है. इसमें कच्ची कॉलोनियों की रजिस्ट्री, महिला सुरक्षा, सफाईकर्मियों की समस्या को लेकर भी कई वादे किए गए हैं.

  • News18India
  • Last Updated: February 4, 2020, 2:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Election 2020) के पहले आम आदमी पार्टी (AAP) ने अपना चुनावी घोषणापत्र (Election Manifesto) जारी कर दिया है. सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को यह घोषणापत्र जारी किया. इस मौके पर सीएम केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने जहां घोषणापत्र को दिल्ली के भविष्य का विजन बताया. घोषणापत्र जारी करते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा कि पिछले 5 साल में AAP की सरकार ने कई क्षेत्रों में दिल्ली के लोगों को राहत दी है. अब दिल्ली को विकसित देश की राजधानी बनाना है. वहीं, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि आम लोगों के गरिमापूर्ण जीवन के लिए AAP संकल्पित है.

28 बिंदुओं में जारी अपने घोषणापत्र में AAP ने सामाजिक और राजनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण सभी मुद्दों तक पहुंचने का प्रयास किया है. घोषणापत्र में अर्थव्यवस्था में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने, घर के आसपास रोजगार के अवसर देने का वादा किया गया है, तो कच्ची कॉलोनियों की रजिस्ट्री, पुनर्वास और मालिकाना हक देने का भी भरोसा दिया गया है. यूपी-बिहार यानी पूर्वांचल के लोगों की आबादी को ध्यान में रखते हुए भोजपुरी भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल कराने की मांग का वादा है, तो ओबीसी प्रमाणपत्र के लिए सरल मापदंड कायम करने की बात भी कही गई है. इसके अलावा शिक्षा के क्षेत्र में देशभक्ति पाठ्यक्रम की शुरुआत, दिल्ली स्वराज विधेयक और केंद्र के पास अटके जनलोकपाल बिल को पास कराने का वादा भी है.

AAP के घोषणापत्र के प्रमुख बिंदु

दिल्ली के बारे में

- जन लोकपाल बिल जो पिछले 4 साल से लंबित है, उसे पास कराने की मांग करेंगे. दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के लिए बिल लाएंगे.

जनता के मुद्दे
- राशन की डोर स्टेप डिलीवरी, 10 लाख बुजुर्गों को तीर्थयात्रा, पुनर्वास कॉलोनियों के लिए मालिकाना हक, अनधिकृत कॉलोनियों का नियमितिकरण-रजिस्ट्री और रेहड़ी पटरी संचालकों को कानूनी संरक्षण दिलाने का वादा.


शिक्षा क्षेत्र में
- देशभक्ति पाठ्यक्रम, युवाओं के लिए स्पोकन इंग्लिश को बढ़ावा, भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग करेंगे.

इंफ्रास्ट्रक्चर
- दिल्ली में वर्ल्ड क्लास सड़कें बनाई जाएंगी, मेट्रो का नेटवर्क बढ़ाने का वादा और यमुना रिवर साइड विकास की दी गारंटी.

कर्मचारियों के लिए
- नए सफाइकर्मचारियों की नियुक्ति की जाएगी, साथ ही संविदा कर्मियों को नियमित करने का भी वादा. सफाई कर्मचारी की मृत्यु पर 1 करोड़ का मुआवजा देने का भी भरोसा.

व्यापार-कारोबार
- दिल्ली में भी 24 घंटे बाजार खुलेंगे, सीलिंग से सुरक्षा का वादा, बाजार और औद्योगिक क्षेत्रों का होगा विकास, सर्किल रेट को ठीक किया जाएगा, रेहड़ी पटरी संचालकों को कानूनी संरक्षण दिया जाएगा और पुराने वैट मामलों की एमनेस्टी स्कीम लाई जाएगी.

और भी वादे
- अर्थव्यवस्था में महिलाओं की भागीदारी बढ़ेगी, 84 सिख विरोधी नरसंहार पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए सरकार प्रयास करेगी, फसल नुकसान पर किसानों को 50 हज़ार प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मुआवजा मिलेगा और किसानों के हक में भूमि सुधार अधिनियम में संशोधन की मांग की जाएगी.

ये भी पढ़ें -

10 लाख बुजुर्गों को तीर्थयात्रा, स्कूल में देशभक्ति का पाठ- AAP ने मैनिफेस्टो में किए ये बड़े वादे

झुग्गी-झोपड़ियों में नाश्ता और भोजन-पानी के साथ पदयात्रा कर BJP को जीत दिलाएंगे 240 सांसद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 2:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर