चौपाल: चांदनी चौक इलाके में अभी और होने हैं विकास के काम, सीलिंग को लेकर भी लोगों में है नाराजगी
Delhi-Ncr News in Hindi

चौपाल: चांदनी चौक इलाके में अभी और होने हैं विकास के काम, सीलिंग को लेकर भी लोगों में है नाराजगी
1990 के बाद से अब तक चांदनी चौक लोकसभा सीट पर 5 बार जीत हासिल करने वाली बीजेपी चांदनी चौक विधानसभा सीट पर महज एक बार ही जीत हासिल कर सकी है.

चांदनी चौक विधानसभा क्षेत्र (Chandni Chowk Assembly constituency) में ही लाल किला (Red Fort) और जामा मजिस्‍द (Jama Masjid) आती है. ये दोनों ऐतिहासिक इमारतें मुगल शासनकाल के दौरान बनवाई गईं. वर्तमान में यह इलाका देश के सबसे बड़े थोक बाजारों में गिना जाता है. दिल्‍ली का सबसे पुराना और चर्चित बाजार मीना बाजार इसी क्षेत्र आता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2020, 3:58 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. दिल्ली के सबसे पुराने इलाकों में से एक चांदनी चौक विधानसभा क्षेत्र (Chandni Chowk Assembly constituency) कई मायनों में खास है. चांदनी चौक में कई तरह के पकवान मिलते हैं. यहां के कई दुकानें 100 साल से भी ज्यादा पुरानी हैं. जाहिर है कि यहां पर जब लोग जुटते हैं तो राजनीतिक पकवान भी पकते हैं. इन दुकानों पर जब राजनीतिक चौपाल लगता है तो राजनीति की बातें अचानक ही निकलने लगती हैं. वर्तमान में यहां आम आदमी पार्टी की पूर्व नेता अलका लांबा (Alka Lamba) विधायक हैं. आलका लांबा ने हाल ही में पार्टी से इस्तीफ दे कर कांग्रेस पार्टी ज्वाइन कर लिया है. वहीं पिछले चुनाव में कांग्रेस पार्टी के टिकट पर लड़े पूर्व विधायक प्रहलाद सिंह साहनी (Parlad Singh Sawhney) को आम आदमी पार्टी (AAP) ने यहां से पार्टी का उम्मीदवार बनाया है. कभी यह सीट कांग्रेस का गढ़ हुआ करता था. 1990 के बाद से अब तक चांदनी चौक लोकसभा सीट पर 5 बार जीत हासिल करने वाली बीजेपी चांदनी चौक विधानसभा सीट पर महज एक बार ही जीत हासिल कर सकी है.

चांदनी चौक इलाके में ही लाल किला और जामा मजिस्‍द है

बता दें कि चांदनी चौक विधानसभा क्षेत्र में ही लाल किला (Red Fort )और जामा मजिस्‍द (Jama Masjid) आती है. ये दोनों ऐतिहासिक इमारतें मुगल शासनकाल के दौरान बनवाई गईं. वर्तमान में यह इलाका देश के सबसे बड़े थोक बाजारों में गिना जाता है. दिल्‍ली का सबसे पुराना और चर्चित बाजार मीना बाजार इसी क्षेत्र आता है. अगर आप साड़ी खरीदना चाहते हैं तो नई सड़क आपकी लिस्ट में सबसे ऊपर आती है. खूबसूरत वैराइटी की एक से बढ़कर एक साड़ी आपको यहां मिल जाएंगी. चांदनी चौक की नई सड़क मार्केट भी पुस्तकों के लिए काफी मशहूर है.



Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, BJP, AAP, Congress, Chandni chowk constituency, alka lamba, jama masjid, lal quila, red fort, jamaat e islami, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, ओखला निर्वाचन क्षेत्र, आलका लंबा, प्रहलाद साहनी, जामा मस्जिद, लाल किला, मुगल शासक, arvind kejriwal, अरविंद केजरीवाल, मुस्लिमों का वर्चस्व,
चांदनी चौक विधानसभा क्षेत्र में ही लाल किला और जामा मजिस्‍द आती है.




इस इलाके की बड़ी समस्याओं में एक ट्रैफिक जाम की समस्या है, जिसके चलते लोगों को आने-जाने में समस्या आती है. लेकिन, पिछले कुछ सालों से यहां पर पार्किंग स्थलों पर काम किया जा रहा है. केंद्र सरकार की योजनाओं के तहत पूरी दिल्ली में 46 हजार करोड़ की योजनाओं पर काम हो रहा है, जिनमें ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर की योजना भी है. यह कॉरिडोर बनने से चांदनी चौक को भी बहुत ज्यादा फायदा होगा.

स्थानीय व्यापारी रोहित शर्मा कहते हैं, 'चांदनी चौक में कई थोक बाजार हैं और व्यापारियों की समस्याओं को दूर करने के लिए यहां पर किसी भी तरह का प्रयास नहीं किया गया है. गलियों में बिजली की तारों का जाल अभी भी फैला हुआ है. कालोनियों में जाने पर सीवर की समस्या गंभीर है. केंद्र और दिल्ली की सरकारें चांदनी चौक की समस्याओं को दूर करने के लिए कुछ नहीं किया.'

Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, BJP, AAP, Congress, Chandni chowk constituency, alka lamba, jama masjid, lal quila, red fort, jamaat e islami, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, ओखला निर्वाचन क्षेत्र, आलका लंबा, प्रहलाद साहनी, जामा मस्जिद, लाल किला, मुगल शासक, arvind kejriwal, अरविंद केजरीवाल, मुस्लिमों का वर्चस्व,
कालोनियों में जाने पर सीवर की समस्या गंभीर है.


कालोनियों में जाने पर सीवर की समस्या गंभीर है

कपड़ा कारोबारी जावेद कहते हैं, 'पिछले कुछ महीनों से सीलिंग की दहशत से लोग परेशान हैं. सीलिंग के चलते लोग बेरोजगार हो रहे हैं. लोगों का कारोबार चौपट हो रहा है. किसी भी पार्टी के लोग सीलिंग को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाए. हालांकि चांदनी चौक इलाके में विकास के कई काम किए जा रहे हैं, लेकिन जमीनी स्तर पर अभी भी काफी कुछ करने को है.'

चांदनी चौक के जामा मस्जिद के सामने कपड़ा का दुकान चलाने वाले तजीमुद्दीन बताते हैं, 'आधार कार्ड से बैंक खाते जोड़ने में बहुत दिक्कत आ रही थीं, जिसकी वजह से बुजुर्गों और महिलाओं की पेंशन वापस चली जाती थी. अब काफी हद तक इसको सही कर लिया गया है. पहले बोरिंग के पानी की व्यवस्था थी, अब सप्लाई के पानी की लाइन भी डलवा दिया. कई फ्लैटों में कोटा स्टोन एवं टाइल लगाने का काम किया. जाम की समस्या बहुत अधिक आ रही थी उसको दूर किया जा रहा है. चांदनी चौक में बिजली की खुली ताड़ें थीं उसको अंडरग्राउंड करवाने का काम लगभग पूरा कर लिया गया है. सीढियों में टाइल्स कोटा स्टोन लगाकर और बिजली की तारों को व्यवस्थित करके सभी बिल्डिंग्स को सुन्दर बनाने के काम किया जा रहा है. मार्केट की तरफ रोड पर डीवाईडर लगाने का काम पूरा किया गया. पार्कों में जिम लगाए गए. कम्युनिटी सेंटर सहित क्षेत्र के कई जगहों पर SC/ST/OBC और Minority समाज के लोगों के लिए लोन कैंप लगवाया गया. हाई मास्ट LED लाइट लगवाई.'

Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, BJP, AAP, Congress, Chandni chowk constituency, alka lamba, jama masjid, lal quila, red fort, jamaat e islami, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, ओखला निर्वाचन क्षेत्र, आलका लंबा, प्रहलाद साहनी, जामा मस्जिद, लाल किला, मुगल शासक, arvind kejriwal, अरविंद केजरीवाल, मुस्लिमों का वर्चस्व, delhi assemblye election 2020 will the bjp won chandni chowk seat lok sabha seat win 5 times congress alka lamba aap parlad singh sawhney nodrss
पहले बोरिंग के पानी की व्यवस्था थी, अब सप्लाई के पानी की लाइन भी डलवा दिया.


2015 में AAP की अलका लांबा विजयी हुई थीं

गौरतलब है कि 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (AAP) की अलका लांबा विजयी रही थीं. आलका लांबा ने बीजेपी प्रत्याशी सुमन कुमार गुप्ता को 18,287 मतों के अंतर से हराया था. पिछली बार कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले प्रहलाद सिंह साहनी तीसरे नंबर पर रहे थे. साहनी पिछले दिनों ही आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए हैं और पार्टी ने इस बार साहनी को चांदनी चौक से उम्मीदवार बनाया है.

ये भी पढ़ें: 

चौपाल: सदर बाजार में जाम और ट्रैफिक से लोग रहते हैं परेशान, क्या सुधरेंगे हालात
First published: January 15, 2020, 3:39 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading