लाइव टीवी

दिल्ली चुनाव 2020: शाह और नड्डा आज करेंगे रैलियां, केजरीवाल का भी रोडशो
Delhi-Ncr News in Hindi

एएनआई
Updated: February 2, 2020, 9:44 AM IST
दिल्ली चुनाव 2020: शाह और नड्डा आज करेंगे रैलियां, केजरीवाल का भी रोडशो
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) भी दो सार्वजनिक सभाओं को संबोधित करेंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) की तारीख बेहद नजदीक है, जिसके चलते राजनीतिक दलों (Political Parties) ने प्रचार अभियान भी तेज कर दिया है. केंद्रीय मंत्री अमित शाह (Amit Shah), राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) और स्मृति ईरानी (Smriti Irani) रविवार को कुछ रैलियों को संबोधित करेंगे. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शहर में रैलियां करेंगे. साथ ही, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी दो सार्वजनिक सभाओं को संबोधित करेंगे. दूसरी ओर, दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) किरारी, मुंडका, विश्वास नगर, लक्ष्मी नगर और रिठाला में रोड शो करेंगे.

news18
सीएम अरविंद केजरीवाल रविवार को करेंगे रोडशो (फाइल फोटो)


केजरीवाल पर बोले राजनाथ
बता दें, देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को दिल्ली में चुनावी रैली के दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था, 'लोगों ने सोच लिया है कि दिल्ली में बीजेपी की सरकार बनेगी, क्योंकि आप लोगों ने 5 वर्षों तक केजरीवाल के नेतृत्व में सरकार को देख लिया है. उन्होंने कहा कि आपको याद दिलाना चाहता हूं कि जब केजरीवाल ने 2015 में राजनीतिक पार्टी बनाई तो अन्ना हजारे ने बार-बार कहा था तुम राजनीतिक पार्टी मत बनाओ.'

अन्ना ने किया था पार्टी बनाने से मना
राजनाथ सिंह ने कहा, 'अन्ना हजारे ने कहा था कि हमने भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन चलाया, हम काम कर रहे हैं तो कुछ समय तक सक्रिय राजनीति में हिस्सा नहीं लेंगे, लेकिन अन्ना हजारे के मना करने के बावजूद भी केजरीवाल ने राजनीतिक पार्टी बनाई और फिर सरकार भी बन गई, क्योंकि उन्होंने अन्ना हजारे का दामन पकड़ सार्वजनिक जीवन में प्रवेश किया था. लोगों का भरोसा था कि अन्ना हजारे के साथ काम करने वाला, आंदोलन करने वाला व्यक्ति हमारी राजनीति में आए, इसलिए लोगों ने उन्हें हथेली पर उठा लिया और 70 में से 67 सीटें दीं.'

मोदी के कार्यक्रमों को नहीं किया केजरीवाल ने लागूउन्होंने आगे कहा, 'सबसे बड़ी विडंबना की बात यह है कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की सरकार ने जो कार्यक्रम देश भर में चलाए, उसे अन्य राज्यों में लागू किया गया, लेकिन केजरीवाल सरकार ने उसे लागू नहीं किया. अगर केंद्र की योजना को दिल्ली में लागू करेंगे तो कहीं लोगों के बीच बीजेपी का प्रचार ना हो जाए, इसलिए उन्होंने लागू नहीं किया. उन्होंने अपने लाभ के लिए जनता को नुकसान पहुंचाया.'

बता दें, राजधानी दिल्ली में 8 फरवरी को 70 विधानसभा सीटों के लिये चुनाव होना है. और मतगणना 11 फरवरी को होगी.

ये भी पढ़ें: AAP ने उतारे सबसे ज्यादा क्रिमिनल रिकॉर्ड वाले प्रत्याशी, दूसरे नंबर पर BJP- रिपोर्ट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 2, 2020, 9:44 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर