लाइव टीवी

विजयवर्गीय का केजरीवाल पर तंज, कहा- अब हनुमान चालीसा का पाठ दिल्ली के सभी स्कूलों-मदरसों में हो
Indore News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 12, 2020, 11:39 AM IST
विजयवर्गीय का केजरीवाल पर तंज, कहा- अब हनुमान चालीसा का पाठ दिल्ली के सभी स्कूलों-मदरसों में हो
कैलाश विजयवर्गीय (फाइल फोटो)

कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijaywargiya) ने ट्वीट कर लिखा, 'अरविंद केजरीवाल जी को जीत की बधाई! निश्चित ही जो हनुमानजी की शरण में आता है उसे आशीर्वाद मिलता है. अब समय आ गया है कि हनुमान चालीसा का पाठ दिल्ली के सभी विद्यालयों, मदरसों सहित सभी शैक्षणिक संस्थानों में भी जरूरी हो. बजरंगबली की कृपा से अब 'दिल्लीवासी' बच्चे क्यों वंचित रहे?'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 12, 2020, 11:39 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) में आम आदमी पार्टी (AAP) को जबरदस्त कामयाबी मिली है. 70 में से 62 सीटें जीतकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) गदगद हैं. देश भर से उन्हें बधाई देने का तांता लगा हुआ है. लेकिन बीजेपी के नेता कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijaywargiya) ने जीत की बधाई देते हुए केजरीवाल पर तंज कसा है. बुधवार को विजयवर्गीय ने ट्वीट कर लिखा, 'अरविंद केजरीवाल जी को जीत की बधाई! निश्चित ही जो हनुमानजी की शरण में आता है उसे आशीर्वाद मिलता है. अब समय आ गया है कि हनुमान चालीसा का पाठ दिल्ली के सभी विद्यालयों, मदरसों सहित सभी शैक्षणिक संस्थानों में भी जरूरी हो. बजरंगबली की कृपा से अब 'दिल्लीवासी' बच्चे क्यों वंचित रहे?'

दरअसल मंगलवार को चुनाव नतीजों में आप की जीत पक्की होने पर सीएम केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों का आभार व्यक्त किया था. साथ ही कहा था कि आज मंगलवार है और हनुमान जी का दिन है. प्रभु ने अपनी कृपा बरसाई है. उन्होंने कहा कि हम चाहेंगे कि प्रभु (हनुमानजी) अगले पांच वर्ष तक हमें काम करने की शक्ति दें. ताकि हम दिल्ली को एक बेहतर और सुंदर शहर बना सकें.



इसके बाद केजरीवाल मंगलवार की शाम कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर भी गए थे. समझा जा रहा है कि बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने केजरीवाल के इसी बयान पर तंज कसते हुए ट्वीट किया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 11:32 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर